DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इन आठ बिन्दुओं पर SIT कर रही है बुलंदशहर हिंसा की जांच

SIT investigation on Bulandshahr Violence

स्याना में गोकशी के बाद हिंसा का खुलासा करने को आईजी मेरठ रेंज रामकुमार के नेतृत्व में एसआईटी जांच लगातार आगे बढ़ रही है। एसआईटी जांच में प्रमुखत: आठ बिन्दुओं को शामिल किया गया है। यह बिन्दू ऐसे हैं जिसमें दूध का दूध और पानी का पानी साफ हो जाएगा। हिंसा का कोई भी पहलू इससे वंचित नहीं रह पाएगा। जांच टीम गांवों में जाकर भी लोगों से बातचीत कर हिंसा की तह तक जाने का हरसंभव प्रयास कर रही हैं।

3 दिसंबर को महाव में गोकशी के बाद चिंगरावठी में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और युवक सुमित की मौत के मामले में मुख्यमंत्री बेहद सख्त हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश पर पूरे मामले की एसआईटी जांच चल रही है।

जांच के आठ बिंदू-

  • जांच कर रहे अधिकारी गोकशी क्यो और किसने की?
  • गोकशी के पीछे क्या था इरादा?
  • गोमांस खाना या हिंसा फैलाना था मकसद?
  • हिंसा हुई या कराई गई?
  • हिंसा कराई गई तो करने और कराने वाले कौन?
  • कराने वालों का मकसद दंगा भड़काना या राजनीतिक स्वार्थ?
  • हिंसा कराने का असली मास्टरमाइंड कौन?
  • साजिश की प्लानिंग में कौन-कौन शामिल?

बुलंदशहर हिंसा: CM की सख्त कार्रवाई, SSP समेत 3 पुलिस अफसरों का तबादला

एडीजी मेरठ प्रशांत कुमार ने एसआईटी जांच प्रभारी आईजी मेरठ रामकुमार को बनाया है। आईजी रामकुमार हिंसा के दिन से लगातार पांचवें दिन शुक्रवार को भी जनपद में डेरा डाले हुए हैं। एसआईटी जांच टीम में शामिल एएसपी, 10 इंस्पेक्टर, 10 एसआई और 15 सिपाही घटना की शुरुआथ से लेकर हिंसा तक के हर बिंदू की गहनता से जांच में दिन रात जुटे हुए हैं। जांच कर रही टीम भी अलग-अलग टॉस्क पर कामर कर रही है।

एसआईटी जांच में हर बिंदू को शामिल किया गया है। घटना के पीछे कारण सहित अंजाम देने वालों की मंशा का भी पता लगाया जाएगा। जांच पूरी होने पर ही पूरे प्रकरण का खुलासा होगा- रामकुमार, आईजी मेरठ रेंज

बुलंदशहर हिंसा: योगेश राज के खिलाफ नहीं मिले हिंसा के सबूत

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:SIT team is investigating only on 8 points in Bulandshahr Violence case