DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  नाबालिग की हत्या का खुलासा : पहले गला दबाया, फिर दोनों हाथों के काट दी नस, हत्या के बाद खंडहरनुमा मकान में छिपा दिया शव 

उत्तर प्रदेशनाबालिग की हत्या का खुलासा : पहले गला दबाया, फिर दोनों हाथों के काट दी नस, हत्या के बाद खंडहरनुमा मकान में छिपा दिया शव 

लखनऊ। प्रमुख संवाददाताPublished By: Dinesh Rathour
Mon, 10 May 2021 11:04 PM
नाबालिग की हत्या का खुलासा : पहले गला दबाया, फिर दोनों हाथों के काट दी नस, हत्या के बाद खंडहरनुमा मकान में छिपा दिया शव 

गुड़म्बा गांव में सात मई से लापता सौरभ (13) को उसके पड़ोस मे ही रहने वाले 15 वर्ष की उम्र के दोस्त ने बेहद निर्दयता से मार डाला। पहले उसका गला दबाया, फिर उसकी दोनों हाथों की नसें काट दी। मौत होने के बाद उसके शव को खंडहर नुमा मकान में ईंटों के ढेर के नीचे दबा दिया। सौरभ का कुसूर सिर्फ इतना था कि उसने आरोपी के सिगरेट पीने की शिकायत उसकी मम्मी से करने को कह दिया था। इसको लेकर दोनों में दो बार झगड़ा भी हुआ था। गुड़म्बा पुलिस ने सोमवार को आरोपी को गिरफ्तार कर यह खुलासा किया। शव बरामद कर लिया गया है। वहीं घटना के दिन ही सीसी फुटेज में आरोपी के साथ दिखने पर पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया था। पर, पुलिस लापरवाह बनी रही और फौरी तौर पर पूछताछ कर उससे छोड़ दिया था। 

मूल रूप से बाराबंकी निवासी निरंकार गुड़म्बा गांव स्थित कच्ची बस्ती में अपने परिवार के साथ रहते हैं। वह मजदूरी करते हैं और कभी कभी सब्जी भी बेचते हैं। निरंकार ने पुलिस को सूचना दी थी कि उनका बेटा सौरभ पड़ोसी लड़के के साथ चार हजार रुपये लेकर सामान लेने गया था। रोजाना दो बजे दोपहर तक आ जाता था। उस दिन शाम तक नहीं लौटा। इंस्पेक्टर फरीद अहमद ने फुटेज देखा तो आरोपी के साथ सौरभ सुबह आठ बजे जाते दिखा। इस पर उसे हिरासत में ले लिय गया। 

पुलिस भी चकमा खा गई
पुलिस ने आरोपी लड़के से कई बार पूछताछ की लेकिन उसने कुछ नहीं उगला। पुलिस ने उसे दो बार छोड़ा और फिर हिरासत में लिया। बताया जाता है कि एक सब इंस्पेक्टर का परिचित होने के कारण इस आरोपी से ज्यादा पूछताछ पुलिस नहीं कर रही थी। यही वजह थी कि उसे निर्दोष मानकर छोड़ दिया गया था। जबकि परिवार वाले लगातार आरोप लगाते रहे कि इस आरोपी ने ही उसके बेटे को गायब किया है और कोई अनहोनी कर दी है। पर, पुलिस ने तब नहीं सुनी।

गुस्साये परिवारीजन थाने पहुंचे तब हरकत में आयी पुलिस
सौरभ के घर वाले बेटे की तलाश में जब हार गये और कुछ नहीं पता चला तो उनका गुस्सा फूट पड़ा। सोमवार को निरकांर और कई अन्य मोहल्ले वाले गुड़म्बा थाने पहुंच गये। इन लोगों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाना शुरू कर दिया। इसके बाद ही पुलिस ने आरोपी को फिर हिरासत में लिया। मोहल्ले वालों ने कई सुबूत दिये पुलिस को जिस पर आरोपी से सख्त पूछताछ हुई। इसके बाद ही वह टूट गया और उसने कुबूल किया कि सौरभ की हत्या उसने ही की। उसने खंडहरनुमा मकान में शव छिपे होने की बात कही। इसके बाद पुलिस वहां पहुंची और शव बरामद हुआ। निरंकार तो बेटे का शव देख बेसुध हो गये। 

सिगरेट पीने की शिकायत पर झगड़ा शुरू हुआ 
इंस्पेक्टर फरीद अहमद ने बताया कि आरोपी ने बताया कि घटना के दिन दोनों खंडहरनुमा मकान में गये थे। यहां मोबाइल पर गेम खेला। इस दौरान ही आरोपी ने सिगरेट पी तो सौरभ ने कहा कि यह गलत आदत है। इसकी शिकायत तुम्हारी मम्मी से करेंगे। इस पर आरोपी ने मोबाइल छीन लिया और उसे लगा कि शिकायत पर उसकी घर पर पिटाई की जायेगी। इस गुससे में ही दोनों के बीच झगड़ा हो गया। इस दौरान ही आरोपी ने सौरभ का गला दबा दिया। वह बेसुध हो गया। इसके बाद ही उसने ब्लेड से सौरभ के दोनों हाथों की नस काट दी। फिर शव को ईंटो के ढेर के नीचे छिपा दिया। आरोपी को गिरफ्तार कर बाल सुधार गृह भेज दिया गया है। 

संबंधित खबरें