ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशतीखे हुए शिवपाल के तेवर, योगी-राजभर-केशव पर साधा निशाना; ओवैसी को बताया अच्‍छा आदमी 

तीखे हुए शिवपाल के तेवर, योगी-राजभर-केशव पर साधा निशाना; ओवैसी को बताया अच्‍छा आदमी 

मुरादाबाद दंगों की रिपोर्ट पेश किए जाने को लेकर सीएम योगी, एनडीए में शामिल होने पर ओमप्रकाश राजभर और पीडीए को 'परिवारवादी डेवेलपमेंट अथॉरिटी' बताने पर डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पर जमकर हमला बोला।

तीखे हुए शिवपाल के तेवर, योगी-राजभर-केशव पर साधा निशाना; ओवैसी को बताया अच्‍छा आदमी 
Ajay Singhलाइव हिन्‍दुस्‍तान,लखनऊWed, 09 Aug 2023 01:00 PM
ऐप पर पढ़ें

Shivpal Singh Yadav: समाजवादी पार्टी के वरिष्‍ठ नेता शिवपाल सिंह यादव के तेवर तीखे होते जा रहे हैं। उन्‍होंने मुरादाबाद दंगों की रिपोर्ट पेश किए जाने को लेकर सीएम योगी, एनडीए में शामिल होने पर ओमप्रकाश राजभर और पीडीए को 'परिवारवादी डेवेलपमेंट अथॉरिटी' बताने पर डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पर जमकर हमला बोला। वहीं उन्‍होंने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) चीफ असदुद्दीन ओवैसी को अच्‍छा आदमी बताते हुए कहा कि मैं उनसे पूछ रहा हूं कि वो बीजेपी के खिलाफ सपा का साथ कब दे रहे हैं? 

मुरादाबाद दंगों की रिपोर्ट को लेकर सीएम योगी पर निशाना साधते हुए शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि मैंने मुरादाबाद दंगे की रिपोर्ट नहीं पढ़ी है। लेकिन सरकार की मंशा क्या है? शिवपाल ने कहा कि इससे पहले भी बीजेपी की सरकारें रही हैं लेकिन तब ये रिपोर्ट पेश क्यों नही की गई। जनता सब समझ रही है। बता दें कि मंगलवार को यूपी विधानसभा मॉनसून सत्र के दूसरे दिन सीएम योगी ने मुरादाबाद दंगों की रिपोर्ट पेश की थी। मुरादाबाद में 43 साल पहले हुए दंगे की रिपोर्ट को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने न केवल मुरादाबाद के डीएम-एसपी से कहकर खोजवाया बल्कि इसे कैबिनेट की मंजूरी देते हुए रिपोर्ट के सभी तथ्यों को उजागर किया। इसके पहले 1986, 1987, 1989, 1990, 1992, 1994, 1995, 2000, 2002, 2004, 2005 को यह रिपोर्ट कैबिनेट में रखने के लिए तत्‍कालीन मुख्यमंत्री के सामने पेश हुई थी लेकिन तत्‍कालीन मुख्यमंत्री ने साम्प्रदायिक स्थिति, रिपोर्ट के प्रकाशन के प्रभाव आदि के कारणों से उच्च स्तर पर रिपोर्ट को लंबित रखने का निर्णय लिया। रिपोर्ट को कैबिनेट का अनुमोदन नहीं मिला। बाद में किन्हीं कारणवश सम्‍बन्धित पत्रावली से जांच रिपोर्ट अलग हो गई। आश्वासन की पूर्ति के लिए रिपोर्ट खोजी गई लेकिन ये पत्रावली पर नहीं मिली। रिपोर्ट की खोज के लिए मुरादाबाद के डीएम और एसएससपी से कहा गया लेकिन कामयाबी नहीं मिली। भाषा विभाग और पुस्तकालय में भी खोज कराई गई लेकिन रिपोर्ट नहीं मिली। बाद में यह अनुभाग के रजिस्टर में पाई गई। इस रिपोर्ट को कैबिनेट से 12 मई 2023 को मंजूर कराया गया। 

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पर बोलते हुए शिवपाल ने कहा, 'ओवैसी साहब अच्छे व्यक्ति हैं और ओमप्रकाश राजभर से तो बहुत ज़्यादा अच्छे है लेकिन मैं उनसे पूछ रहा हूं कि वो बीजेपी के खिलाफ सपा का साथ कब दे रहे हैं?' बता दें कि असदुद्दीन ओवैसी ने दो दिन पहले समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव पर तीखा हमला बोलते हुए कहा था कि अखिलेश कह रहे हैं कि असली हिंदुत्‍व को बचाना जरूरी है। पिछले विधानसभा चुनाव में अखिलेश को एकतरफा मुस्लिम वोट मिला है। ओवैसी ने यहां तक कह दिया था कि अखिलेश सिर्फ मुस्लिमों को बेवकूफ बना रहे और धोखा दे रहे हैं। उन्‍होंने सोशल मीडिया पर अखिलेश द्वारा पिछले कुछ समय में डाले गए सड़क पर भिड़ते सांड के वीडियो पर भी ओवैसी की चुटकी ली थी। उन्‍होंने कहा था कि अखिलेश सिर्फ सांड समाचार कर रहे हैं। 

शिवपाल ने डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पर भी जमकर हमला बोला। पीडीए मतलब 'परिवारवादी डेवेलपमेंट अथॉरिटी' वाले उनके बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए शिवपाल ने कहा कि 'पीडीए ने अभी इन्हें निपटाया है कौशांबी में। इस बार फिर निपट जाएंगे। पीडीए ही उनको फिर निपटाएगा।' 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें