ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशGood News: बुंदेलखंड Expressway पर लगेंगे सोलर पैनल, पैदा होगी 450 मेगावाट एनर्जी

Good News: बुंदेलखंड Expressway पर लगेंगे सोलर पैनल, पैदा होगी 450 मेगावाट एनर्जी

चुनाव के बाद अब योगी सरकार बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे को सोलर एक्सप्रेसवे बनाने का काम तेजी से आगे बढ़ाएगी। इसके जरिए 450 मेगावाट सौर ऊर्जा का उत्पादन होगा और पहले चरण में 250 करोड़ रुपये का निवेश होगा।

Good News: बुंदेलखंड Expressway पर लगेंगे सोलर पैनल, पैदा होगी 450 मेगावाट एनर्जी
Ajay Singhअजित खरे,लखनऊMon, 27 May 2024 05:19 AM
ऐप पर पढ़ें

Bundelkhand Expressway: लोकसभा चुनाव के बाद अब योगी सरकार बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे को सोलर एक्सप्रेसवे बनाने का काम तेजी से आगे बढ़ाने जा रही है। इसके जरिए 450 मेगावाट सौर ऊर्जा का उत्पादन होगा और पहले चरण में 250 करोड़ रुपये का निवेश होगा। निजी सार्वजनिक सहभागिता के आधार पर इस योजना को अब जल्द शुरू कराया जाएगा। 

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) बोर्ड ने निवेश कंपनियों के चयन के लिए बिड डाक्यूमेंट को मंजूर कर दिया। इसके बाद इसे औद्योगिक विकास आयुक्त व मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली कमेटी ने भी मंजूरी दे दी। पीपीपी मॉडल पर इस परियोजना को अगले महीने कैबिनेट से मंजूर कराया जाएगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे 296 किमी लंबा है। इसको यूपी के पहले सोलर एक्सप्रेसवे बनाने की योजना है। इसके दोनों ओर उपलब्ध जमीन पर सोलर पैनल लगेंगे। इससे एक इनोवेटिव एवं सस्टेनेबल इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं का विकास होगा। 

असल में एक्सप्रेसवे के मुख्य सड़क और सर्विस रोड के बीच उपलब्ध जमीन की औसत चौड़ाई 15 से 20 मीटर है। इसके अलावा जंक्शनों, इंटर सेक्शनों व लूप क्षेत्रों में सोलर संयंत्र लगेंगे। मुख्य कैरिजवे की ढलान पर उपलब्ध जमीन पर भी फोटोवोल्टिक पीवी पैनल स्थापित होंगे चूंकि यह पूरा क्षेत्र कंटीले तारों से सुरक्षित है। इसलिए सौर ऊर्जा संयंत्रों की सुरक्षा के लिहाज से उपयुक्त है। 

इन कंपनियों ने सोलर पार्क स्थापित करने में रूचि दिखाई
अवाडा इनर्जी, टस्को, नवेली उत्तर प्रदेश पावर, इरीसा ई मोबलिटी, सोमया सोलर सैल्युशन, महात्मा फूले रिन्युएबेल इनर्जी इंफ्रास्ट्रक्चर टेक्नालॉजी, टोरेंट पावर, एट्रिया, व थ्री आर मैनेजमेंट कंपनिययों ने यहां सोलर पार्क स्थापित करने में रुचि दिखाई है। इनका चयन ई टेंडर के जरिए जल्द होगा। द ग्लोबल इनर्जी एलाएंस फॉर पीपुल एंड प्लैनेट ने परियोजना की डीपीआर तैयार कर ली है। एक्सप्रेसवे के दोनों ओर बड़े क्षेत्रफल में उपलब्ध भूमि का उपयोग सौर ऊर्जा संयंत्रों के विकास की योजना कार्यान्वित होगी। सरकार की योजना गंगा एक्सप्रेसवे, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे व आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे में भी इसी तरह के सोलर पार्क बनेंगे। 

इनका  कहना है
औद्योगिक विकास आयुक्‍त और यूपीडा के सीईओ मनोज कुमार सिंह ने कहा क‍ि सोलर एक्सप्रेसवे बनाने के लिए निवेश कंपनियों का चयन जल्द होने जा रहा है। बिड डाक्यूमेंट को कैबिनेट से मंजूर कराया जाएगा। पीपीपी मॉडल पर तैयार इस परियोजना की डीपीआर भी तैयार हो गई है। इस परियोजना पर अब जल्द काम शुरू होगा।