ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी: नर्सिंग होम में डॉक्‍टर की शर्मनाक करतूत, बच्‍चे को मृत बता सभासद को बेचा; एक महीने बाद खुला राज

यूपी: नर्सिंग होम में डॉक्‍टर की शर्मनाक करतूत, बच्‍चे को मृत बता सभासद को बेचा; एक महीने बाद खुला राज

बलरामपुर में गर्भवती पुष्पा देवी का ऑपरेशन के बाद बच्चे को मृत बताकर को बेचने का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने पीड़ित मां की तहरीर पर अस्पताल के डॉक्‍टर समेत दो को गिरफ्तार कर लिया।

यूपी: नर्सिंग होम में डॉक्‍टर की शर्मनाक करतूत, बच्‍चे को मृत बता सभासद को बेचा; एक महीने बाद खुला राज
Ajay Singhहिटी,बलरामपुर सिद्धार्थनगरWed, 29 Nov 2023 07:58 AM
ऐप पर पढ़ें

Doctor sold the newborn: यूपी के बलरामपुर के पचपेड़वा के निजी नर्सिंग होम में गर्भवती पुष्पा देवी का ऑपरेशन के बाद बच्चे को मृत बताकर को बेचने का मामला प्रकाश में आया है। पुलिस ने पीड़ित मां की तहरीर पर अस्पताल के डॉक्‍टर समेत दो पर मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने सिद्धार्थनगर के नगर पंचायत बढ़नी के वार्ड नम्बर दो के सभासद निसार के घर से नवजात शिशु को बरामद कर महिला को सौंप दिया गया है। हालांकि आरोपी सभासद नेपाल भाग गया है। मामला 29 अक्टूबर का है।

पचपेड़वा क्षेत्र में संचालित मिशन हास्पिटल और जच्चा बच्चा केन्द्र पर गर्भवती महिला के ऑपरेशन के बाद उसके बच्चे को सुनियोजित ढंग से गायब करने के मामले में मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। प्रसूता को शक होने के बाद उसने करीब एक महीने बाद थाना पचपेड़वा में अस्पताल संचालक और ऑपरेशन करने वाले डॉक्‍टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी। सोमवार देर शाम नवजात को सिद्धार्थनगर बढ़नी नगर पंचायत के एक सभासद के घर से बरामद कर लिया गया। कार्रवाई करते हुए अस्पताल संचालक और एक अन्य डॉक्‍टर के खिलाफ कार्रवाई करते हुए जेल रवाना कर दिया। वहीं जिस सभासद के घर से नवजात बरामद हुआ है वह फरार हो गया है।

घटना थाना पचपेड़वा क्षेत्र के जूड़ीकुंइया चौराहे की है। इसी चौराहे पर मिशन हास्पिटल और जच्चा बच्चा केन्द्र के नाम से एक प्राइवेट नर्सिंग होम चल रहा है। आरोप है कि थाना गौरा चौराहा क्षेत्र के झौवव्वा निवासी गर्भवती पुष्पा देवी पत्नी जय जय राम को प्रसव पीड़ा होने पर गत 29 अक्टूबर को उसे मिशन हास्पिटल जच्चा बच्चा केन्द्र पचपेड़वा में ले जाया गया। जहां के चिकित्सक डा. अकरम जमाल ने कहा कि महिला का ऑपरेशन करना पड़ेगा। उसी दिन डा. अकरम ने सिद्धार्थनगर के बढ़नी निवासी रूबी हेल्थ केयर के चिकित्सक हफीजुर्रहमान को बुलवाकर गर्भवती का ऑपरेशन करा दिया। 

ऑपरेशन के बाद उसने बच्चे को जन्म दिया। आरोप है कि ऑपरेशन के बाद उसे डा. अकरम जमाल ने बताया कि उसका बच्चा मृत पैदा हुआ है। सात दिनों तक प्रसूता को अस्पताल में भर्ती रखा गया। इस दौरान प्रसूता बच्चे का मुंह दिखाने का गुहार करती रही, लेकिन अस्पताल वालों ने उसकी बात नहीं सुनी। स्वस्थ होने के बाद महिला को पता चला कि उसका बच्चा मरा नहीं बल्कि किसी और के हाथ बेच दिया गया है। जिसे लेकर उसने अस्पताल सहित कई जगहों पर गुहार लगाई। गत 26 नवंबर को महिला ने तहरीर देकर थाना पचपेड़वा में आरोपी डॉक्‍टरों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज करा दिया। 

इसके बाद पुलिस सक्रिय हुई। पूछताछ के बाद पुलिस को बड़ी जानकारी हाथ लगी, जिसके बाद पुलिस ने मुखविर की सूचना पर सिद्धार्थनगर के नगर पंचायत बढ़नी के वार्ड नम्बर दो के सभासद निसार के घर से नवजात शिशु को बरामद कर लिया। पुलिस ने नवजात को महिला के सुपुर्द कर दिया है। सभासद के घर छापेमारी के दौरान वह फरार हो गया। लोगों ने बताया कि वह नेपाल भाग गया है। वहीं दूसरी ओर बच्चे को पाकर मां निहाल हो गई। थाना पचपेड़वा के प्रभारी निरीक्षक अवधेश राज सिंह ने बताया कि मिशन हास्पिटल के चिकित्सक डा. अकरम जमाल और बच्चे का ऑपरेशन करने वाले बढ़नी के रूबी हेल्थकेयर के चिकित्सक हफीजुर्रहमान को गिरफ्तार कर लिया गया है। निसार नेपाल भाग गया है। अभियुक्तों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

डिग्री कुछ है और बोर्ड पर कुछ, ठगे जा रहे मरीज
जिले के कस्बाई इलाकों में अवैध नर्सिंग होम एवं क्लीनिकों की भरमार है। इसी तरह से इन क्षेत्रों में अवैध अल्ट्रासाउंड एवं पैथॉलाजी सेंटर भी खूब फलफूल रहे हैं, जिन पर अंकुश नहीं लग पा रहा है। अभी कुछ दिन पूर्व ही सादुल्लाह नगर के रोशन हास्पिटल में भी अप्रशिक्षित चिकित्सकों द्वारा ऑपरेशन करने पर एक प्रसूता की मौत हो गई थी, जिसके बाद भारी हंगामा हुआ था, जिसके बाद यह बात सामने आई थी कि यह प्राइवेट अस्पताल भी अवैध तरीके से संचालित था। एक के बाद एक हो रही घटनाओं के बाद स्वास्थ्य महकमा फर्जी नर्सिंग होमों को बंद कराने में कोई ठोस कदम नहीं उठा पा रहा है।

अवैध रूप से संचालित हो रहा था मिशन हास्पिटल
जिले में अवैध नर्सिंग होमों पर शिकंजा नहीं कसा जा पा रहा है। जिस मिशन हास्पिटल में बच्चे को बेचने की घटना सामने आई है वह अवैध रूप से संचालित हो रहा था। इसका रजिस्ट्रेशन भी सीएमओ कार्यालय में नहीं है। नर्सिंग होम के नोडल व अपर सीएमओ डा. जय प्रकाश ने बताया कि इसके पूर्व भी मिशन हास्पिटल एवं जच्चा बच्चा केन्द्र पर अनियमितता की शिकायतें मिली थीं।

कई महीने पहले उसे रजिस्ट्रेशन कराने की हिदायत दी गई थी। बावजूद इसके संचालक रजिस्ट्रेशन न कराकर अवैध रूप से इसका संचालन कर रहा था। यह बड़ी घटना है। चूंकि इसमें पुलिस अपने स्तर से कार्रवाई कर रही है। स्वास्थ्य विभाग के स्तर से भी इनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। जिले में अभियान चलाकर फर्जी नर्सिंग होम व क्लीनिकों की जांच कराई जा रही है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें