class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीश्री रविशंकर बोले, मध्यस्थता करने वाले कोई प्रस्ताव लेकर नहीं जाते 

आर्ट आफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर का कहना है कि मध्यस्थता करने वाले कोई प्रस्ताव लेकर नहीं जाते हैं। उन्होंने कहा कि अभी सभी पक्षों से खुले दिल से बातचीत हो रही है। गुरुवार को अयोध्या से लौट कर लखनऊ में मीडिया से बात करेंगे।
लखनऊ में बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ से मिलने के बाद श्रीश्री रविशंकर दोपहर में डालीगंज इलाके में पत्रकारों से बात कर रहे थे। श्रीश्री रविशंकर ने कहा कि अयोध्या में वे सभी साधु-संतों से मिलेंगे। उनका फार्मूला क्या है, इस सवाल का कोई सीधा जवाब देने के बजाए उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश है कि सौहार्द कायम हो। उन्होंने कहा कि अभी उनकी सुन्नी वक्फ बोर्ड से बात ही नहीं हुई है। 
इससे पहले श्रीश्री रविशंकर से मिलने आए रसिक पीठाधीश्वर महंत जनमेजय शरण ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से पहले अयोध्या विवाद सुलझाने का पूरा प्रयास हो रहा है। यहां चक्रपाणि महाराज भी मिलने के लिए पहुंचे।
वहीं आर्ट आफ लिविंग के प्रवक्ता गौतम विज ने पत्रकारों से कहा कि अभी कोई फार्मूला श्रीश्री रविशंकर ने पेश नहीं किया है। अभी सभी सम्बन्धित पक्षों से बातचीत हो रही है।

अदालत गए पक्षों से बातचीत जरूरी : विनय कटियार
भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने कहा कि हमारा सुप्रीम कोर्ट से आग्रह है कि वह हाईकोर्ट के फैसले को निरस्त करे। हमने अयोध्या की विवादित भूमि का बंटवारा कभी नह़ीं मांगा। उन्होंने कहा कि जब तक अदालत गये पक्षों से बात नहीं होगी सारी कवायद बेकार है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shree Shree Ravishankar says mediators do not take any offer
यूपी के कॉलेजों में निखारी जाएगी छात्रों की पर्सनालिटी, होंगी कई क्लासेजहिन्दुस्तान शिखर समागम: गृहमंत्री राजनाथ सिंह का स्पेशल इंटरव्यू