ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशराममंदिर में प्राण प्रतिष्‍ठा से पहले इस काम पर रेल मंत्री की नज़र, डबल रूट पर दौड़ेंगी ट्रेनें 

राममंदिर में प्राण प्रतिष्‍ठा से पहले इस काम पर रेल मंत्री की नज़र, डबल रूट पर दौड़ेंगी ट्रेनें 

अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर में होने वाली प्राण-प्रतिष्ठा से पहले वाराणसी-जौनपुर जंक्शन-अयोध्या रूट पर शेष 44 किमी डबल लाइन बिछाने काम पूरा हो जाएगा। यह काम उच्च प्राथमिकता पर रखा गया है।

राममंदिर में प्राण प्रतिष्‍ठा से पहले इस काम पर रेल मंत्री की नज़र, डबल रूट पर दौड़ेंगी ट्रेनें 
Ajay Singhमनीष श्रीवास्तव,वाराणसीFri, 08 Dec 2023 07:03 AM
ऐप पर पढ़ें

Trains will run on double route: अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर में होने वाली प्राण-प्रतिष्ठा से पहले वाराणसी-जौनपुर जंक्शन-अयोध्या रूट पर शेष 44 किमी डबल लाइन बिछाने काम पूरा हो जाएगा। इस काम को उच्च प्राथमिकता पर रखा गया है। जनवरी के पहले पखवारे तक पूरा करने का लक्ष्य है। खुद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव प्रत्येक 15 दिन पर इसकी समीक्षा कर रहे हैं।

इस रूट पर शाहगंज जंक्शन से बिलवाई और तुलसी नगर तक 18 किलोमीटर तक पटरी बिछाई जा चुकी है। इस पर मंगलवार से ब्लॉक लेकर फाइनल स्टेज (नॉन इंटरलॉकिंग कार्य) का काम चल रहा है। 16 दिसम्बर को रेल संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) के सम्भावित निरीक्षण के बाद दूसरी पटरी पर भी गाड़ियां दौड़ने लगेंगी। इस बारे में उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल के एडीआरएम लालजी चौधरी का कहना है कि अगले चरण में तुलसी नगर-मालीपुर-जाफरगंज- अकबरपुर स्टेशनों के बीच दूसरी पटरी बिछाई जाएगी। यह काम भी जल्द शुरू होगा। 

बचा है  25 फीसदी काम  

वाराणसी से अयोध्या की दूरी लगभग 189 किलोमीटर है। इसमें वाराणसी जंक्शन (कैंट) से जफराबाद तक करीब 51 किलोमीटर तक दोहरीकरण कई वर्ष पूर्व हो चुका है। जफराबाद से जौनपुर जंक्शन तक करीब सात किमी तक डबल लाइन भी प्रस्तावित है। जिसमें गोमती पर दूसरा सेतु भी बनना है। जौनपुर से शाहगंज जंक्शन तक 33 किलोमीटर और अकबरपुर से अयोध्या तक 54 किलोमीटर लम्बी लाइन पर गाड़ियां दौड़ने लगी हैं। रूट पर सिर्फ शाहगंज से अकबरपुर के बीच लगभग 25 फीसदी काम बचा है। 

विशेष ट्रेनों से बढ़ेगा ट्रैफिक लोड

रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा में अन्य राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए रेलवे दर्जन भर से ज्यादा विशेष ट्रेनें चलाएगा। इनमें 70 फीसदी गाड़ियां वाराणसी होकर जाएंगी। इससे इस रूट पर ट्रैफिक लोड बढ़ेगा। गाड़ियों का परिचालन सुगम बनाने के लिए अयोध्या में होने वाले इस भव्य आयोजन से पहले दोहरीकरण कार्य पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। 

रुदौली-रौजागांव-पटरंगा के बीच भी काम पूरा 

वाराणसी से लखनऊ जाने के लिए ट्रेनें जंघई-प्रतापगढ़-रायबरेली, जौनपुर सिटी-सुलतानपुर-हैदरगढ़ और जौनपुर जंक्शन-अयोध्या-बाराबंकी होकर जाती हैं। इनमें अयोध्या रूट से जाने पर दूरी ज्यादा है। यहां भी लखनऊ से बाराबंकी, रसौली से सफदरगंज और रुदौली से सोहावल तक पहले ही दोहरीकरण हो चुका है। अब रुदौली-रौजागांव-पटरंगा (दो ब्लॉक स्टेशन) के बीच दूसरी पटरी बिछाने का काम भी फाइनल हो गया है। 10 दिसम्बर को यहां रेल संरक्षा आयुक्त का निरीक्षण होना है। जिसके बाद नई लाइन पर ट्रेनें चलेंगी।