ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशसीट बंटवारे से मुरादाबाद में कांग्रेसियों को उम्मीदों का 'झटका', जानें कैसे

सीट बंटवारे से मुरादाबाद में कांग्रेसियों को उम्मीदों का 'झटका', जानें कैसे

यूपी में सपा और कांग्रेस में गठबंधन और सीट बंटवारे से मुरादाबाद में कांग्रेसियों को उम्मीदों का 'झटका' लगा। सारी-सारी तैयारियां धरी की धरी रह गई ।

सीट बंटवारे से मुरादाबाद में कांग्रेसियों को उम्मीदों का 'झटका', जानें कैसे
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,मुरादाबादThu, 22 Feb 2024 07:31 AM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस-सपा गठबंधन ने मुरादाबाद में कांग्रेसियों को निराश किया है। चुनावी तालमेल से कांग्रेसियों की उम्मीदें टूटी हैं। यही नहीं मिशन-24 के लिए अकेले बूते चुनाव लड़ने को फील्ड सजा चुके कांग्रेस दावेदारों की तैयारी धरी की धरी रह गई है। सीटों के तालमेल में कांग्रेस को मंडलभर में एक अमरोहा सीट मिली है। मुरादाबाद और संभल में लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेसी बेहद सक्रियता दिखा रहे थे। भारत जोड़ो न्याय यात्रा से जबरदस्त उत्साह में दिख रहे कांग्रेस कार्यकर्ता सपा से चुनावी तालमेल में फंसे पेंच को देखते हुए कांग्रेस नेता आगामी लोकसभा चुनाव में मंडल की सभी छह सीटों पर चुनाव लड़ने को कमर कसने लगे थे। रालोद के अलग होने और अन्य नेताओं के सपा छोड़ने से कांग्रेस रणनीतिकार इस बार अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ने का दम भर रहे थे। मुरादाबाद आए सपा मुखिया ने बुधवार को कांग्रेस संग गठबंधन फाइनल होने की बात पर मुहर लगा दी। शाम को सपा-कांग्रेस की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में घोषित सीटों का बंटवारा भी घोषित कर दिया, लेकिन यह मंडल के कांग्रेसियों के गले नहीं उतर रहा है।

कांग्रेसियों को मुरादाबाद मंडल में सीट बंटवारे का सबसे बड़ा झटका मुरादाबाद और संभल सीटों पर लगा है। दरअसल शनिवार को आयोजित न्याय यात्रा का रूट इन्हीं दोनों जिलों से होकर होने से भी कांग्रेसी मान कर चल रहे थे कि पार्टी इन दो सीटों पर अपने प्रत्याशी अवश्य उतारेगी। दावेदारों ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी थी। अब मंडल की केवल अमरोहा सीट कांग्रेस के खाते में आने से दावेदार खासे निराश और खिन्न हैं।

2019 में मुरादाबाद में मिले थे सर्वाधिक वोट, रामपुर में कांग्रेस रही थी तीसरे पर 
मुरादाबाद। 2019 का लोस चुनाव सपा-बसपा ने मिलकर लड़ा था। गठबंधन ने मंडल में असर दिखाया और दोनों ने तीन-तीन सीटें जीत लीं। हालांकि कांग्रेस की बात करें तो मंडल में कांग्रेस प्रत्याशी मुरादाबाद में वोट पाने में अव्वल रहे थे।  मुरादाबाद से उम्मीदवार शाायर इमरान प्रतापगढ़ी ने चुनाव में 59198 (4.62 प्रतिशत) वोट हासिल किए थे, जबकि रामपुर में कांग्रेस के संजय कपूर ने 35009 वोट (3.30प्रतिशत) हासिल किए थे। इस चुनाव में सपा से आजम खां जीते थे, लेकिन बाद में रिक्त हुई सीट पर उपचुनाव में भाजपा के घनश्याम सिंह लोधी ने यह सीट जीती। बिजनौर में वरिष्ठ नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी कमाल न दिखा सके थे। उन्हें 25833 वोट (2.35 प्रतिशत) वोट मिले थे। संभल और अमरोहा में कांग्रेस का प्रदर्शन फ्लाप रहा था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें