DA Image
1 जनवरी, 2021|7:12|IST

अगली स्टोरी

जियो मोबाइल कंपनी के कंट्रोल रूम में डकैती डालने वालाें के खाते से विदेश भेजे गए 10 करोड़ रुपये

                                                                                         jio phone 5

जिओ मोबाइल कंपनी के सर्वर रूम (कंट्रोल रूम) से करोड़ों का सामान लूटने वाले गैंग को पुलिस ने धर-दबोचा। गैंग में दिल्ली में एक कोरियर कंपनी की फ्रेंचाइजी संचालित करने वाले और एक मोबाइल कंपनी के अधिकारी समेत 10 लोग शामिल हैं। ये सर्वर रूम से सामान चोरी करा विदेशों में कोरियर के जरिए बेचते थे। यह गैंग अब तक 50 करोड़ के सामान की चोरी कराकर बेच चुका है। पुलिस ने गैंग से इटावा व आगरा के जिओ सर्वर रूम से लूटा गया 2.15 करोड़ का माल भी बरामद किया है। इनके तार अमेरिका समेत कई देशों में फैले थे। 

कुछ दिनों पहले यहां के सर्वर रूम में गार्ड को बंधक बना कर लेन कार्ड, आरएसपी कार्ड समेत काफी सामान लूटा गया था। इससे 24 घंटे तक जिओ का नेटवर्क इटावा समेत आसपास के जिलों में ठप रहा। लगभग 2 करोड़ रुपए कीमत का ये सामान लूटे जाने से जिले से लेकर प्रदेश स्तर तक हड़कंप मचा रहा। एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि पुलिस की क्राइम ब्रांच व सर्विलांस टीम ने सबसे पहले कंपनी के गार्ड से पूछताछ की। इसके बाद इस मामले की परतें खुलनी शुरू हो गईं। पुलिस को पता चला कि ये एक बड़ा गैंग है और इसमें टेलीकॉम कंपनी के अधिकारी भी शामिल हैं। पुलिस ने राजस्थान से पुष्पेंद्र को गिरफ्तार किया और इसके बाद गैंग में शामिल टेलीकॉम कंपनी के अधिकारी चंदन पांडे व 8 अन्य सदस्यों को भी गिरफ्तार किया गया। इस पूरे मामले का मास्टरमाइंड दिल्ली में एक कोरियर कंपनी की फ्रेंचाइजी संचालित करने वाला राजेश कुमार था। यही अपनी कोरियर कंपनी से माल मास्को, दुबई, कैलिफोर्निया समेत कई अन्य देशों में भेजता था और इसका पैसा उसके बैंक खातों में विदेश से आता था। हाई प्रोफाइल इस गैंग के कनेक्शन विदेश की कई महिलाओं से भी थे। पुलिस ने इनके खाते खंगाले तो पता चला कि एक साल में ही इनके खातों में 10 करोड़ रुपए विदेश से भेजे गए थे। 

एसएसपी ने बताया कि इनके धंधे में कुछ बैंक के अधिकारी भी शामिल थे, जो विदेश से आने वाले पैसा और अलग अलग खाते खोलने में सहयोग करते थे। इनके कनेक्शन में शामिल अन्य अपराधियों पर कार्रवाई के लिए सीबीआई व इंटरपोल की मदद ली जाएगी। मामले का भंडाफोड़ करने के लिए क्राइम ब्रांच प्रभारी सत्येंद्र यादव, सर्विलांस प्रभारी बीके सिंह व उनकी टीमों को 1 लाख 75 हजार रुपए डीजीपी, आईजी व एसएसपी की ओर से देने और मेडल दिलाने की घोषणा भी की गई।
 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Reliance Jio Mobile Company control room robbery 10 million rupees sent abroad from the account