ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशपल्लवी पटेल का बदला मिजाज, राज्यसभा चुनाव में करेंगी मतदान, आखिर किसे देंगी वोट?

पल्लवी पटेल का बदला मिजाज, राज्यसभा चुनाव में करेंगी मतदान, आखिर किसे देंगी वोट?

सपा के टिकट पर विधायक बनीं अपना दल कमेरावादी की नेता पल्लवी पटेल अपने रुख से पलट गई हैं। पल्लवी पटेल ने राज्यसभा चुनाव में वोट देने का फैसला किया है। कहा कि पीडीए को ही उनका वोट जाएगा।

पल्लवी पटेल का बदला मिजाज, राज्यसभा चुनाव में करेंगी मतदान, आखिर किसे देंगी वोट?
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊThu, 22 Feb 2024 04:22 PM
ऐप पर पढ़ें

समाजवादी पार्टी की विधायक और अपना दल कमेरावादी की नेता पल्लवी पटेल ने राज्यसभा चुनाव में मतदान नहीं करने का अपना फैसला बदल दिया है। उन्होंने अब मतदान करने का निर्णय ले लिया है। पल्लवी ने खुलकर सपा प्रत्याशी को वोट देने की बात तो नहीं की लेकिन साफ किया कि पीडीए ही उनका मुद्दा है और वह पीडीए प्रत्याशी को ही वोट देंगी। ऐसे में उनके इशारे को सपा के प्रत्याशी लाल जी सुमन को वोट देने से जोड़ा जा रहा है। अगर ऐसा होता है तो सपा को बड़ी राहत मिल जाएगी। पल्लवी के वोट नहीं देने के ऐलान के बाद सपा को अपना तीसरा प्रत्याशी जिताने के लिए चार वोटों की कमी पड़ रही थी। पल्लवी के वोट देने से अब तीन वोटों की जरूरत रह जाएगी। अगर सपा पृष्ठभूमि वाले रालोद विधायकों ने भी सपा का साथ दिया तो सपा को अपना तीसरा प्रत्याशी जिताना आसान हो जाएगा। 

पल्लवी ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि वह राज्यसभा के लिए वोट देने जाएंगी। पल्लवी ने कहा कि उनका वोट पीडीए को ही जाएगा। उनका मुद्दा पीडीए ही है। पल्लवी ने किसी का नाम तो नहीं लिया लेकिन सपा प्रत्याशी लाल जी सुमन के दलित समाज यानी पीडीए का होने के नाते वोट मिलने की उम्मीद बंध गई है। पल्लवी ने राज्यसभा के लिए घोषित सपा के तीन प्रत्याशियों का नाम सामने आने पर नाराजगी जताई थी।

यह भी कहा था कि प्रत्याशियों के चयन में पीडीए की अनदेखी की गई है। पल्लवी ने कहा था कि समाजवादी पार्टी पीडीए की बात करती है। पीडीए का मतलब पिछड़ा, दलित व अल्पसंख्यक है। राज्यसभा में प्रतिनिधित्व देने के लिए घोषित प्रत्याशियों में सपा ने इस पीडीए का ध्यान नहीं रखा। यह पिछड़ा, दलित व अल्पसंख्यक समाज के साथ धोखा है। उन्होंने कहा कि इन्हीं कारणों से वह सपा के राज्यसभा प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान नहीं करेंगी। हालांकि पल्लवी ने जब यह बातें कहीं थीं, उस समय आठवां प्रत्याशी नहीं आया था। तब चुनाव की संभावना भी नहीं थी।

पल्लवी के रुख के बाद ही भाजपा ने अपना आठवां प्रत्याशी मैदान में उतारकर चुनाव की स्थिति बना दी है। पल्लवी ने सपा के टिकट पर कौशांबी की सिराथू सीट से चुनाव लड़ा था और भाजपा के कद्दावर नेता डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को हराया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें