ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशबिजली नहीं सोलर चलेंगे सीवरेज और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, यूपी में लगेगा सौर ऊर्जा संयंत्र

बिजली नहीं सोलर चलेंगे सीवरेज और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, यूपी में लगेगा सौर ऊर्जा संयंत्र

यूपी में सीवरेज और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट अब सौर ऊर्जा से चलाए जाने की तैयारी है। इसके लिए सौर ऊर्जा संयंत्र लगाए जाएंगे। पहले चरण में 17 जिलों में इसका प्रयोग किया जाएगा।

बिजली नहीं सोलर चलेंगे सीवरेज और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, यूपी में लगेगा सौर ऊर्जा संयंत्र
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,लखनऊSun, 28 Jan 2024 10:14 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के शहरों में बने सीवरेज और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट को अब सौर ऊर्जा से चलाने की तैयारी है। इसके लिए सौर ऊर्जा संयंत्र लगाए जाएंगे। पहले चरण में नगर निगम वाले 17 शहरों में इसका प्रयोग किया जाएगा। यहां सफल होने के बाद प्रदेश के नगर पालिका परिषद और नगर पंचायतों में इसे लगाया जाएगा। उच्च स्तर पर सहमति बन गई है और जल्द ही अमृत योजना में इस प्रस्ताव को शामिल किया जाएगा।

प्रदेश के सभी शहरों में जरूरत के आधार पर एसटीपी और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बनाए गए हैं। इसके साथ ही शहरों की आबादी बढ़ने के साथ ही इसे और बनाया जा रहा है। मौजूदा समय इनके रख-रखाव और बिजली पर हर माह हजारों करोड़ रुपये खर्च हो रहा है। एसटीपी और वाटर ट्रीटमेंट चलाने पर खर्च होने वाली बिजली बिल के एवज में मोटी रकम निकायों से चला जाता है। इसके चलते जरूरत के आधार पर विकास कार्य नहीं हो पाते हैं। उच्च स्तर पर भी इस बात की चर्चा हुई थी।

इसके आधार पर ही सहमति बनी है कि बड़े शहरों यानी सभी नगर निगमों में पहले एसटीपी और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट को चलाने के लिए सौर ऊर्जा आधारित संयंत्र लगाए जाएं। इससे यह पता चल जाएगा कि कितना पैसा इसके माध्यम से बचाया जा सकता है। इसी तरह अन्य जितने भी प्लांट बिजली से चल रहे हैं उसके लिए भी सौर ऊर्जा आधारित संयंत्र लगाने पर विचार किया जाए।

सूत्रों का कहना है कि उच्च स्तर पर इसको लेकर सहमति बन गई है। इसके लिए अमृत और स्वच्छ भारत मिशन योजना से बजट की व्यवस्था की जाएगी। क्योंकि इन्हीं दोनों योजनाओं से सीवरेज और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का काम कराया जा रहा है। अधिकारियों का मानना है कि सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने के बाद निकायों का काफी पैसा बिजली बिल का बचेगा, इसके बाद इस पैसे से विकास कार्य कराए जाएंगे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें