ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशकैबिनेट मंत्री संजय निषाद को एक हफ्ते में दूसरा झटका, निषाद आर्मी ने निषाद पार्टी का साथ छोड़ा

कैबिनेट मंत्री संजय निषाद को एक हफ्ते में दूसरा झटका, निषाद आर्मी ने निषाद पार्टी का साथ छोड़ा

निषाद पार्टी के अध्यक्ष और योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री संजय निषाद को फिर झटका लगा है। निषाद आर्मी ने उनकी पार्टी निषाद पार्टी का साथ छोड़ दिया है। इससे पहले राष्ट्रीय सचिव ने पार्टी छोड़ दी थी।

कैबिनेट मंत्री संजय निषाद को एक हफ्ते में दूसरा झटका, निषाद आर्मी ने निषाद पार्टी का साथ छोड़ा
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,गोरखपुरWed, 15 Nov 2023 11:00 PM
ऐप पर पढ़ें

पूर्वी यूपी में निषादों के रहनुमाओं में आपसी जंग तेज हो गई है। इस जंग में अब एंट्री हुई है निषाद आर्मी राष्ट्रीय एकता मिशन की। युवा कार्यकर्ताओं वाले इस सामाजिक संगठन ने अब तक निषाद पार्टी से जुड़े रहने का दावा कर रहा था। अब उसने निषाद पार्टी का साथ छोड़ दिया है। बुधवार को भाजपा के पूर्व राज्यसभा सांसद व मछुआ प्रकोष्ठ के संयोजक जयप्रकाश निषाद के साथ निषाद आर्मी के पदाधिकारी मीडिया से मुखातिब हुए।

जिला अध्यक्ष धर्मवीर जलवंशी और जिला प्रभारी बलराम निषाद ने बताया कि चार वर्ष पूर्व निषाद समाज के युवाओं की मदद के लिए इस सामाजिक संगठन को शुरू किया गया। पिछले चार वर्षों से संगठन निषाद पार्टी के साथ सक्रिय तौर पर शामिल रहा। इसके बावजूद उन्हें निषाद पार्टी की तरफ से तवज्जो नहीं मिली। इस संगठ ने सीधे भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है। 

निषाद पार्टी और उसके अध्यक्ष संजय निषाद को एक हफ्ते में यह दूसरा झटका लगा है। महज एक हफ्ते पूर्व निषाद पार्टी के राष्ट्रीय सचिव बहादुर निषाद को बगावत के कारण निष्कासित कर दिया गया था। उन पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगा था। वह कोर टीम में शामिल थे। उनके हटने के बाद निषाद पार्टी को यह दूसरा झटका लगा है। पूर्व सांसद जयप्रकाश निषाद ने कहा कि निषाद आर्मी में करीब 10 हजार युवा कार्यकर्ता सदस्य हैं। यह संगठन पूर्वी यूपी में निषाद बाहुल्य विधानसभाओं में संगठन का विस्तार कर रहा है।  

निषाद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र मणि निषाद ने कहा कि निषाद आर्मी में ज्यादातर सदस्य युवा हैं। युवाओं का दल पार्टी के साथ हमेशा रहा है। कुछ लोग बर्गलाने की कोशिश कर रहे हैं। वह सफल नहीं होंगे। आगामी चुनाव में निषाद आर्मी के कार्यकर्ता निषाद पार्टी के साथ ही रहेंगे।

वहीं पूर्व राज्यसभा सांसद जय प्रकाश निषाद ने कहा कि आरक्षण के नाम पर एक परिवार ने समाज की युवाओं को धोखा दिया। उनकी साजिश अब बेनकाब हो रही है। समाज जागरूक हो रहा है।  युवा अब परिवार के झांसे में आने वाले नहीं हैं। भाजपा में ही निषादों का हित सुरक्षित है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें