DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशबारिश ने दूसरे दिन भी बरपाया कहर, पूर्वांचल और अवध क्षेत्र समेत 26 लोगों की मौत 

बारिश ने दूसरे दिन भी बरपाया कहर, पूर्वांचल और अवध क्षेत्र समेत 26 लोगों की मौत 

लखनऊ। हिन्दुस्तान टीमDinesh Rathour
Fri, 17 Sep 2021 09:09 PM
बारिश ने दूसरे दिन भी बरपाया कहर, पूर्वांचल और अवध क्षेत्र समेत 26 लोगों की मौत 

आफत की बारिश ने प्रदेश के कई जिलों में लगातार दूसरे दिन जनजीवन को झकझोर कर रख दिया। बारिश के दौरान दीवार गिरने और अन्य घटनाओं में शुक्रवार को प्रदेश में 26 लोगों की मौत हो गई है। अवध क्षेत्र में सबसे ज्यादा 13 की जान चली गई है, जबकि ब्रज, पूर्वांचल, चित्रकूट, उन्नाव, कन्नौज और गोरखपुर में 13 की मौत हो गई।  50 से ज्यादा लोग घायल हैं। एक दिन पहले गुरुवार को 50 लोगों की मौत हो गई थी। 

सीतापुर में चार, लखनऊ में एक की मौत

लखनऊ में बारिश थमने से लोगों ने राहत की सांस ली, लेकिन परेशानियों का सिलसिला नहीं थमा। रहीमाबाद में कच्चा मकान ढहने से एक महिला की मौत हो गई। वहीं, अन्य घटनाओं में आधा दर्जन जख्मी हो गए। कई इलाकों में बिजली गुल की समस्या से लोग परेशान रहे। सीतापुर जिले में पांच स्थानों पर दीवार ढह गई, जिसकी चपेट में आने से चार की मौत हो गई है और चार घायलों का इलाज किया जा रहा है। अम्बेडकरनगर में कच्चा मकान धराशायी होने से तीन की जान चली गई। सुलतानपुर में भी दो, बाराबंकी, अमेठी और अयोध्या में एक-एक की मौत हुई। मकान व पेड़ गिरने की घटनाओं में कुछ लोग घायल भी हैं। 

पूर्वांचल में पांच की मौत: वाराणसी समेत पूर्वांचल में लगातार तीसरे दिन बारिश का दौर जारी रहा। मऊ, जौनपुर, गाजीपुर और आजमगढ़ में कच्चे मकान गिरने से पांच लोगों की मौत् हो गई। एक दर्जन कच्चे मकान गिर गए और 100 से ज्यादा गांवों में बिजली प्रभावित हुई। यहां मिर्च और टमाटर की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है। 

चित्रकूट, गोरखपुर में भी मौतें: चित्रकूट में कच्ची दीवार ढहने से मां संग दो मासूमों की मौत हो गई। उन्नाव व कन्नौज में भी कच्चे घर गिरने की घटनाओं में दो महिलाओं की जान चली गई। वहीं, गोरखपुर के सहजनवा क्षेत्र में बारिश और तेज हवा में टिनशेड गिरने से उसके नीचे दबकर एक युवक की मौत हो गई। ब्रज के एटा में दो की मौत हो गई, जबकि करीब 20 लोग घायल हैं। मऊ में रेलवे ट्रैक के नीचे से खिसकी गिट्टी: जिले में रुक-रुक हुई मूसलाधार बारिश के कारण शुक्रवार की सुबह मऊ जंक्शन से 900 मीटर की दूरी पर मऊ-इंदारा रेलवे ट्रैक की पटरी के नीचे से गिट्टियां बह गईं। इस बीच गोरखपुर से मऊ आ रही दादर एक्सप्रेस ट्रेन क्षतिग्रस्त पटरी के बीच से होकर गुजर गई, लेकिन यह संयोग रहा कि कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ। दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद रेलवे पटरी दुरुस्त होने पर ट्रेनों का आवागमन पुन: बहाल हो गया।

पूर्वांचल में आज भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने शनिवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। रविवार को पश्चिमी अंचल में कुछ स्थानों पर हल्की से सामान्य बारिश होगी। राज्य में बदली-बारिश का सिलसिला 20 सितम्बर तक जारी रहने के आसार हैं। गुरुवार को राज्य में सबसे अधिक 37-37 सेंटीमीटर बारिश आजमगढ़ और अयोध्या में दर्ज की गई। इसके अलावा सीतापुर के लहरपुर में 28, बाराबंकी के रामनगर, कन्नौज के तिर्वा, लखनऊ में 23 सेमी बारिश दर्ज की गई।

अम्बेडकरनगर के टांडा, बाराबंकी के सिरौली गौसपुर में 21-21, बस्ती के हरैय्या, बहराइच के केसरगंज, गोण्डा के तरबगंज में 19-19, बाराबंकी में 18, अम्बेडकरनगर के अकबरपुर, उन्नाव के हसनगंज में 17-17, गोरखपुर के चन्द्रदीपघाट में 16 सेमी बारिश रिकार्ड की गई।  कानपुर देहात में 15, इटावा में 14, प्रयागराज के फूलपुर, फरूखाबाद के कायमगंज में 12, कन्नौज में 11, बाराबंकी के रामसनेहीघाट, मैनपुरी में 10-10, एटा के अलीगंज में नौ, अयोध्या के बीकापुर में नौ, बस्ती में आठ, अमेठी के फुर्सतगंज, संतकबीरनगर के घनघटा, सिद्धाथनगर के डुमरियागंज, प्रतापगढ़ के कुण्डा, सोनभद्र के राबर्ट्सगंज में सात-सात सेमी बारिश दर्ज हुई।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें