ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशभीषण गर्मी से वाराणसी में महाश्मशान पर टूटे रिकॉर्ड, आंकड़ा 400 पार, पोस्टमार्टम हाउस पर शव रखने की जगह नहीं

भीषण गर्मी से वाराणसी में महाश्मशान पर टूटे रिकॉर्ड, आंकड़ा 400 पार, पोस्टमार्टम हाउस पर शव रखने की जगह नहीं

वाराणसी में भीषण गर्मी ने जहां 140 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। वहीं मौतों का सिलसिला भी तेजी से बढ़ रहा है। स्थिति यह हो गई है कि यहां के पोस्टमार्टम हाउस पर शव रखने की जगह नहीं है। घाट पर कतार लगी है।

भीषण गर्मी से वाराणसी में महाश्मशान पर टूटे रिकॉर्ड, आंकड़ा 400 पार, पोस्टमार्टम हाउस पर शव रखने की जगह नहीं
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,वाराणसीFri, 31 May 2024 07:26 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के वाराणसी में भीषण गर्मी ने जहां 140 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है वहीं मौतों का सिलसिला भी तेजी से बढ़ रहा है। स्थिति यह हो गई है कि यहां के पोस्टमार्टम हाउस पर शव रखने की जगह नहीं है। शवों को पोस्टमार्टम हाउस के बाहर ही जहां-तहां रखना पड़ रहा है। शिवपुर स्थित पोस्टमार्टम हाउस के बाहर ही चार शव शुक्रवार की सुबह रखे दिखाई दिए। इनके परिजन भी हैरान परेशान रहे। महाश्मशान मणिकर्णिका पर भी शव दाह के पिछले सभी रिकॉर्ड टूट गए हैं। आम तौर पर एक दिन में सौ या सवा सौ शव ही आते थे अब यहां 400 से ज्यादा शव आ रहे हैं। शवों की संख्या अचानक बढ़ने से जगह की भी कमी हो गई है। शवदाह के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। 

भीषण गर्मी से चुनाव कराने आए 11 कर्मचारियों की मौत, मिर्जापुर में सात की जान गई

गुरुवार को ही अकेले वाराणसी और आसपास के सात जिलों में 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी।  वाराणसी समेत आसपास के जिलों में शनिवार को वोटिंग है। वोटिंग के लिए पहुंचे 11 मतदानकर्मियों की भी मौत हो गई है। इसमें सबसे ज्यादा सात मतदानकर्मी  में मिर्जापुर में मरे हैं। सोनभद्र में तीन और वाराणसी में एक मतदानकर्मी की जान चली गई है। कई बीमार हैं। कहा जा रहा है कि संख्या बढ़ सकती है। वाराणसी के मणिकर्णिका घाट पर शवों की कतार को लेकर कहा जा रहा है कि आसपास के जिलों से भी लोग यहां दाह संस्कार के लिए आते हैं। ऐसे में यहां शवों की कतार लग रही है। जगह की कमी के साथ ही लकड़ी की कीमत भी बढ़ गई है।

अंतिम संस्कार कराने वाले डोम राजा ओम चौधरी के अनुसार अचानक गर्मी के चलते शवो की संख्या बढ़ी है। जहां एक हफ्ते पहले सौ के आसपास शव आते थे, अब 400 से ज्यादा आ रहे हैं। शव के साथ आने वालों के कारण पतली गलियों और घाट पर व्यवस्थाएं ध्वस्त हो गई हैं। लोगों को घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। मणिकर्णिका घाट की ओर जाने वाली गली के दुकानदार भी लगातार शवों को देखकर हैरान हैं।

आजमगढ़ में सबसे ज्यादा मौतें

वाराणसी। पूर्वांचल में हीट वेव से सबसे ज्यादा आजमगढ़ में गुरुवार को 16 लोगों की मौत हो गई थी। सात जिलों में गुरुवार को 40 लोगों की मौत हो गई। इसमें अकेले आजमगढ़ में 16 लोगों ने जान गंवा दी है। गाजीपुर में नौ, वाराणसी में पांच, मिर्जापुर-चंदौली में तीन-तीन, बलिया-भदोही में दो-दो लोगों की मौत शामिल हैं।

Advertisement