Rafi who was going to know sister s condition did not even think that he would not return - बहन का हाल पूछने जा रहे रफी ने सोचा भी न था कि खुद नहीं लौटेंगे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बहन का हाल पूछने जा रहे रफी ने सोचा भी न था कि खुद नहीं लौटेंगे

हादसे में जान गंवाने वाला परिवार बहन की गुमशुदगी की खबर लगने के बाद उसके घर ढांढस बंधाने जा रहा था। ट्रैक्टर ट्रॉली में कार घुसने के बाद अब उनका खुद का पूरा परिवार बेहाल हो गया है। हादसे की खबर लगने के बाद से लोग रोते-बिलखते कुन्दरकी अस्पताल पहुंचे।

मूंढापांडे के गांव मेहंदी रामपुर निवासी मो. रफी (36) मजदूरी करता था। उसकी बहन फूलजहां का निकाह कुन्दरकी के गांव मझोली निवासी जाहिद के साथ हुआ है। बताया गया कि रफी की बहन शनिवार दोपहर के समय दवा लेने के लिए कुन्दरकी आई थी। उसके बाद से घर नहीं लौटी। रात में जब मो. रफी को बहन के गायब होने की सूचना मिली तो वो परिवार के सदस्यों को साथ लेकर मझोली स्थित बहन के घर हाल जानने के लिए जा रहे थे। इसके लिए उन्होंने मदनापुर निवासी चालक महबूब की वैगनआर बुक कर रखी थी।

परिवार के लोग पहले से ही चिंता में डूबे थे। इसी बीच चालक कार का नियंत्रण खो बैठा और कार ट्रैक्टर ट्रॉली में घुस गई। टक्कर इतनी जबर्दस्त थी कि कार के अगले हिस्से और ऊपरी हिस्से के परखच्चे उड़ गए। कार में सवार चालक को छोड़कर सभी की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना मिलने के बाद मझोली निवासी जाहिद समेत उसके परिवार और गांव के लोग सीएचसी पहुंच गए। देर रात मृतकों के परिवार के लोग भी रोते-बिलखते हुए अस्पताल पहुंचे। सभी रो-रोकर बेहाल थे। पुलिस शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस भेजने की तैयारी में जुटी थी। 

इनकी हुई हादसे में मौत

भीषण सड़क हादसे में मेहंदी रामपुर निवासी मो. रफी (36),  रूबी (38), चचेरा भाई गुड्डू (20), चाची फूलजहां (48) और गुड्डू की भतीजी फातिया(4) की मौत हो गई। बच्ची के माता-पिता घर पर ही थे। दादी फूलजहां उसे साथ लेकर मो. रफी की बहन के घर जा रही थी।

अधिकारियों ने घटना स्थल का किया निरीक्षण

हादसे की सूचना पर देर रात एसपी देहात उदय शंकर सिंह, एसडीएम बिलारी बृजेश कुमार तिवारी, सीओ बिलारी महेंद्र शुक्ला भी सीएचसी कुन्दरकी पहुंचे। अधिकारियों ने घायल चालक महबूब से हादसे की जानकारी ली। एसएसआई कुन्दरकी को निर्देश दिया कि गहनता से जांच करें। एसडीएम ने कहा कि गरीब परिवार की हरसंभव मदद की जाएगी।

लकड़ी लदी ट्रैक्टर ट्रॉली में रिफ्लेक्टर न होना बना हादसे का सबब

बताया गया कि जिस ट्रैक्टर ट्रॉली से कार टकराई है वह पंचर होकर सड़क के एक ओर खड़ी थी। जहां ट्रॉली खड़ी थी सड़क पर उस स्थान पर घना अंधेरा था। कार का चालक अंधेरे में ट्रैक्टर ट्रॉली को नहीं देख सका। जब तक उकसी नजर ट्रैक्टर ट्रॉली पर पड़ी तब तक बहुत देर हो गई थी। वह ब्रेक लगाया, लेकिन कार नियंत्रित नहीं हो सकी और सीधे ट्रैक्टर ट्रॉली से जा टकराई। एसएसआई प्रेमपाल ने बताया कि ट्रैक्टर ट्रॉली वाले के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rafi who was going to know sister s condition did not even think that he would not return