ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशरालोद इस डेट से शुरू करेगी नई सियासी पारी! हो सकती है बड़ी घोषणा, इस फार्मूले पर बीजेपी का ऑफर 

रालोद इस डेट से शुरू करेगी नई सियासी पारी! हो सकती है बड़ी घोषणा, इस फार्मूले पर बीजेपी का ऑफर 

रालोद इस डेट से नई सियासी पारी शुरू करेगी। रालोद के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह के जन्म दिवस पर बड़ी घोषणा हो सकती है।

रालोद इस डेट से शुरू करेगी नई सियासी पारी! हो सकती है बड़ी घोषणा, इस फार्मूले पर बीजेपी का ऑफर 
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,मेरठFri, 09 Feb 2024 01:20 PM
ऐप पर पढ़ें

रालोद के एनडीए में शामिल होने की चर्चाओं पर विराम लगता दिखाई दे रहा है। गठबंधन के लिए भाजपा के साथ रालोद के बातचीत अब अंतिम दौर में मानी जा रही है। रालोद के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह के जन्म दिवस पर बड़ी घोषणा हो सकती है। ऐसे संकेत रालोद की तरफ से मिलने लगे हैं। गुरुवार को रालोद नेताओं के सुर बदले नजर आए।
 चौधरी अजित सिंह का जन्म दिवस 12 फरवरी को है। सियासी हलकों की चर्चा के मुताबिक इस तिथि के आसपास ही रालोद के एनडीए में जाने की औपचारिक घोषणा हो सकती है। फिलहाल 12 फरवरी को प्रस्तावित छपरौली में अजित सिंह की आदमकद प्रतिमा के लोकार्पण का कार्यक्रम टाल दिया गया है। उम्मीद की जा रही है कि अब नई राजीतिक बेला और समीकरणों के साथ यह कार्यक्रम होगा। यहीं से रालोद का चुनावी शंखनाद भी होगा।

उधर, नौ फरवरी तक संसद का सत्र समाप्त हो जाएगा। यूपी विधानमंडल का सत्र भी 10 फरवरी को समाप्त हो जाने की संभावना है। ऐसे में पार्टी नेताओं का मानना है कि 12 फरवरी या उसके आसपास ही कोई घोषणा होगी। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह से संबंधित कुछ घोषणा भी हो सकती है। सोशल मीडिया पर रालोद की तरफ से चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देने की मांग लगातार की जा रही है। पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और जननायक कर्पूरी ठाकुर को हाल ही में भारत रत्न की घोषणा हुई है। नियमानुसार एक साल में तीन भारत रत्न दिए जा सकते हैं।
 
सीटों पर अंतिम दौर की वार्ता

सूत्रों के मुताबिक, भाजपा और रालोद के बीच सीटों पर वार्ता अंतिम दौर में मानी जा रही है। रालोद की तरफ से छह सीटों का प्रस्ताव है। इसमें  कैराना, बागपत, मथुरा, अमरोहा, मुजफ्फरनगर और मेरठ शामिल है जबकि एनडीए की तरफ से चार सीटें देने की बात कही जा रही है। फार्मूले में कुछ अन्य बातें भी शामिल होने की चर्चा है। किस फार्मूले पर क्या फैसला होता, यह समय बताएगा।

रालोद और सपा के सुर बदले
कल तक रालोद नेता खुल कर नहीं बोल रहे थे। विधायक तो अभी भी चुप हैं लेकिन गुरुवार को रालोद के कुछ नेताओं के सुर एनडीए के प्रति सकारात्मक रहे। वहीं, सपा की तरफ से भी रालोद को लेकर बयान आए। सपा के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा कि जयंत के जाने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा, वहीं सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ( सुभासपा) के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर के अनुसार आरएलडी 12 फरवरी को एनडीए में शामिल हो जाएगा। उधर सोशल मीडिया प्लेटफार्म ‘एक्स’ पर तीसरे दिन भी जयंत चौधरी की ओर से कोई पोस्ट नहीं हुई है।
 
हो सकती है कुछ घोषणा
12 फरवरी या आसपास कोई घोषणा हो सकती है। रालोद के नेता और कार्यकर्ता एकजुट हैं। जो होगा तो एकजुटता के साथ होगा। किसी दबाव में कुछ नहीं होगा
- त्रिलोक त्यागी, राष्ट्रीय महासचिव, रालोद

 अस्मिता और मान-सम्मान से कोई समझौता नहीं
रालोद प्रारंभ से जिन मुद्दों पर संघर्षरत रही है तो वो संघर्ष जारी है। अब अस्मिता और मान-सम्मान से कोई समझौता नहीं होगा।
- रोहित जाखड़, राष्ट्रीय प्रवक्ता, रालोद।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें