DA Image
28 जनवरी, 2021|6:05|IST

अगली स्टोरी

सावित्री मौत मामला: 13 परिजनों के स्वास्थ्य की हुई जांच, नहीं मिला कुपोषण

savitri devi death case health test of 13 families member malnutrition not found

जमुआ के चिरुडीह में कथित रूप से भुखमरी में सावित्री देवी (48) की मौत के तीसरे दिन गुरुवार को भी उनके घर अधिकारियों व नेताओं का आना जारी रहा। सावित्री का अंतिम संस्कार होने के साथ ही जांच बंद हो गई।

गुरुवार सुबह जमुआ से डॉक्टरों की टीम डॉ. राजेश दुबे के नेतृत्व में चिरुडीह पहुंची। डॉक्टर दुबे ने बताया कि उन्होंने मृतक के तेरह परिजनों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। सभी परिजनों का स्वास्थ्य सही पाया गया है। किसी में कुपोषण का कोई लक्षण नहीं है। इसकी रिपोर्ट प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को सौंप दी जाएगी।

उधर, नेताओं का आरोप है कि सावित्री की मौत के कारण पर पर्दा डाला गया है। बुधवार को पहुंचे पदाधिकारी कुछ लोगों के माध्यम से मृतक के परिजनों को आंतरिक तौर पर समझाने में सफल रहे कि पोस्टमार्टम से लाश की दुर्गति होगी। वहीं प्रत्यक्ष रूप से जांच व पोस्टमार्टम करने की बात करते रहे। 

बुधवार शाम को जब घर के पुरुष सदस्य लाश जलाने चले गए तो मृतक की पुत्री को अधिकारियों द्वारा कुछ नकद भी दिया गया। इसके अलावा गुरुवार को दो क्विंटल चावल दिया गया। प्रशासन मृतक के बड़े बेटे अरुण तुरी से यह लिखवाने में भी सफल रहा कि उनकी मां पन्द्रह-बीस दिनों से बीमार थी।

उनके घर में चार-पांच किलोग्राम चावल, एक किलोग्राम आलू, आंगनबाड़ी से मिलनेवाले पोषाहार के चार पैकेट व अन्य खाद्य पदार्थ था, जबकि उनके घर में मौत के दूसरे दिन पाए गए खाद्यान्न मृतक की बेटी द्वारा दूसरे दिन सुबह लाया गया था। यह उनकी बेटी का कहना है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Savitri devi death case Health test of 13 families member malnutrition not found