ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशटेंपो वाले मित्र की कब होगी जांच, राहुल गांधी ने अडानी का नाम लेकर फिर पीएम मोदी को घेरा

टेंपो वाले मित्र की कब होगी जांच, राहुल गांधी ने अडानी का नाम लेकर फिर पीएम मोदी को घेरा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने उद्योगपति गौतम अडानी का नाम लेकर फिर एक बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरा है। सोमवार को लखनऊ एय़रपोर्ट पर वीडियो बनाते हुए पीएम मोदी पर जबरदस्त हमला किया।

टेंपो वाले मित्र की कब होगी जांच, राहुल गांधी ने अडानी का नाम लेकर फिर पीएम मोदी को घेरा
लाइव हिन्दुस्तान,लखनऊ रायबरेलीTue, 14 May 2024 12:14 AM
ऐप पर पढ़ें

 कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने उद्योगपति गौतम अडानी का नाम लेकर फिर एक बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरा है। सोमवार को लखनऊ एय़रपोर्ट पर वीडियो बनाते हुए पीएम मोदी पर जबरदस्त हमला किया। राहुल ने कहा कि लखनऊ समेत देश के सात एयरपोर्ट पीएम मोदी ने अपने टेंपो वाले मित्र (गौतम अडानी) को दे दिए। सवाल किया कि पांच दिन पहले आरोप लगाया था कि उनके पास काला धन है। हमें अंबानी-अडानी से टेंपो में भरकर काला धन मिला है। आखिर अंबानी-अडानी के पास काला धन है तो जांच कौन करेगा? पूछा कि अडानी-अंबानी के यहां सीबीआई-ईडी कब जाएगी। काला धन की जांच क्यों नहीं हो रही है। 

राहुल गांधी ने करीब डेढ़ मिनट का एक वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा कि आज मैं लखनऊ एयरपोर्ट पर था। यहां से लेकर मुंबई और गुवाहाटी से लेकर अहमदाबाद तक तमाम एयरपोर्ट प्रधानमंत्री ने अपने ‘टेम्पो वाले मित्र’ को सौंप दिए हैं। देश की संपत्ति कितने टेंपो के बदले बेची गई, क्या नरेंद्र मोदी जनता को बताएंगे?

इसके साथ ही एक वीडियो भी पोस्ट किया है। इस वीडियो में राहुल गांधी अपने सवालों को ही विस्तार देते हुए कहते हैं कि हम लखनऊ एय़रपोर्ट पर लैंड किए हैं। इस एयरपोर्ट का नाम चरण सिंह जी के नाम पर है लेकिन इसके मालिक अडानी हैं। जनता की पूंजी के बने ऐसे सात एयरपोर्ट 50 साल के लिए अडानी को दे दिए गए हैं। 

राहुल ने उन एयरपोर्ट के नाम भी गिनाए जो अडानी को दिए गए हैं। बताया कि मुंबई, अहमदाबाद, लखनऊ, मंगलुरु,जयपुर, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम जैसे जबरदस्त एयरपोर्ट नरेंद्र मोदी ने रैपिड टेंपो के साथ गौतम अडानी को दे दिए। पूछा कि इन्हें देने में कितने टैंपो लगे यह भी बता दीजिए। 

फिर से सवाल किया कि इसकी जांच कब शुरू कर रहे हैं। आपने कहा था अडानी-अंबानी हमें काला धन दे रहे हैं। पांच दिन पहले कहा था। जरा जांच शुरू कीजिए। उनके पास भी सीबीआई-ईडी भेजिए। जाते-जाते राहुल ने यह भी कहा कि इस एयरपोर्ट का भी पता लगा लीजिए और अकासा एयरलाइंस का भी पता लगा लीजिए किसका है। 
  
रायबरेली में ताबड़तोड़ चार जनसभाएं
इस बार रायबरेली से मैदान में उतरे राहुल गांधी ने यहां सोमवार को ताबड़तोड़ चार जसभाएं कीं। सभी जगह भाजपा और प्रधानमंत्री निशाने पर रहे। कहा कि वह गारंटी देते हैं कि चार जून के बाद मोदी प्रधानमंत्री नहीं रहेंगे। रायबरेली से मेरे परिवार का हिंदुस्तान में सबसे पुराना रिश्ता है। पंडित नेहरू को राजनीति करना रायबरेली ने​ सिखाया था। रायबरेली ने ही हिंदुस्तान की राजनीति की नींव रखी। 

उन्होंने कहा कि भाजपा व आरएसएस के लोग हमारे संविधान को नष्ट करने में लगे हैं। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री का वेतन ढाई लाख रुपए महीना होता है। वह दिन में तीन बार सूट बदलते हैं। इन एक सूट की कीमत एक लाख तक होती है। अब बताइए कि उनके पास इतना पैसा कहां से आता है। प्रधानमंत्री अगर 22 अरबपति बना सकते हैं तो कांग्रेस पार्टी करोड़ लखपति बना सकती है। सरकार बनते ही कांग्रेस गठबंधन सरकार किसानों का कर्ज माफ करेगी। उन्होंने कहा कि युवाओं के लिए रोजगार नहीं हैं। सत्ता में आते ही अग्निवीर योजना खत्म कर देंगे। राहुल ने प्रधानमंत्री की देशभक्ति पर सवाल उठाए। 

भाजपा ने रायबरेली का विकास रोका
राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा सरकार ने रायबरेली के सारे विकास रोक दिये। भाजपा सरकार ने कांग्रेस सरकारों द्वारा रायबरेली मे स्थापित सभी संस्थान एक-एक कर बन्द करा दिए। सरकार किसान विरोधी, महिला विरोधी और नौजवान विरोधी है। उन्होंने कहा कि अडानी और अंबानी सरकारी संपत्ति दे दी है। अरबपतियों के कर्ज माफ किए, लेकिन किसानों के नहीं। इनका जितना कर्ज माफ किया गया, उतना मनरेगा का 24 साल का पैसा होता है। राहुल ने कांग्रेस की गारंटियों को गिनाया।