DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  राममंदिर निर्माण: नींव भराई का काम तेज, विशेषज्ञों की सलाह पर इंजीनियरों ने अपनाई ये खास तकनीक

उत्तर प्रदेश राममंदिर निर्माण: नींव भराई का काम तेज, विशेषज्ञों की सलाह पर इंजीनियरों ने अपनाई ये खास तकनीक

लाइव हिन्‍दुस्‍तान टीम ,अयोध्‍या Published By: Ajay Singh
Tue, 01 Jun 2021 08:42 AM
 राममंदिर निर्माण: नींव भराई का काम तेज, विशेषज्ञों की सलाह पर इंजीनियरों ने अपनाई ये खास तकनीक

अयोध्‍या में श्री राममंदिर के निर्माण के लिए नींव भराई का काम तेजी से चल रहा है। इस बीच लगातार चली खुदाई के बाद विशेषज्ञों की सलाह पर यह निर्णय लिया गया है कि नींव भराई में रोलर कम्‍पैक्‍ट कंक्रीट तकनीक अपनाई जाएगी। करीब 1,20,000 स्क्वायर फीट क्षेत्र में अभी तक चार परत बिछाई जा चुकी हैं। कुल 40-45 ऐसी ही परत बिछाई जाएंगी।

समय से निर्माण कार्य पूरा करने के मकसद से कार्यदायी संस्‍था के इंजीनियर और कर्मचारी दिन-रात काम कर रहे हैं। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने ट्वीट कर जानकारी दी कि रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का काम तेज गति से चल रहा है। करीब 1,20,000 घन मीटर क्षेत्र से खुदाई के बाद मलबा निकाला जा चुका है। अब तक चार परत बिछाई जा चुकी हैं। एक फीट मोटी परत बिछाकर रोलर से कॉम्पैक्ट करने में चार से पांच दिन लग रहे हैं। ट्रस्‍ट ने बताया कि यह काम अक्टूबर तक पूरा होने की सम्‍भावना है। ट्रस्‍ट ने जानकारी दी कि मंदिर निर्माण में लगे सभी मजदूर और इंजीनियर पूरी तरह स्‍वस्‍थ है। कहा कि यह  रामलला की विशेष कृपा है। 

राममंदिर निर्माण के काम में कोरोना काल में पूरी तत्‍परता से मजदूर और इंजीनियर जुटे रहे हैं। बीच में कुछ बाधाएं जरूर आई थीं लेकिन राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने स्‍पष्‍ट किया कि राममंदिर के निर्माण में कोई देरी नहीं होने दी जाएगी। काम तेजी से चल रहा है। हालांकि अभी एक परत तैयार होने में चार से पांच दिन का समय लग जा रहा है। नींव भराई में 40 से 45 परत बिछाई जानी है। काम में तेजी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जहां शुरुआत चार परत बनाने में करीब दो महीने का वक्‍त लगा वहीं अब 72 घंटे में हर परत की कार्ययोजना पर अमल शुरू हो गया है। समझा जाता है कि नींव का बाकी का बारिश के मौसम के खत्‍म होते-होते पूरा कर लिया जाएगा। परकोटा निर्माण की भी तैयारी शुरू हो गई है। 

15 को जुटेंगे देश के शीर्षस्थ वास्तुविद् 
नींव भराई के बाद मुख्य मंदिर के निर्माण का काम शुरू होगा। इस सम्‍बन्‍ध में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने 15 जून को देश भर के प्रमुख वास्तुविदों की बैठक बुलाई है। बैठक में वास्तुविद् राममंदिर, रामजन्मभूमि परिसर और संपूर्ण अयोध्या के सुंदरीकरण पर अपनी राय देंगे।
 

संबंधित खबरें