ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशचार दिन तक की रैकी, फिर महिला सर्राफा कारोबारी से लूट लिए आभूषण, तीन गिरफ्तार

चार दिन तक की रैकी, फिर महिला सर्राफा कारोबारी से लूट लिए आभूषण, तीन गिरफ्तार

14 मई को कोतवाली शहर क्षेत्र में महिला सर्राफा कारोबारी के साथ हुई लूट की वारदात का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। तीन आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से लूट की सामग्री बरामद की है।

चार दिन तक की रैकी, फिर महिला सर्राफा कारोबारी से लूट लिए आभूषण, तीन गिरफ्तार
Dinesh Rathourहिन्दुस्तान,हरदोईFri, 24 May 2024 02:48 PM
ऐप पर पढ़ें

14 मई को कोतवाली शहर क्षेत्र में महिला सर्राफा कारोबारी के साथ हुई लूट की वारदात का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। तीन आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से लूट की सामग्री बरामद की है। एएसपी पूर्वी नृपेंद्र सिंह ने बताया कि कोतवाली शहर क्षेत्र के मोहल्ला खजांची टोला निवासी सरिता गुप्ता अपनी ज्वेलर्स की दुकान पर सकतपुर ई-रिक्शा से अपने सहयोगी के साथ जा रही थी। इस रिक्शा पर दो युवक भी सवार थे। रास्ते में कुदौंली गांव के पास तमंचा लगाकर आरोपियों ने लगाकर जेवरात व नगदी से भरा बैग लूटकर बाइक से फरार हो गए थे। खुलासा के लिए उनके व सीओ सिटी अंकित मिश्रा के नेतृत्व में तीन टीमों को लगाया गया था।

एएसपी ने बताया कि इसी बीच शहर कोतवाल संजय पांडेय व एसओजी टीम ने सीसीटीवी फुटेज से चोरों की तस्वीर प्राप्त की। इसके बाद कसरावां गांव के निकट बाइक पर सवार बघौली थाना के नया पुरवा निवासी अवनीश व बिलग्राम कोतवाली के बसहर निवासी प्रिंस कुमार और टड़ियावां थाना के हरसिंहपुर निवासी मुकेश कुमार को घेराबंदी कर पकड़ लिया। तलाशी में दो अवैध शस्त्र मिले। पूछताछ में तीनों अपराधियों ने सरिता गुप्ता के साथ हुई लूट की वारदात को कबूल किया। फिर उनकी निशान नहीं पर जेवर, नगदी बरामद की गई। उन्होंने बताया कि अपराधी अवनीश व मुकेश ने शहर के मोहल्ला प्रगति नगर में रेलवे लाइन व नाले के बीच में स्थित एक मकान के अंदर चोरी की वारदात को कबूला है। इसका मुकदमा कोतवाली देहात में दर्ज है। पूछताछ करने के बाद तीनों अपराधियों को न्यायिक हिरासत भेजा गया। जहां से जेल भेज दिया गया।

चार दिनों से रेकी कर रहा था मुकेश

पुलिस के अनुसार मुकेश बाइक से चार दिनों से सकतपुर से हरदोई तक सरिता की रेकी कर रहा था। उसकी सकतपुर में रिश्तेदारी है। वहां पर आना-जाना रहता था। अवनीश ने ही सर्राफा कारोबारी सरिता को ई रिक्शा से आते हुए कई बार देखा तो यह बात अपने मित्र प्रिंस को बतायी। प्रिंस ने मुकेश को बुलाकर लूट की वारदात को अंजाम दिया।