ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशShahjahanpur Results 2024 : शाहजहांपुर में अरुण सागर ने लगाई हैट्रिक, सपा की ज्योत्सना वर्मा को 54918 वोटों से हराया

Shahjahanpur Results 2024 : शाहजहांपुर में अरुण सागर ने लगाई हैट्रिक, सपा की ज्योत्सना वर्मा को 54918 वोटों से हराया

Shahjahanpur Results 2024 : रुहेलखंड में आने वाली शाहजहांपुर लोकसभा सीट पर मतगणना खत्म हो गई है। शाहजहांपुर सीट भाजपा के खाते में गई है। यहां से भाजपा के अरुण सागर ने सपा उम्मीदवार को हराया है।

Shahjahanpur Results 2024 : शाहजहांपुर में अरुण सागर ने लगाई हैट्रिक, सपा की ज्योत्सना वर्मा को 54918 वोटों से हराया
shahjahanpur lok sabha result 2024 arun sagar bjp jyotsna gond samajwadi party dodram verma bsp
Dinesh Rathourलाइव हिन्दुस्तान,शाहजहांपुरTue, 04 Jun 2024 09:18 PM
ऐप पर पढ़ें

Shahjahanpur Results 2024 : रुहेलखंड में आने वाली शाहजहांपुर लोकसभा पर सुबह आठ बजे से शुरू हुई मतगणना अब खत्म हो चुकी है। शाहजहांपुर लोकसभा सीट भाजपा के खाते में गई है। यहां से अरुण सागर लगातार दूसरी बार चुनाव जीते हैं। अरुण सागर ने सपा की ज्योत्सना गोंड को भारी मतों से हराया है। भाजपा की जीत के बाद समर्थकों के खुशी की लहर दौड़ गई। 

9:15 PM- शाहजहांपुर में भाजपा प्रत्याशी ने जीत की हैट्रिक लगाई है। अरुण सागर 54918 वोटों से चुनाव जीत गए हैं। यहां उपविजेता रहीं सपा प्रत्याशी ज्योत्सना गोंड को पांच लाख 20 हजार 912 वोट मिले हैं। जबकि तीसरे नंबर पर रहे बसपा के दोदराम वर्मा को 87 हजार 807 वोटों पर ही संतोष करना पड़ा। 

9,00 PM- भाजपा प्रत्याशी लगातार बढ़त बनाए हुए हैं। वह सपा की ज्योत्सना गोंड से 55688 मतों से आगे चल रहे हैं। 

7.20 PM- भाजपा के अरुण सागर 53443 के मार्जिन से आगे चल रहे हैं। उन्हें अब तक 508297 वोट मिले हैं। वहीं सपा की ज्योत्सना गोंड को 454854 वोट मिले हैं। 

5.55 PM-  34 राउंड के बाद भाजपा के अरुण सागर 33154 वोट से आगे चल रहे हैं। 
भाजपा (अरुण सागर) -409739
सपा (ज्योत्सना गोंड) -376585
वोट का अंतर-33154

4.15 PM- 29 राउंड के बाद राउंड भाजपा के अरुण सागर 300158 वोटों के साथ लीड पर हैं। वहीं सपा की ज्योत्सना गोंड 279047 वोट के साथ दूसरे पर हैं।

3.00 PM- अरुण सागर 21797 वोटों के मार्जिन से पहले नंबर पर चल रहे हैं। वहीं दूसरे नंबर पर सपा की ज्योत्सना गोंड हैं।

1.50PM- 14वें राउंड के बाद भाजपा के अरुण सागर 8600 वोटों से आगे चल रहे हैं। अब तक हुई गिनती में उन्हें 100320 वोट मिले हैं। वहीं सपा की ज्योत्सना गोंड को 91720 वोट मिले हैं।

11.35 AM- अरुण सागर 43243 (+ 14212) से आगे चल रहे हैं। वहीं सपा की ज्योत्सना गोंड 29031 (-14212) वोटों से पीछे हैं।  

10:44 AM- शाहजहांपुर लोकसभा चुनाव चुनाव की वोटिंग में चौथे राउंड में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी अरुण कुमार सागर 7520 वोटो से अपनी निकटतम प्रतिबंध समाजवादी पार्टी की ज्योत्सना गोंड से आगे रहे। अरुण सागर को 18061 वोट मिले, जबकि समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी ज्योत्सना को 10541 वोट मिले। तीसरे नंबर पर बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी दोदराम वर्मा को 2050 वोट हासिल हुए। राष्ट्रीय सनातन पार्टी के किरण को 171, सरदार पटेल सिद्धांत पार्टी के प्रेमचंद हरिजन को 44 वोट, निर्दलीय शिवकुमार को 68 वोट, निर्दलीय धर्मपाल को 46 वोट, निर्दलीय प्रदीप कुमार को 47 वोट, निर्दलीय मीना कश्यप को 44 वोट, मानव क्रांति पार्टी के प्रत्याशी रमेश चंद्र वर्मा को 35 वोट हासिल हुए हैं। पहले राउंड में ही नोटा ने 233 वोट हासिल कर 7 प्रत्याशियों को पीछे छोड़ दिया।

9:52 AM- शाहजहांपुर लोकसभा चुनाव चुनाव की वोटिंग में पहले राउंड में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी अरुण कुमार सागर 106 वोटो से अपनी निकटतम प्रतिबंध समाजवादी पार्टी की ज्योत्सना गोंड से आगे रहे। अरुण सागर को पहले राउंड में 3648 वोट मिले, जबकि समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी ज्योत्सना को 3542 वोट मिले। तीसरे नंबर पर बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी दोदराम वर्मा को 346 वोट हासिल हुए। राष्ट्रीय सनातन पार्टी के किरण को 33, सरदार पटेल सिद्धांत पार्टी के प्रेमचंद हरिजन को 16 वोट, निर्दलीय शिवकुमार को 16 वोट, निर्दलीय धर्मपाल को 16 वोट, निर्दलीय प्रदीप कुमार को 10 वोट, निर्दलीय मीणा कश्यप को 9 वोट, मानव क्रांति पार्टी के प्रत्याशी रमेश चंद्र वर्मा को 5 वोट हासिल हुए हैं। पहले राउंड में ही नोटा ने 53 वोट हासिल कर 7 प्रत्याशियों को पीछे छोड़ दिया।

9:02AM- मतगणना में लगे सभी पार्टियों के एजेंटो की तीन जगह पर चेकिंग की गई उसके बाद उन्हें उनकी काउंटिंग टेबिल तक जाने दिया गया। सबसे पहले मंडी के अंदर प्रवेश करने पर सभी की चेकिंग्वकी गई। उसके बाद मतगणना स्थल के प्रवेश द्वार पर चेकिंग की गई। और आखिर में वेयर हाउस के अंदर विधानसभा बार एजेंटो को चेकिंग करने के बाद ही उन्हें उनकी काउंटिंग टेबिल तक जाने दिया गया।

8:54AM-शाहजहांपुर लोकसभा के लिए हुए चुनाव की मतगणना प्रारंभ हो चुकी है। सबसे पहले बैलेट वोट की गिनती की जा रही है। सुबह 6:00 बजे से लेकर 8:30 बजे तक मतगणना स्थल मंडी समिति में आपाधापी की स्थिति रही। प्रत्याशियों और एजेंटों का आना-जाना रहा। उनकी चेकिंग का काम करके पुलिसकर्मी अब रिलेक्स मूड में बैठ गए हैं। मतगणना केंद्र के अंदर से फिलहाल अभी कोई नया अपडेट नहीं मिला है, सभी लोग पोस्टल बैलेट की गिनती पूरी होने का इंतजार कर रहे हैं। मतगणना केंद्र के बाहर बने मीडिया हाउस में भी हलचल अभी कम है।

8:47AM- शाहजहांपुर में वोटों की मतगणना शुरू हो गई है। हालांकि भाजपा के लोकसभा प्रत्याशी अरुण कुमार सागर ने मतगणना शुरू होने से पहले ही अपनी जीत का ऐलान कर दिया। उन्होंने पहले ही शाहजहांपुर की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा कि वह हमेशा दोबारा से उन्हें चुने जाने के लिए आभारी रहेंगे।  

शाहजहांपुर लोकसभा सीट 1951 में अस्तित्व में आई थी। यहां पहला चुनाव 1952 में हुआ था। यहां अब तक कांग्रेस ने नौ बार, तीन बार भाजपा, दो-दो बार सपा और एक-एक बार जनता दल और एक बार जनता पार्टी का प्रत्याशी चुनाव जीत चुका है। पहले शाहजहांपुर में दो लोकसभा सीटें हुआ करती थीं। 1962 में शाहजहांपुर को एक ही लोकसभा सीट बनाया गया, तब कांग्रेस से लाखनदास, 1967 में कांग्रेस से पीके खन्ना, 1971, 1980, 1984 में कांग्रेस से जीतेंद्र प्रसाद जीते। 1996 में राममूर्ति सिंह वर्मा कांग्रेस से सांसद बने। कांग्रेस से 1999 में जीतेंद्र प्रसाद जीते। 2001 में उनके निधन के बाद शाहजहांपुर लोकसभा सीट पर उपचुनाव हुआ। 2002 में कांग्रेस ने कांताप्रसाद को प्रत्याशी बनाया। 

सपा ने जब राममूर्ति सिंह वर्मा को चुनाव मैदान में उतारा। इस चुनाव में राममूर्ति सिंह वर्मा जीत गए थे। 2004 में जितिन प्रसाद ने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और जीते। इसके बाद 2009 में सपा ने मिथलेश कुमार को प्रत्याशी घोषित किया। मिथलेश कुमार चुनाव जीते। 2014 के चुनाव में भाजपा ने इस सीट पर कमल खिलाया। उस समय भाजपा की कृष्णाराज दो लाख 35 हजार वोटों से जीती थीं। दूसरे नंबर पर बसपा से उम्मेद सिंह रहे थे।

2019 में भी ये सीट भाजपा के खाते में गई, लेकिन इस बार भाजपा ने कृष्णाराज की जगह अरुण सागर को उम्मीदवार बनाया। अरुण सागर को 58.53 प्रतिशत वोट मिले थे, जबकि बसपा के अमर चंद्र जौहर को 35.73 प्रतिशत वोट हासिल हुए थे। तीसरे नंबर पर रही कांग्रेस को महज तीन प्रतिशत वोटों पर ही संतोष करना पड़ा था।