DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चंद्रमा पर हुनर बिखेरेगा रामपुर के संदीप चौहान का विज्ञान, पूरा देश कर रहा सलाम

sandeep chauhan  file photo

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने जानकारी दी है कि वह चंद्रयान 2 (Chandrayan 2) को 15 जुलाई को लॉन्च करेगा। इससे पहले इसरो ने चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण के लिए नई तिथि निर्धारित की थी। चंद्रयान-2 में भेजा जा रहा रोवर छह सितंबर को चंद्रयान की सतह पर उतरेगा। आपको बता दें कि अब तक इसका प्रक्षेपण चार बार टल चुका है। इसे श्रीहरिकोटा से प्रक्षेपित किया जाएगा। इस कार्य में  रामपुर के डा. संदीप ने अहम भूमिका निभाई है। रामपुर में उनके परिवार ने बताया कि बेटे की देश को बहुत कुछ दिया है ये सम्मान की बात है। संदीप चौहान ने चंद्रयान-2 का बेस तैयार किया है.साथ ही लांचिंग पैड, व्हीकल और व्हीकल फ्यूलिजन भी किया तैयार है। 

चन्द्रयान से इसरों में पारी की शुरूआत 
रामपुर के वैज्ञानिक संदीप सिंह चौहान ने मिशन चन्द्रयान से इसरों में अपनी पारी की शुरूआत की थी। मंगलयान सहित अब तक 67 अभियानों में भागीदारी कर चुके है। संदीप चौहान पीएसएलवी-सी-40 के सफल प्रक्षेपण भी कर चुके हैं। 

हरिकोटा में सफल प्रक्षेपण, परिवार में हर्ष
वैज्ञानिक संदीप चौहान के पिता सीआरपीएफ रामपुर में हवलदार थे। उनके बड़े भाई डा. कुलदीप सिंह चौहान वर्तमान में परिवार के साथ साईं विहार में रहते हैं।

केंद्रीय विद्यालय रामपुर से ली बेसिक एजूकेशन
साईं विहार ज्वालानगर निवासी संदीप चौहान ने बेसिक शिक्षा सीआरपीएफ स्थित केंद्रीय विद्यालय से प्राप्त की। वर्ष 1995 में इंटरमीडिएट करने के बाद पॉलीटेक्निक से डिप्लोमा किया। वर्ष 2004 में पंजाब संत लोनेवाल इंजीनियरिंग कालेज से बीई किया और 2008 में इसरों में बतौर वैज्ञानिक चयनित हुए।

इन मिशन में शामिल

-पीएसएलवी-सी-40

-मिशन चंद्रयान 2008

-दस सैटेलाइट 2010

-अंतरिक्ष में फ्रांस की सैटेलाइट की स्थापना-2012

-यूरोप से जीसेट-12 की अंतरिक्ष में स्थापना।

-मंगलयान के सफल प्रक्षेपण में भी योगदान।

-2016 में पीएसएलवी-सी-35 का बने थे हिस्सा।

अंतरिक्ष में भारत अपना स्टेशन तैयार करने की बना रहा है योजना- इसरो चीफ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sandeep Chauhan Rampur scientist prepared Chandrayaan-2 base