DA Image
25 नवंबर, 2020|11:48|IST

अगली स्टोरी

फ्लिपकार्ट ऑफिस में डकैती : बदमाशों ने 30 सेकेंड में डाल दिया आठ लाख का डाका

rampur robbery in flipkart office miscreants put eight lakh robberies in 30 seconds

दो बाइकों पर सवार होकर आए पांच नकाबपोश बदमाशों ने रामपुर में फ्लिपकार्ट के दफ्तर में महज 30 सेकेंड में आठ लाख रुपये की डकैती कर डाली। सभी बदमाशों के हाथों में हथियार थे। धड़धड़ाते हुए दफ्तर में घुसे और फिर सभी से हाथ खड़े करा लिए। बदमाशों ने कैश के बारे में पूछा और फिर कैश को मय डिब्बे समेत उठाकर ले गए। इससे पहले कोई कुछ समझ पाता तब तक बदमाश घटना को अंजाम देकर फरार हो गए। दफ्तर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में पूरी वारदात कैद हुई है।

फिल्मी स्टाइल में डकैती की यह वारदात सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के ज्वाला नगर में आगापुर रोड पर की है। यहां पर फ्लिपकार्ट कंपनी के दफ्तर में शनिवार की रात में दो बाइकों पर सवार होकर आए पांच बदमाशों ने तमंचे के बल पर दफ्तर पर धावा बोल दिया और फिर कर्मियों को बंधक बनाकर करीब आठ लाख रुपये का कैश लूटकर ले गए। इस दौरान बदमाशों ने फायरिंग भी की। इस घटना के बाद हड़कंप मच गया। यह पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हो गई। दफ्तर के मुख्य गेट पर लगे सीसीटीवी कैमरे की 47 सेकेंड की फुटेज में बदमाश महज 30 सेकेंड से कम समय में वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। पुलिस अब सीसीटीवी की फुटेज को खंगाल रही है। सीसीटीवी फुटेज में सभी बदमाश 35 से 45 साल के बीच दिख रहे हैं। सभी के हाथों में हथियार साफ दिख रहे हैं।

पुलिस को पल्सर और स्पेलेंडर  की तलाश
पुलिस की नजर अब डकैती की वारदात में इस्तेमाल की गई पल्सर और स्पेलेंडर की तलाश है। ज्वाला नगर में बदमाशों ने कल रात घटना को अंजाम देने में काले रंग की स्पेलेंडर और लाल रंग की पल्सर की घटना को अंजाम दिया। पुलिस दोनों बाइकों की तलाश में कल देर रात तक चेकिंग अभियान भी चलाया।  इस घटना के बाद पुलिस प्रशासन में खलबली मची है।

लापरवाही ने लुटवा दिया आठ लाख का कैश

सावधानी हटी, दुर्घटना घटी। बेशक यह यूपीएसआरटीसी का स्लोगन हैं, रोडवेज बसो में पढ़ने को मिलता है लेकिन, यह जीवन में कदम कदम पर लागू होता है। जी हां, शनिवार की रात फ्लिप कार्ट के दफ्तर में हुई डकैती में भी लापरवाही उजागर हुई है। लापरवाही के चलते ही बदमाश करीब आठ लाख का कैश लूट ले गए। भौगोलिक स्थिति से देखें तो आगापुर रोड स्थित फ्लिपकार्ट का दफ्तर आगापुर चौराहे से कुछ ही दूरी पर है। मेन चौराहे पर फल मंडी साइड में डायल-112 की गाड़ी अक्सर खड़ी रहती है। वहीं, चौराहे पर सिविल लाइंस कोतवाली पुलिस भी मौजूद रहती है। आगापुर रोड पर पुलिस गश्त भी करती है। क्योंकि, यह रोड आगे एफसीआई के गोदाम और सीआरपीएफ गेट-2 को जोड़ता है। वहीं, आगापुर चौराहे से कुछ ही दूरी पर ज्वालानगर पुलिस चौकी है। सवाल उठता है कि आखिर, बदमाश इतने बेखौफ कैसे हो गए। जाहिर है कि पुलिस की लापरवाही ने बदमाशों को यह मौका दिया।

फ्लिपकार्ट की लापरवाही
वारदात के बाद पहुंचे एसपी शगुन गौतम ने बताया कि फ्लिपकार्ट वालों की भी लापरवाही उजागर हुई है। कंपनी की ओर से कैश रखने के लिए दफ्तर में लॉकर मौजूद था। बावजूद इसके लॉकर में कैश नहीं रखते थे। इतना ही नहीं कैश काउंटर के अंदर के बजाय ऊपर कॉर्टन बाक्स में रखा गया था। नौ बजे बाजार बंदी के आदेश हैं। इस बीच पुलिस एक्टिव रहती है, लेकिन रात दस बजे तक कार्यालय खुला हुआ था। कैश रहता है, इसकी न तो पुलिस को सूचना दी गई थी और न ही खुद का सिक्योरिटी गार्ड था।

वारदात के खुलासे को एसपी ने बनाईं पांच टीमें
फ्लिपकार्ट के दफ्तर में हुई वारदात के खुलासे को पुलिस अधीक्षक ने पांच टीमें बनाई हैं। उन्होंने जल्द ही वर्कआउट की उम्मीद भी जताई है। पुलिस फिलहाल फ्लिपकार्ड दफ्तर के कर्मचारियों की भी कुंडली खंगाल रही है। पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम ने बताया कि नौ अक्तूबर से यह दफ्तर खुला था। इसमें दिनभर का कलेक्शन जमा होता था। कई लोग यहां से छोड़कर भी जा चुके हैं। इन सबकी डिटेल निकलवायी जा रही है। जिस तरह से घटना को अंजाम दिया गया है, उससे साफ लगता है कि वारदात करने वाले पहले से रेकी किए थे यहां फिर यहां उनका आना-जाना रहा होगा। उन्हें सब पता था कि कैश कहां रखा होगा। यही वजह रही कि वे आए और कैश लेकर चले गए। उन्होंने बताया कि इस घटना के खुलासे के लिए सिविल लाइंस कोतवाली स्तर पर तीन टीमें गठित की गई हैं। इसके अलावा एक टीम सीओ के नेतृत्व में गठित की गई है। वहीं एसओजी की एक टीम अलग से लगाई गई है। कुल पांच टीमों को खुलासे की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:rampur Robbery in Flipkart office miscreants put eight lakh robberies in 30 seconds