ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशआठवले का मिशन यूपी: 26 को सहारनपुर से करेंगे बहुजन कल्याण यात्रा की शुरुआत, बोले-सीट बंटवारे पर BJP से चल रही बात

आठवले का मिशन यूपी: 26 को सहारनपुर से करेंगे बहुजन कल्याण यात्रा की शुरुआत, बोले-सीट बंटवारे पर BJP से चल रही बात

रिपब्लिकन पार्टी आफ इंडिया (आरपीआई) के राष्ट्रीय अध्यक्ष केंद्रीय राज्य मंत्री रामदास आठवले ने कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में उनकी पार्टी भाजपा के साथ मिल कर लड़ेगी। सीटों के बंटवारे को...

आठवले का मिशन यूपी: 26 को सहारनपुर से करेंगे बहुजन कल्याण यात्रा की शुरुआत, बोले-सीट बंटवारे पर BJP से चल रही बात
मुख्‍य संवाददाता ,गोरखपुर Thu, 16 Sep 2021 10:42 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

रिपब्लिकन पार्टी आफ इंडिया (आरपीआई) के राष्ट्रीय अध्यक्ष केंद्रीय राज्य मंत्री रामदास आठवले ने कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में उनकी पार्टी भाजपा के साथ मिल कर लड़ेगी। सीटों के बंटवारे को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा एवं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से चल रही बातचीत में जल्द ही निर्णय ले लिया जाएगा। 26 सितंबर से आरपीआई बहुजन कल्याण यात्रा की शुरुआत सहारनपुर से होगी। यह यात्रा सभी मंडल एवं जिलों में होते हुए 18 दिसंबर को लखनऊ पहुंचेगी। लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर पार्क में जनसभा होगी।

 

आठवले, बुधवार को सर्किट हाउस में पत्रकारों से मुखातिब थे। उन्होंने कहा कि भाजपा के साथ गठबंधन के बाद बसपा के वोट बैंक में सेंध लगाएंगे। आठवले ने उम्मीद जताई कि भाजपा उन्हें 10 से 12 सीटें दे सकती है। आठवले ने कहा कि उनकी योजना है कि अनुसूचित जाति एवं मुस्लिम बहुल सीटों पर पार्टी अपने प्रत्याशी लड़ाए। आठवले ने गोरखपुर में हुई सभा में बड़ी संख्या में लोगों की मौजूदगी को रेखाकिंत किया। आठवले ने कहा कि उनकी पार्टी आरपीआई का उद्देश्य समाज के सभी वर्गों को जोड़ने का है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आम लोगों के हित में कई लाभार्थी परक योजनाएं चल रही हैं जिससे लोगों को काफी फायदा मिला है।

 

भाजपा और मोदी मुस्लिमों के विरोधी नहीं

 

आठवले ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भारतीय जनता पार्टी मुस्लिमों के खिलाफ नहीं हैं। उनकी सरकार ने इस वर्ग के लिए काफी कुछ किया है। उन्होंने कहा कि आरपीआई का कोई सांसद नहीं है, उन्हें राज्यसभा सदस्य बनाया, मंत्री भी बनाया। मंत्रालय भी वह दिया जो 80 फीसद आबादी से जुड़ा है। उन्होंने अंतरजातीय विवाह को बढ़ावा देने की जरूरत पर जोर दिया, कहा कि देश में करीब 1.25 लाख अंतरजातीय विवाह हुए हैं। समाजिक समरसता के लिए यह जरूरी है।

 

किसान आंदोलन में किसान नहीं

किसान आंदोलन पर बात रखते हुए केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री किसानों के विरोधी नहीं हैं। आंदोलन कर रहे लोग तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं, लेकिन क्या बदलाव किए जा सकते हैं कोई जवाब नहीं दे रहे। अभी भी 80 फीसद किसान सरकार के साथ हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ के काम काज को सराहा

 

आठवले ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश के कार्यकाल की सराहना की। कहा कि सीएम योगी के नेतृत्व में यूपी में गुंडाराज खत्म हुआ है। सभी जाति और वर्गो के लोगों के हितों की रक्षा की गई है। कोरोना नियंत्रण के लिए इस यूपी के कार्यो की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली है।

 

भूमिहीनों को मिले 5-5 एकड़ जमीन, थमेगा पलायन

आठवले ने कहा कि उनकी पार्टी यूपी सरकार से मांग करती है कि गांवों में जिन परिवारों के पास जमीन न हो, उन्हें पांच-पांच एकड़ जमीन दी जाए। इसके लिए सरकारी जमीन का उपयोग किया जाए। सरकारी जमीन न हो तो लोगों से जमीन क्रय कर आवंटित किया जाए। इससे ग्रामीण क्षेत्र की अर्थव्यवस्था सुदृढ़ होगी और लोगों को शहर की ओर पलायित होने को मजबूर नहीं होना पड़ेगा।