ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयह मेरी नहीं, बल्कि... राम मंदिर के लिए रामलला की मूर्ति बनाने वाले अरुण योगीराज ने क्या कहा?

यह मेरी नहीं, बल्कि... राम मंदिर के लिए रामलला की मूर्ति बनाने वाले अरुण योगीराज ने क्या कहा?

Ram Mandir: योगीराज ने बताया कि रामलला को लेकर पूरी दुनिया काफी खुश है। मेरी मूर्ति राम मंदिर के लिए सेलेक्ट की गई, इससे ज्यादा मुझे खुशी इस बात की है कि पूरी दुनिया इससे खुश है।

यह मेरी नहीं, बल्कि... राम मंदिर के लिए रामलला की मूर्ति बनाने वाले अरुण योगीराज ने क्या कहा?
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 26 Jan 2024 10:49 PM
ऐप पर पढ़ें

Ram Mandir: अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर बनकर तैयार है। हालांकि, पूरा होने में अभी कुछ साल का समय और लगेगा, लेकिन काफी निर्माण कार्य हो चुका है। पिछले दिनों राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह हुआ, जिसमें पीएम मोदी समेत हजारों लोगों ने हिस्सा लिया। जिस मूर्तिकार ने रामलला की मूर्ति बनाई है, उनका नाम अरुण योगीराज है।  

'आजतक' के अनुसार, अरुण योगीराज ने बताया कि वे रामलला की मूर्ति के लिए पिछले सात महीने काफी चिंतित रहे। दिनभर मूर्ति के बारे में ही सोचते थे। उन्होंने कहा, ''मैं दो दिन से महसूस कर रहा हूं कि रामलला को लेकर पूरी दुनिया काफी खुश है। मेरी मूर्ति राम मंदिर के लिए सेलेक्ट की गई, इससे ज्यादा मुझे खुशी इस बात की है कि पूरी दुनिया इससे खुश है और आनंदित है। रामलला की मूर्ति मेरी नहीं, बल्कि पूरे देश की ही है। मैंने बहुत छोटा काम किया है। चूंकि, देश के मन में रामलला को लेकर काफी प्यार है, इसलिए इतनी बातें हो रही हैं।''

अरुण योगीराज का परिवार पिछले 300 सालों से मूर्ति बना रहा है। वे छठवीं पीढ़ी के मूर्तिकार हैं। इस पर अरुण ने बताया कि रामलला ने जो आदेश दिया, उसे मैंने पूरा किया है। मेरे ऊपर पूर्वजों का आशीर्वाद है और मैं अपने पिता को अपना गुरु मानता हूं। मुझे महसूस होता है कि हम लोग 300 सालों से यह काम करते आ रहे हैं और भगवान ने बोला कि इतनी मेहनत कर रहे हैं, इसलिए आओ यह काम करो। मैं खुद को बहुत भाग्यशाली मानता हूं।

अरुण योगीराज का बेंगलुरु में शानदार स्वागत
वहीं, अयोध्या में नवनिर्मित राम मंदिर की शोभा बढ़ा रही रामलला की मूर्ति को बनाने वाले अरुण योगीराज का बेंगलुरु पहुंचने पर शानदार स्वागत हुआ। योगीराज की मूर्ति उन तीन मूर्तियों में से एक थी जिसे अयोध्या मंदिर न्यास द्वारा चुना गया। मूर्तिकार के केम्पेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचने के साथ ही बड़ी संख्या में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ता माला लेकर उनका स्वागत करने के लिए उमड़ पड़े। उन्होंने 'जय श्री राम' और 'योगीराज जिंदाबाद' के नारों के बीच उन पर पुष्प वर्षा की। कार्यकर्ताओं ने कहा कि मूर्तिकार ने भगवान राम की मूर्ति बनाकर राज्य और अपने शहर मैसूर को गौरवान्वित किया है। हवाईअड्डे पर मौजूद योगीराज की पत्नी विजेता ने कहा कि वह बेहद खुश हैं कि उनके पति ने एक इतिहास रचा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें