ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशअसलहों के शौक ने सपा नेता को पहुंचाया जेल, फर्जी पते पर बनवाया था शस्त्रों का लाइसेंस

असलहों के शौक ने सपा नेता को पहुंचाया जेल, फर्जी पते पर बनवाया था शस्त्रों का लाइसेंस

सपा नेता को फर्जी पते पर शस्त्र के लाइसेंस जारी कराना और फिर उन्हें नए पते पर ट्रांसफर करना महंगा पड़ गया है। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

असलहों के शौक ने सपा नेता को पहुंचाया जेल, फर्जी पते पर बनवाया था शस्त्रों का लाइसेंस
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,पीलीभीतSun, 12 May 2024 07:51 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी में सपा नेता को फर्जी पते पर शस्त्रों के लाइसेंस जारी कराना और फिर उन्हें नए पते पर ट्रांसफर कराना महंगा पड़ गया। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। दरअसल गजरौला पुलिस ने सपा के पूर्व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सतनाम सिंह सत्ता को फर्जी पते पर दो शस्त्र लाइसेंस जारी करा लेने और फिर उन्हें अपने नए पते के आधार पर ट्रासंफर कराने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज की थी। अब एक्शन लेते हुए उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

मूल रूप से थाना गजरौला क्षेत्र के पौरखास गांव के रहने वाले सतनाम सिंह सत्ता शहर कोतवाली क्षेत्र के एकता नगर कालोनी में रहते हैं। थाना गजरौला में तैनात एसएसआई मोहम्मद आरिफ ने थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया कि गोपनीय सूचना के आधार पर की गई जांच में पता चला कि आरोपी सतनाम सिंह ने साल 2007 में शाहजहांपुर के थाना सेहरामऊ उत्तरी के प्रसादपुर गांव में अपना पता दिखाकर डबल बैरल बंदूक और रिवाल्वर के लाइसेंस जारी करा लिए थे। साल 2018 में सतनाम सिंह की ओर से नया पता एकता नगर कॉलोनी पीलीभीत बताकर प्रार्थना पत्र और शपथ पत्र डीएम को भेजा गया था। दोनों लाइसेंस में अपना पता एकता नगर कॉलोनी अंकित व दर्ज कराया गया। 

दोनों शस्त्र लाइसेंस शाहजहांपुर से पीलीभीत स्थानांतरित कराकर अभिलेखों में पंजीकृत कराए गए। सतनाम सिंह के शाहजहांपुर जिले के प्रसादपुर गांव वाले पते पर जब पुलिस पहुंची तो ग्रामीणों से पता चला कि यहां कभी सतनाम सिंह उर्फ सत्ता नाम का व्यक्ति नहीं रहता थआ। इस पर ग्राम पंचायत ने लिखित प्रमाण दिए। ऐसे में तब स्पष्ट हो गया कि आरोपी ने अपना गलत पता बताकर फर्जी तरीके से 2 लाइसेंस जारी करवाए थे। जिसके बाद पुलिस ने एक्शन लेते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट मेंपेश किया और वहीं से जेल भेज दिया गया। इस मामले में सपा जिलाध्यक्ष जगदेव सिंह जग्गा ने बताया कि सतनाम सिंह सत्ता पहले में सपा के प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य थे। संगठन में निष्क्रियता के चलते बाद में उन्हें हटा दिया गया था। फर्जी पते पर शस्त्र लाइसेंस जारी करने के मामले में दर्ज हुई रिपोर्ट के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है।