DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › टीजीटी-2016 में सॉल्वर गैंग का भंडाफोड़, एसटीएफ ने तीन को किया गिरफ्तार
उत्तर प्रदेश

टीजीटी-2016 में सॉल्वर गैंग का भंडाफोड़, एसटीएफ ने तीन को किया गिरफ्तार

वाराणसी। कार्यालय संवाददाताPublished By: Dinesh Rathour
Sun, 01 Aug 2021 12:23 AM
टीजीटी-2016 में सॉल्वर गैंग का भंडाफोड़, एसटीएफ ने तीन को किया गिरफ्तार

वाराणसी-प्रयागराज एसटीएफ की टीम ने शनिवार को प्रशिक्षित स्नातक जीव विज्ञान शिक्षक (टीजीटी)- 2016 बालक वर्ग की परीक्षा में सॉल्वर गैंग का भंडाफोड़ किया। टीम ने गैंग के सरगना, साल्वर और अभ्यर्थी को गिरफ्तार किया है। सरगना अशोक कुमार पाल बरसठी थाना क्षेत्र (जौनपुर) के पिलकथुआ गांव का मूल निवासी है। वह वर्तमान में प्रयागराज के कर्नलगंज के छोटा बघाड़ा में रहता था। साल्वर मेंहनगर (आजमगढ़) थाना क्षेत्र के बवनी कला का रविंद्र चौरसिया और अभ्यर्थी जौनपुर के सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के हमजापुर का सुनील कुमार पाल है।

एसटीएफ को सूचना मिली थी कि गैंग के दो सदस्य कैंट स्टेशन के आसपास हैं। टीम ने यहां से सरगना अशोक कुमार पाल और अभ्यर्थी सुनील कुमार पाल को गिरफ्तार कर लिया। टीम ने दोनों की निशानदेही पर कोतवाली थाना क्षेत्र के कालभैरव गली स्थित श्रीवल्लभ विद्यापीठ बालिका इण्टर कालेज में बनें परीक्षा केंद्र से साल्वर रविंद्र चौरसिया को भी गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में सिंडिकेट में जौनपुर के बरसठी थाने के मानिकपुर निवासी संदीप विश्वकर्मा और रामपुर थाना क्षेत्र के गंधौना निवासी डॉक्टर बृजेश पाल, मछलीशहर थाना क्षेत्र के सरसाव निवासी रमेश का नाम सामने आया। सगरना अशोक कुमार पाल इन तीनों के साथ मिलकर सिंडिकेट चलाता था।

संदीप,डॉक्टर बृजेश पाल और रमेश की गिरफ्तारी शेष है। गिरफ्तारी करने वाली टीम में प्रयागराज एसटीएफ के उप निरीक्षक अनिल कुमार सिंह, धर्मेन्द्र सिंह, मुख्य आरक्षी प्रभन्जन पाण्डेय, आरक्षी अजय यादव, रोहित सिंह, पुनीत कुमार पांडेय और वाराणसी टीम के सदस्य शामिल रहे। गिरफ्तार अशोक कुमार पाल, रविंद्र चौरसिया, सुनील कुमार पाल के खिलाफ कोतवाली थाने में धोखाधड़ी व जालसाजी समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

संबंधित खबरें