ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशजहां बीजेपी की सरकार नहीं, वहां की जेल में डाल दो; मुख्तार अंसारी की जान को खतरा बता बेटा उमर सुप्रीम कोर्ट पहुंचा

जहां बीजेपी की सरकार नहीं, वहां की जेल में डाल दो; मुख्तार अंसारी की जान को खतरा बता बेटा उमर सुप्रीम कोर्ट पहुंचा

यूपी के बाहुबली नेता और पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी को जान का खतरा सताने लगा है। मुख्तार अंसारी को गैर भाजपा शासित राज्यों की जेल में शिफ्ट कराने के लिए बेटा उमर अंसारी सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है।

जहां बीजेपी की सरकार नहीं, वहां की जेल में डाल दो; मुख्तार अंसारी की जान को खतरा बता बेटा उमर सुप्रीम कोर्ट पहुंचा
Dinesh Rathourहिन्दुस्तान टीम ,गाजीपुर। नई दिल्ली।Mon, 04 Dec 2023 10:53 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी की बांदा जेल में बंद बाहुबली और पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी की उनके परिवार को जान का खतरा सताने लगा है। मुख्तार अंसारी को गैर भाजपा शासित राज्यों की जेल में शिफ्ट कराने के लिए बेटा और विधायक उमर अंसारी सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है। उमर अंसारी ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में कहा है कि जहां भाजपा जहां बीजेपी की सरकार नहीं, वहां की जेल में पिता मुख्तार अंसारी को डाल दो। याचिका में आरोप लगाया गया है कि बांदा जेल में उनके पिता की हत्या की साजिश रची जा रही है।

शीर्ष अदालत में दाखिल याचिका में उमर अंसारी ने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा उनके परिवार के लोगों का उत्पीड़न किया गया है। याचिकाकर्ता उमर अंसारी ने याचिका में कहा है कि उन्हें इस बात की पुष्ट जानकारी मिली है कि बांदा जेल में उनके पिता मुख्तार अंसारी की जान को गंभीर खतरा है। याचिका में कहा गया है कि उनके पिता की हत्या के लिए रची जा रही साजिश में सरकार के प्रतिष्ठानों से जुड़े लोग भी शामिल हैं। अंसारी ने याचिका में कहा है कि ऐसे में उनके पिता व पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी को उन राज्यों के जेल में स्थानांतरित कर दिया जाए, जहां गैर भाजपा सरकार है।

मुख्तार अंसारी कृष्णानंद राय हत्या मामले में आरोपी रहे हैं। इसके अलावा भी मुख्तार अंसारी कई मामलों में आरोपी हैं और कुछ मामले में उन्हें सजा भी हुई। हालांकि कृष्णानंद राय हत्याकांड में अंसारी व अन्य आरोपियों को अदालत ने बरी कर दिया गया था। याचिका में कहा गया है कि कृष्णानंद राय हत्याकांड में कई आरोपियों की हत्या कर दी गई है और इसमें स्पेशल टास्क फोर्स के मिलीभगत होने का भी अंदेशा है। विधायक उमर अंसारी ने याचिका में कहा है कि राय हत्याकांड में भले ही अदालत ने उनके पिता सहित अन्य आरोपियों को बरी कर दिया, लेकिन सत्ता प्रतिष्ठानों में शामिल लोग उनके पिता को भी दोषी की तरह देखता है। याचिका में कहा गया है कि भाजपा के लोग कई बार सार्वजनिक मंचों से प्रतिशोध लेने की शपथ ली है।

याचिकाकर्ता अंसारी ने कहा है कि उनकी मां ने इलाहाबाद में याचिका दाखिल कर जेल में मुख्तार अंसारी की जान को खतरा होने की अंदेशा जाहिर की थी। साथ ही कहा है कि उच्च न्यायालय ने सुरक्षा बढ़ाने का आदेश दिया है। याचिका में कहा गया है कि जेल में सुरक्षा संभव नहीं है और उनके पिता की हत्या हो सकती है। याचिका में उस तरीके के बारे में भी बताया गया है जिससे जेल में मुख्तार अंसारी की हत्या को अंजाम दिया जा सकता है। उमर ने याचिका में कहा है कि उसके पिता की जेल में हत्या कराने के लिए पुलिस किराये के शूटरों को छोटे-मोटे अपराध में पकड़ कर जेल भेजेगी और जेल में हथियार मुहैया कराकर फिर गैंगवार दिखा कर उनके पिता की हत्या की जा सकती है। याचिका में उमर ने कहा है कि उन्हें अंदेशा है कि 2024 के चुनाव में राजनीतिक लाभ लेने के लिए चुनाव से पहले या दिसंबर, 2023 में भी उनके पिता की जेल में हत्या कर दी जाए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें