Monday, January 24, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशपॉलीग्राफ टेस्ट से खुलेंगे कई अनसुलझी कहानी के राज, सीबीआई को है अनुमति का इंतजार

पॉलीग्राफ टेस्ट से खुलेंगे कई अनसुलझी कहानी के राज, सीबीआई को है अनुमति का इंतजार

वरिष्ठ संवाददाता ,प्रयागराज Amit Gupta
Thu, 14 Oct 2021 09:55 AM
पॉलीग्राफ टेस्ट से खुलेंगे कई अनसुलझी कहानी के राज, सीबीआई को है अनुमति का इंतजार

इस खबर को सुनें

महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में आनंद गिरि समेत तीनों आरोपियों का पॉलीग्राफ टेस्ट हुआ तो कई दफन राज बाहर आ सकते हैं। न केवल महंत नरेंद्र गिरि की मौत से जुड़े राज खुलेंगे, बल्कि आशीष गिरि समेत कई संतों की आत्महत्या की गुत्थी भी सुलझ सकती है। अब सीबीआई को कोर्ट से अनुमति मिलने का इंतजार है।

महंत नरेंद्र गिरि की मौत की जांच करने वाली सीबीआई टीम ने आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी का पॉलीग्राफ टेस्ट कराने की मांग की है। 18 अक्तूबर को इस प्रकरण में सुनवाई होगी। सीबीआई को उम्मीद है कि पॉलीग्राफ टेस्ट से कई राज बाहर आ सकते हैं। दरअसल आनंद गिरि को सात दिन तक रिमांड पर लेकर पूछताछ करने के बाद भी सीबीआई यह पता नहीं लगा सकी कि महंत नरेंद्र गिरि का आपत्तिजनक वीडियो कहां है। उसे किसने बनाया था। दूसरा यह है कि आनंद गिरि ने अपने गुरु महंत नरेंद्र गिरि से बगावत करने के बाद उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। आनंद गिरि ने निरंजनी अखाड़े के सचिव आशीष गिरि की गोली लगने से हुई मौत की जांच कराने की मांग की थी। इसके साथ यह भी कहा था कि दो युवा संतों की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हुई थी। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि झूठ पकड़ने वाले टेस्ट से कई राज बाहर आएंगे। मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी भी मठ और मंदिर के राज बताएंगे।

पॉलीग्राफ टेस्ट कराने का विरोध

इस हाईप्रोफाइल मामले की विवेचना कर रहे सीबीआई अफसर ने अभियोजन अधिकारी अतुल्य द्विवेदी व प्रदीप कुमार के जरिए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट हरेंद्र नाथ के समक्ष अर्जी प्रस्तुत की। अदालत से अनुरोध किया गया कि इस घटना से संबंधित मामले की पूछताछ कर सत्यता जानने के लिए आरोपितों का पॉलीग्राफ टेस्ट कराने की अनुमति प्रदान की जाए। कोर्ट को बताया कि आरोपियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ की गई लेकिन उन्होंने झूठ बोला। सच छिपाया गया। सत्यता का पता लगाने के लिए आरोपियों का पॉलीग्राफ टेस्ट कराना आवश्यक है। आरोपितों के अधिवक्ता सुधीर श्रीवास्तव एवं विजय द्विवेदी की ओर से एक प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करके पॉलीग्राफ टेस्ट कराने का विरोध किया गया। 

epaper

संबंधित खबरें