ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशरामपुर में ध्वस्त हुआ आजम खान का किला, जानें कौन हैं बीजेपी के आकाश सक्सेना

रामपुर में ध्वस्त हुआ आजम खान का किला, जानें कौन हैं बीजेपी के आकाश सक्सेना

पेशे से बिजनेसमैन आकाश सक्सेना पूर्व मंत्री शिव बहादुर सक्सेना के बेटे हैं। वह कॉलेज टाइम से ही राजनीति में सक्रिय हैं। बीजेपी ने उन्हें पश्चिमी यूपी के लघु उद्योग का संयोजक भी बनाया था।

रामपुर में ध्वस्त हुआ आजम खान का किला, जानें कौन हैं बीजेपी के आकाश सक्सेना
Pawan Kumar Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,रामपुरThu, 08 Dec 2022 05:03 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश के रामपुर विधानसभा उपचुनाव में 45 साल बाद एक बदलाव देखने को मिला है। आजम खान का गढ़ कहे जाने वाले रामपुर में  बीजेपी ने कब्जा जमा लिया है। बीजेपी के उम्मीदवार आकाश सक्सेना ने इस सीट से शानदार जी दर्ज की है। उन्होंने सपा उम्मीदवार आसिम रजा को 33702 वोटों के अंतर से हरा दिया। आकाश सक्सेना को कुल 80964 वोट मिले, वहीं आसिम रजा को कुल 47262 वोट मिले। इस मौके पर आकाश सक्सेना ने कहा कि यह सबका साथ-सबका विकास मूलमंत्र की जीत है।

आजम की सदस्यता खत्म कराने में आकाश की थी भूमिका

पेशे से बिजनेसमैन आकाश सक्सेना पूर्व मंत्री शिव बहादुर सक्सेना के बेटे हैं। वह कॉलेज टाइम से ही राजनीति में सक्रिय हैं। बीजेपी ने उन्हें पश्चिमी यूपी के लघु उद्योग का संयोजक भी बनाया था। उन्होंने ही आजम खान के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। जिसके चलते आजम की सदस्यता को खत्म कर दिया गया। इससे पहले आकाश ने आजम के बेटे अब्दुला आजम की फर्जी डिग्री का मामला उठाया था जिसके चलते अब्दुला की भी सदस्यता समाप्त कर दी गयी थी। खबरों के मुताबिक आकाश सक्सेना आजम और उनके परिवार के खिलाफ दर्ज 43 मुकदमों में पक्षकार हैं। 

यूपी विधानसभा चुनाव में मिली थी हार

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में आकाश यादव बीजेपी की तरफ से मैदान में थे लेकिन उन्हें आजम खान से 55 हजार से अधिक वोटों से हार का सामना करना पड़ा था। जहां आजम खान को 1, 30,659 वोट मिले थे वहीं आकाश को 75,411 वोट मिले थे। 

अखिलेश यादव छोटे नेता जी हैं, दोनों दिल अब मिल गए हैं :शिवपाल यादव

रामपुर सीट पर दूसरी बार उपचुनाव

रामपुर विधानसभा सीट पर दूसरी बार उपचुनाव हुआ है। इससे पहले साल 2019 में उप चुनाव हुआ था। दरअसल 2019 के लोकसभा चुनाव में आजम खान विधायक रहते चुनाव लड़ा  था जिसमें जीत हासिल की थी। जिसके बाद उन्होंने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था। इस सीट पर हुए उप चुनाव में आजम खान की पत्नी डॉ. तजीन फात्मा ने जीत हासिल की थी।   

Advertisement