ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशपीएम गतिशक्ति प्रोजेक्ट से यूपी में आसानी से खुलेंगे स्कूल-अस्पताल, जानें क्या है प्रोजेक्ट और कैसे होगा काम

पीएम गतिशक्ति प्रोजेक्ट से यूपी में आसानी से खुलेंगे स्कूल-अस्पताल, जानें क्या है प्रोजेक्ट और कैसे होगा काम

उत्तर प्रदेश में अब पीएम गतिशक्ति प्रोजेक्ट के जरिए जरूरत वाली उपयुक्त जगहों पर स्कूल, अस्पताल व गेहूं खरीद केंद्र आसानी से बना करेंगे। इस हिसाब से पूरे प्रदेश की संबंधित विभागों ने सघन मैपिंग की।

पीएम गतिशक्ति प्रोजेक्ट से यूपी में आसानी से खुलेंगे स्कूल-अस्पताल, जानें क्या है प्रोजेक्ट और कैसे होगा काम
Srishti Kunjअजित खरे,लखनऊSat, 27 May 2023 05:55 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश में अब पीएम गतिशक्ति प्रोजेक्ट के जरिए जरूरत वाली उपयुक्त जगहों पर स्कूल, अस्पताल व गेहूं खरीद केंद्र आसानी से बना करेंगे। इस हिसाब से पूरे प्रदेश की संबंधित विभागों ने सघन मैपिंग कर ली है। अब  एप के जरिए राज्य के दूरस्थ स्थानों पर इस तरह की सुविधाएं जनता की सहूलियत के हिसाब से उपलब्ध होने लगेंगी। यही नहीं नई शराब की दुकाने खोलने के लिए नए क्षेत्र भी गतिशक्ति पोर्टल से चिन्हित होंगे। 

इस तरह खुलेंगे स्कूल कालेज 
माध्यमिक शिक्षा के लिए ‘पहुंच’ ऐप विकसित किया गया है। इसके जरिए उन गांवों की पहचान की गई है जिनके आसपास माध्यमिक शिक्षा वाले स्कूल नहीं हैं। पहले राज्य भर में यूपी बोर्ड, सीबीएसई व आईसीएसई बोर्ड के स्कूलों की मैपिंग की गई। इसके बाद पांच किमी, दस  किमी व 15 किमी के दायरे में आने वाले स्कूलों का आंकड़ा तैयार किया गया। इस आधार पर अब जाना सकेगा कि उपरोक्त तीन श्रेणी में कहां कहां स्कूल नहीं हैं और वहां जरूरत है। यह काम स्कूल मैपिंग साफ्टवेयर और ‘पहुंच’ पोर्टल के जरिए होगा।

क्या शिक्षक भर्ती चयन सूची में होने जा रहा संशोधन? हाईकोर्ट का यूपी सरकार से सवाल

इसी तरह देखी जाएगी राज्य में अस्पतालों की जरूरत 
इसी तरह नए अस्पतालों की स्थापना से इस ऐप के जरिय यह देखा जाएगा कि कहां इसकी जरूरत है और कहां कहां स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए अस्पताल खोले जा सकते हैं।  गतिशक्ति पोर्टल में दर्ज आंकड़ों की मदद से हाइवे, एयरपोर्ट व रेलवे स्टेशन की लोकेशन जानी जा सकेगी। इस आधार पर अस्तपालों की स्थापना के निर्णय में आसानी होगी। 

किसानों को ज्यादा दूर नहीं जाना पड़ेगा गेहूं खरीद केंद्र 
खाद एवं रसद विभाग ने सभी गेहूं व धान खरीद केंद्रों की मैपिंग कर ली है। एप के जरिए अब यह देखा जा सकेगा कि कहां कहां गेहूं व धान उत्पादन हो रहा है, ऐसे में किसानों की सहूलियत के लिए नजदीक ही खरीद केंद्र बनेंगे। यही नहीं वह  स्थान भी चिन्हित होंगे जहां खरीद केंद्र नहीं है। इससे नए केंद्र खोलने में निर्णय लेने में आसानी होगी। इससे किसानों को अपनी उपज लेकर ज्यादा दूर नहीं जाना पड़ेगा। उनका भाड़ा व समय भी बचेगा।

क्या है पीएम गतिशक्ति प्रोजेक्ट
साल 2021 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएम गतिशक्ति मास्टर प्लान लांच किया गया था। इसमें दर्ज आंकड़ों के आधार पर इंफ्रास्ट्रक्चर व अन्य विकास योजनाओं को बनाने में सहूलियत होगी। योजनाओं का दोहराव बचेगा। यूपी में इस  मामले में संबंधित 39 विभागों में नोडल अधिकारी तैनात हो गए हैं। एक टेक्निकल सपोर्ट यूनिट ने भी काम शुरू कर दिया। 1200 से अधिक सरकारी अधिकारियों को इस काम के लिए प्रशिक्षित किया जा चुका है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें