ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशधीमा जहर या हार्ट अटैक? सामने आएगा पूरा सच; जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा गया मुख्‍तार का दिल 

धीमा जहर या हार्ट अटैक? सामने आएगा पूरा सच; जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा गया मुख्‍तार का दिल 

बांदा जेल में बंद रहे बाहुबली मुख्‍तार अंसारी की मौत को लेकर उनके भाई और बेटे ने गंभीर आरोप लगाए हैं। दोनों ने कहा है कि मुख्‍तार की मौत धीमा जहर देने से हुई। अब इस मौत का पूरा सच सामने आएगा।

धीमा जहर या हार्ट अटैक? सामने आएगा पूरा सच; जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा गया मुख्‍तार का दिल 
Ajay Singhहिन्‍दुस्‍तान ,बांदाMon, 01 Apr 2024 12:32 PM
ऐप पर पढ़ें

Mukhtar Ansari News: यूपी की बांदा जेल में बाहुबली मुख्‍तार अंसारी की मौत को लेकर उनके भाई और बेटे ने गंभीर आरोप लगाए हैं। दोनों ने कहा है कि मुख्‍तार की मौत धीमा जहर देने से हुई। अब इस मौत का पूरा सच सामने आएगा। मुख्तार अंसारी का दिल और विसरा जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला लखनऊ भेजा गया है। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने दिल में 10 चीरे लगाए थे। इसमें 1.9 गुणा 1.5 सेंटीमीटर भाग ब्लड क्लॉटिंग की वजह से पीला मिला था। बांदा मंडल कारागार में गुरुवार देर शाम बेहोश खाकर गिरे मुख्तार को एंबुलेंस से रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज ले जाया गया था।

मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने रात 8.25 बजे मुख्तार की मौत की पुष्टि कर दी थी। मौत के साढ़े 17 घंटे बाद शुक्रवार दोपहर दो बजे पांच डॉक्टरों के पैनल ने वीडियोग्राफी के बीच उसके शव का पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम एसपीजीआई लखनऊ से आए हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. सत्येंद्र तिवारी की अगुवाई में हुआ। मुख्तार के छोटे बेटे उमर अंसारी और साथ आए परिजनों को शव दिखाया गया जिसके बाद पोस्टमार्टम हुआ। पीएम की कार्रवाई पूरी होने के बाद दिल और विसरा सुरक्षित कर शव उमर को सौंप दिया गया था। पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक मुख्तार अंसारी का दिल और विसरा जांच के लिए लखनऊ भेजा गया है।

चंड़ीगढ़ पीजीआई में चला था दिल का इलाज
बांदा जेल के सीनियर सुपरिटेंडेंट वीरेशराज शर्मा के मुताबिक मुख्तार अंसारी को जब पंजाब के रूपनगर जिला कारागार से बांदा मंडल कारागार लाया गया था। उस वक्त वहां के डॉक्टरों ने मुख्तार की मेडिकल हिस्ट्री भी भेजी थी। मेडिकल हिस्ट्री के मुताबिक माफिया पहले से ही दिल का मरीज था। उसका चंडीगढ़ पीजीआई में दिल की बीमारी का इलाज भी चला था। गौरतलब है कि गुरुवार देरशाम हार्टअटैक से मुख्तार अंसारी की मौत हो गई थी। इसके बाद परिजनों ने जहर देने का आरोप लगाया था।