ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशउत्तर और दक्षिण के बीच महासेतु बनेगा राम उत्‍सव, निकलेगी रामचरण पादुका यात्रा

उत्तर और दक्षिण के बीच महासेतु बनेगा राम उत्‍सव, निकलेगी रामचरण पादुका यात्रा

अयोध्या में प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर के उद्धाटन से पहले पूरे देश को राममय करने की तैयारी की गयी है। सांस्कृतिक झांकियों का भी आयोजन किया जाएगा। इसके लिए योगी सरकार डेढ़ करोड़ की धनराशि खर्च करेगी।

उत्तर और दक्षिण के बीच महासेतु बनेगा राम उत्‍सव, निकलेगी रामचरण पादुका यात्रा
Ajay Singhविशेष संवाददाता,लखनऊSun, 10 Dec 2023 06:37 AM
ऐप पर पढ़ें

Ramcharan Paduka Yatra: अयोध्या में आगामी 22 जनवरी को प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर के उद्धाटन से पहले पूरे देश को राममय करने की तैयारी की गयी है। इस दौरान सांस्कृतिक झांकियों का भी आयोजन किया जाएगा। इसके लिए योगी सरकार डेढ़ करोड़ की धनराशि खर्च करेगी। इसके अलावा कई और विश्व रिकार्ड भी बनाने की तैयारी है।  

राम वनगमन पथ से रामचरण पादुका की होगी शुरुआत

योगी सरकार प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर के उद्धाटन से पहले उत्तर भारत से लेकर दक्षिण भारत तक पूरे देश को एकसूत्र में बांधते हुए रामचरण पादुका यात्रा निकालेगी। यह यात्रा राम वनगमन पथ से गुजरती हुई पूरे देश में निकाली जाएगी। यात्रा के दौरान राम वनगमन पथ के विभिन्न पड़ावों जैसे श्रंगवेरपुर, चित्रकूट आदि में भजन, कीर्तन, रामायण पाठ के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 

साथ ही सांस्कृतिक झांकियों का आयोजन किया जाएगा, जिसमें प्रभु श्रीराम के आदर्शों की झलकियां देखने को मिलेगी ताकि देशवासी उनके आदर्शों को अपनाकर अपने जीवन को सफल बना सकें। वहीं प्रदेश के 826 नगर निकायों में विभिन्न संकीर्तन मंडलियों द्वारा प्रतिदिन संकीर्तन का आयोजन किया जाएगा।

इसके लिए नगर विकास विभाग द्वारा संकीर्तन मंडलियों की सूची और रूट तय करते हुए कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की जा रही है। यह आयोजन प्रदेश के रामायण परंपरा से जुड़े हुए मंदिरों, स्थलों एवं हनुमान मंदिरों में मकर संक्रांति से लेकर राम मंदिर उद्धाटन तक लगातार भजनों, सुंदरकांड और अखंड रामायण का पाठ किया जाएगा। इसके लिए योगी सरकार 50 करोड़ रुपये खर्च करेगी। 

शंखवादन और शौर्यगाथा का बनेगा रिकार्ड
मंदिर उद्धाटन समारोह को दिव्य और भव्य बनाने के लिए कई विश्व रिकार्ड बनाए जाएंगे। ऐसे में अयोध्या में समारोह से पहले सभी बाधाओं एवं दोषों को दूर करते हुए सकरात्मक ऊर्जा के संचार के लिए सामूहिक शंखवादन किया जाएगा। इस दौरान 1111 शांखों के नाद से विश्व रिकॉर्ड बनाने की तैयारी है।

इसके लिए उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र (एनसीजेडसीसी) एवं इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र (आईजीएनसीए) की मदद ली जाएगी। इसके अलावा शौर्यगाथा कार्यक्रम के तहत बालिकाओं एवं महिलाओं द्वारा तलवार रास कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा, जिसमें 2500 महिलाएं प्रतिभाग कर विश्व रिकार्ड बनाएंगी। यह कार्यक्रम रामकथा पार्क अयोध्या में आयोजित किया जाएगा। इसके लिए योगी सरकार डेढ़ करोड़ रुपये खर्च करेगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें