ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशजमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सपा सांसद आजम खां

जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सपा सांसद आजम खां

करीब दो साल से सीतापुर जेल में बंद रामपुर से सपा सांसद आजम खां अंतिरम बेल के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। आजम ने यूपी चुनाव प्रचार के लिए सुप्रीम कोर्ट में जमानत अर्जी दाखिल कर बेल मांगी है। पत्नी...

जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सपा सांसद आजम खां
Dinesh Rathourएएनआई,लखनऊSat, 22 Jan 2022 07:55 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

करीब दो साल से सीतापुर जेल में बंद रामपुर से सपा सांसद आजम खां अंतिरम बेल के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। आजम ने यूपी चुनाव प्रचार के लिए सुप्रीम कोर्ट में जमानत अर्जी दाखिल कर बेल मांगी है। पत्नी शहर विधायक डॉ. तजीन फात्मा और बेटा अब्दुल्ला आजम जमानत पर पहले से बाहर हैं। बेटा अब्दुल्ला को अभी हाल ही में जमानत मिली थी। पत्नी पहले से जमानत पर जेल से बाहर हैं। आपको बता दें कि आजम खां अपने बेटे अब्दुल्ला और पत्नी पर कई मामलों में केस दर्ज हैं। 

16 जनवरी को जेल से बाहर आया था आजम का बेटा अब्दुल्ला 

कई मामलों में पिछले 23 महीने से सीतापुर जेल में बंद चल चल रहा आजम खां का बेटा 16 जनवरी को जेल से बाहर आया था। जेल से निकलते ही रामपुर पहुंचे सपा सांसद आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम का सपाइयों ने स्वागत किया था। इस दौरान उन्होंने कहा कि जेल में उनके पिता आजम खां की जान को खतरा है। यदि उनके साथ कुछ हुआ तो सरकार और जेल प्रशासन जिम्मेदार होगा। करीब 22 माह बाद सीतापुर की जेल में रहने के बाद सपा सांसद आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम खां रविवार तड़के रामपुर पहुंचे थे। अब्दुल्ला के साथ उनके परिवार के सदस्य भी थे। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बात करते हुए प्रदेश सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि जितना ज़ुल्म हो सकता था, उतना हुआ। आज भी मेरे वालिद (आज़म खान) की जान को खतरा है। उनको कुछ हुआ तो सरकार और जेल प्रशासन ज़िम्मेदार होगा।

अब्दुल्ला ने आजम के इलाज में सरकार पर देरी का लगाया था आरोप

जेल से रिहाई के बाद अब्दुल्ला ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि प्रदेश सरकार ने उनके पिता के इलाज में नौ दिन देरी कराई है। कहा था कि ये चुनाव अवाम बनाम सरकार होगा। कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत खराब है। वह 8 बाई 10 की कोठरी जिसमें 2 फिट का टॉयलेट था। 8 बाई 8 की तनहा बैरक में रहते थे। आज भी मेरे वालिद (आज़म खान) बेगुनाह बंद हैं। कहा कि कोविड प्रोटोकॉल के नाम पर उनका शोषण हो रहा है। अब्दुल्ला ने कहा कि इस मंडल में मौजूदा अधिकारियों के होते निष्पक्ष चुनाव नहीं हो सकता। चुनाव आयोग को संज्ञान लेना चाहिए। कहा कि बीजेपी ने उनके साथ जो सुलूक किया है वो दुनिया जानती है।

19 जनवरी को आजम की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई थी पेशी

सपा सांसद आजम खां के खिलाफ दर्ज डुंगरपुर प्रकरण में सुनवाई हुई थी। इस दौरान सपा सांसद की वीडियोकांफ्रेसिंग के जरिए पेशी हुई थी। आजम खां के खिलाफ गंज थानाक्षेत्र में बनी डूंगरपुर बस्ती में रहने वाले लोगों ने मुकदमे दर्ज कराए थे, जिसमें उनका आरोप था कि सपा सांसद आजम खां के इशारे पर उनके साथ मारपीट, लूटपाट की गई। साथ ही मकानों पर बुलडोजर चलवाए गए। आजम खां की इन मामलों में जमानत मंजूर हो चुकी है। बुधवार को एमपी-एमएलए कोर्ट में सुनवाई हुई, जिसमें आजम खां वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सीतापुर जेल से जुड़े। अब कोर्ट इस मामले की अगली सुनवाई नौ फरवरी को करेगी।

epaper