DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोनभद्र कांडः एसआईटी आज दर्ज करेगी आरोपी अधिकारियों के बयान, हुई थी 10 आदिवासियों की हत्या

सोनभद्र जिले के उभ्भा कांड की जांच कर रही एसआईटी सोमवार को आरोपी अधिकारियों व कर्मचारियों के बयान दर्ज करेगी। डीआईजी जे. रवीन्द्र गौड़ की अगुवाई में पांच सदस्यीय टीम इसके लिए सोनभद्र पहुंच रही है। 

जांच टीम ने आरोपियों को बयान देने के लिए बुलाया है। शुरुआत निलंबित किए गए एएसपी अरुण कुमार दीक्षित, पूर्व सीओ घोरावल अभिषेक सिंह और पूर्व सहायक अभिलेख अधिकारी राजकुमार से की जाएगी। इन अधिकारियों के नाम एफआईआर में भी हैं। इन अधिकारियों के अलावा एफआईआर में राबर्ट्सगंज के तत्कालीन तहसीलदार श्रीकृष्ण मालवीय, तत्कालीन तहसीलदार जय चंद्र सिंह, तत्कालीन सीओ विवेकानंद तिवारी व राहुल मिश्रा, इंस्पेक्टर घोरावल अरविंद मिश्र, एसआई लल्लन प्रसाद यादव, बीट सिपाही सत्यजीत यादव, सहायक निबंधक कृषि सहकारी समितियां विजय कुमार अग्रवाल, तत्कालीन एसडीएम घोरावल मणि कण्डन, तत्कालीन इंस्पेक्टर आशीष कुमार सिंह व शिव कुमार मिश्र, आईएएस अधिकारी प्रभात कुमार मिश्रा की पत्नी आशा मिश्रा तथा आईएएस भानु प्रताप शर्मा की पत्नी विनीता शर्मा उर्फ किरन कुमारी का भी नाम है। 

इसके साथ ही आदर्श कृषि सहकारी समिति के दो सदस्यों के नाम भी एफआईआर में हैं। दस अज्ञात लोगों को भी मामले में आरोपी बनाया गया है। लंबे समय से चले आ रहे जमीन विवाद में गांव के 10 आदिवासियों की हत्या की घटना के बाद शासन ने अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार की अध्यक्षता में कमेटी बनाकर जांच कराई। कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर गत 5 अगस्त को लखनऊ के हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। इसमें 29 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी, कूटरचित दस्तावेज तैयार करने और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं में आरोपित किया गया है। मुकदमे की जांच बाद में यूपी पुलिस के विशेष जांच दल (एसआईटी) को स्थानांतरित कर दी गई। यह मुकदमा अपने यहां दर्ज करने के बाद एसआईटी अगले ही दिन छह अगस्त को सोनभद्र पहुंच गई थी। टीम ने घोरावल तहसील पहुंचकर कई रिकार्ड खंगाले थे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sonbhadra massacre SIT will record statements of accused officials today