DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › जौनपुर में बारिश का कहर, मकान गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों समेत चार की मौत
उत्तर प्रदेश

जौनपुर में बारिश का कहर, मकान गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों समेत चार की मौत

जौनपुर वरिष्ठ संवाददाताPublished By: Yogesh Yadav
Thu, 16 Sep 2021 02:38 PM
जौनपुर में बारिश का कहर, मकान गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों समेत चार की मौत

जौनपुर में आफत बनी बारिश ने कई लोगों की जान ले ली है। मकान गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों समेत चार लोगों की मौत हो गई। तीन लोग घायल हो गए। सुजानगंज और सिकरारा थाना क्षेत्र में हुए हादसे से कोहराम मचा है।

सुजानगंज थाना क्षेत्र के सरायखानी गांव में भरत लाल जायसवाल (38) अपने परिवार के साथ बुधवार की रात सो रहे थे। सुबह करीब चार बजे अचानक उनके कच्चे मकान की दीवार ढह गई।परिवार के पांच सदस्य भरत लाल (38), उनकी पत्नी गुलाबा देवी (34), बेटी साक्षी 10), भाभी रेखा देवी (45) और भांजी काजल(12) शामिल मलबे में दब गए।

आसपास के लोगों ने सभी को मलबे से बाहर निकाला। आनन-फानन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सुजानगंज ले गए। जहां चिकित्सकों ने भरत लाल, गुलाबा देवी और साक्षी को मृत घोषित कर दिया। रेखा और काजल का इलाज चल रहा है। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई है।

दूसरी ओर सिकरारा थाना क्षेत्र के सकल देल्हा गांव निवासी उर्मिला देवी(47) बुधवार को अपने कच्चे मकान में सो रही थीं।  कच्चे मकान की जर्जर दीवार ढह गई, जिसके मलबे में वह दब गई। आसपास के लोगों ने उसे मलबे से बाहर निकाला, फिर आनन-फानन बरईपार बाजार स्थित एक निजी चिकित्सक के पास ले गए। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया।

उधर, धर्मापुर क्षेत्र के रत्तीपुर गांव के मेवा लाल का पुत्र सोनू कुमार अपने रिहायशी मड़हे में सो रहा था। रात के लगभग एक बजे लगातार हो रही बारिश की वजह से मड़हा धराशाई हो गया। जिससे सोनू कुमार दब गया। किसी तरह आसपास के लोगों ने मड़हे में से सोनू कुमार को बाहर निकाला और 108 एंबुलेंस से इलाज के लिए अस्पताल भेजा। सोनू कुमार को गर्दन और पैर में चोट आई हैं। 

इसी तरह गौराबादशाहपुर थाना क्षेत्र के मैरा गांव में रिहायशी कच्चा मकान गिर गया। जिससे हजारों के खाद्यान्न का नुकसान हो गया है। दूसरी ओर मीरगंज में बारिश के चलते बभनियांव (डिहवा) गांव निवासी राममूर्ति सरोज का कच्चा मकान गिर गया। जिसमें रह रहे परिवार के लोगों की किसी तरह से जान तो बच गई, लेकिन गृहस्थी का सारा सामान दबकर नष्ट हो गया।

संबंधित खबरें