ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशराज्यसभा चुनाव के लिए अपने विधायकों के साथ सपा ने बनाई रणनीति, पल्लवी पटेल समेत चार MLA गैरहाजिर

राज्यसभा चुनाव के लिए अपने विधायकों के साथ सपा ने बनाई रणनीति, पल्लवी पटेल समेत चार MLA गैरहाजिर

यूपी में राज्यसभा चुनाव बेहद रोमांचक हो चुका है। एक-एक वोट कीमती हो गया है। समाजवादी पार्टी को कांग्रेस का साथ मिलने के बाद तीसरे प्रत्याशी को जिताने के लिए अब केवल तीन वोटों की जरूरत है।

राज्यसभा चुनाव के लिए अपने विधायकों के साथ सपा ने बनाई रणनीति, पल्लवी पटेल समेत चार MLA गैरहाजिर
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,लखनऊSat, 24 Feb 2024 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

समाजवादी पार्टी ने राज्यसभा चुनाव के लिए शनिवार को अपने विधायकों के साथ रणनीति बनाई। विधायकों को वोट देने का तरीका समझाया। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की उपस्थिति में पार्टी के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल ने वरीयता के आधार पर मतदान की बारीकियां समझाईं। अब रविवार को पार्टी अपने विधायकों को डमी मतपत्र के जरिए मतदान का प्रशिक्षण देगी। बैठक में पल्ल्वी पटेल समेत चार विधायक शामिल नहीं हुए हैं। 

राज्यसभा की 10 सीटों के लिए 27 फरवरी को मतदान होगा। इसके लिए कुल 11 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें भाजपा के आठ व सपा के तीन हैं। एक प्रत्याशी को जिताने के लिए 37 विधायकों के मतों की जरूरत है। सपा को अपने तीनों प्रत्याशी जिताने के लिए 111 विधायकों के मतों की जरूरत है। उसके पास 108 विधायक हैं, इनमें से दो विधायक जेल में हैं।

कांग्रेस के दो विधायकों के मत मिलने के बावजूद उसे तीन और विधायकों के मतों की जरूरत है। वहीं, भाजपा को भी नौ विधायकों की जरूरत है। ऐसे में इस चुनाव में एक-एक वोट कीमती है इसलिए सपा ने अपने विधायकों को एकजुट रखने के साथ ही उन्हें मतदान का तरीका भी समझा रही है।

सपा अध्यक्ष द्वारा बुलाई गई बैठक में दो महिला सहित चार विधायक शनिवार को नहीं आए। हालांकि, इन विधायकों ने सपा मुखिया को पहले ही पत्र लिखकर शनिवार को न आकर रविवार को प्रशिक्षण में आने की बात कही थी। बैठक में अखिलेश ने कहा कि सभी को एकजुट होकर मतदान करना है उनके तीनों प्रत्याशी चुनाव जीतेंगे।

प्रो. रामगोपाल ने बताया कि मतपत्र में विधायक को उसके आवंटित प्रत्याशी के स¸मक्ष केवल एक खड़ी लाइन खींचनी है। किसी भी दूसरे खाने में वह छूनी नहीं चाहिए। मतपत्र में अपने पेन से वोट नहीं देंगे, आयोग के पेन का ही इस्तेमाल करना होगा। सभी विधायकों को अपना मत पोलिंग एजेंट को दिखाकर डालना होगा। अब रविवार को पार्टी सभी विधायकों को डमी मतपत्र के जरिए वोट देने का सलीका भी सिखाएगी। मतदान का प्रशिक्षण कराने के लिए पार्टी ने डमी मतपत्र तैयार कराए हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें