ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशभारत-इंग्लैण्ड मैच के दिन लखनऊ के शहीद पथ पर नहीं चलेंगी रोडवेज बसें, इकाना स्टेडियम के पास बढ़ेगी सुरक्षा

भारत-इंग्लैण्ड मैच के दिन लखनऊ के शहीद पथ पर नहीं चलेंगी रोडवेज बसें, इकाना स्टेडियम के पास बढ़ेगी सुरक्षा

29 अक्तूबर को इकाना में होने वाले भारत-इंग्लैण्ड के मैच के दौरान 50 हजार दर्शकों के जुटने की आशंका है। मैच के दिन शहीद पथ पर रोडवेज बसें नहीं चलेंगी।

भारत-इंग्लैण्ड मैच के दिन लखनऊ के शहीद पथ पर नहीं चलेंगी रोडवेज बसें, इकाना स्टेडियम के पास बढ़ेगी सुरक्षा
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊThu, 19 Oct 2023 08:46 AM
ऐप पर पढ़ें

विश्व कप क्रिकेट के लिए 29 अक्तूबर को इकाना में होने वाले भारत-इंग्लैण्ड के मैच के दौरान 50 हजार दर्शकों के जुटने की आशंका है। इसको देखते हुए पुलिस अधिकारियों ने ट्रैफिक पुलिस व परिवहन विभाग के अधिकारियों के साथ बुधवार को बैठक की। तय हुआ कि 29 को शहीद पथ पर रोडवेज बसों का संचालन पूरी तरह से बंद रहेगा। सिटी बस व ऑटो शहीद पथ से होते हुए स्टेडियम तक जा सकेंगे पर इन्हें स्टेडियम से 500 मी. दूर पर ही रोक लिया जायेगा। यहीं सवारी उतार कर इन्हें लौटा दिया जाएगा।

मैच के दिन सिटी बस व ऑटो के स्टापेज पुलिस तय करेगी। मनचाहे स्थान पर ऑटो व बसें सवारी नहीं उतार सकेंगी। दोनों टीमों के आने-जाने के समय रास्ता पूरी तरह से रोक दिया जायेगा। जेसीपी कानून व्यवस्था उपेन्द्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि शहीद पथ पर इकाना स्टेडियम के आस पास अस्थायी व्यू कटर लगाए जाएंगे। यह भी अपील की गई है कि मैच देखने आने वाले दर्शक शहीद पथ पर रांग साइड न चलने की कोशिश करें। जेसीपी ने बताया कि पलासियो में वाहन पार्क करने के लिए दो गेट हैं। हर गेट पर पार्किंग में जाने के लिए पांच लाइने लगाई जाएंगी ताकि कम समय में ज्यादा वाहन अंदर जा सकें।

 जरूरत होने पर ही निकलें आस-पास के लोग
जेसीपी ने बताया कि पुलिस की आरडब्ल्यूए के पदाधिकारियों के साथ बैठक भी हुई। उनसे कहा गया कि उनके अपार्टमेंटों में रहने वाले भारत-इंग्लैण्ड मैच के दिन बहुत जरूरी होने पर ही घर से निकलें।

सुरक्षा बढ़ाई जाएगी
भारत व इंग्लैण्ड के मैच में भीड़ को देखते हुए तय हुआ है कि स्टेडियम के आस पास पुलिस बढ़ायी जाएगी। दूसरे जिलों से काफी पुलिस बल आने के अलावा एटीएस कमाण्डो व निजी सुरक्षा एजेन्सियों के कर्मचारियों की डयूटी तय की जा चुकी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें