DA Image
20 अक्तूबर, 2020|7:42|IST

अगली स्टोरी

डेव‍िना हत्‍याकांड: चश्‍मदीद बोले-लूट नहीं सिर्फ कत्‍ल करने आए थे बदमाश, गोली मारने से पहले मां-बेटी से कही थी कोई बात 

शिक्षिका निवेदिता उर्फ डेविना मेजर की हत्या और बेटी को गंभीर रूप से घायल करने वाले बदमाशों ने न जेवर छीना न कैश को हाथ लगाया, फिर भी वारदात के बाद लूट की अफवाह फैल गई। पुलिस को वारदात स्‍थल से शिक्षिका की सोने की चेन, पर्स उसमें रखे रुपये और मोबाइल सब कुछ सुरक्षित मिला था। अब सवाल ये उठ रहा है कि क्या लूट के बहाने कुछ बातें छिपाने की कोशिश की जा रही है।  

मोहल्ले वालों की माने तो यह पूरी वारदात ‘संबंधों’ के इर्द-गिर्द ही घूम रही है। उन्हीं में से किसी सिरफिरे ने मां-बेटी को गोली मारी है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक गोली मारने से पहले बदमाशों ने मां-बेटी से कुछ कहा भी था। फिलहाल पुलिस ने नामजद किए गए आरोपितों को अभी हिरासत में ही रखा है। इंस्पेक्टर का कहना है कि पूछताछ की जा रही है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक रंजिश के अलावा संबंधों के मामले पर ही पुलिस की तफ्तीश तेज हुई है। लूट के एंगिल को पुलिस ने फिलहाल बाहर कर दिया है। बताया जा रहा है कि डेविना का पति से रिश्ते अच्छे नहीं थे हालांकि पति मनीष इस बात से इंकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि पत्नी और उनके बीच काफी अच्छे रिश्ते थे। डेविना प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापिका थीं और उनकी अच्छी-खासी तनख्वाह थी। शहर में भी उनके पास जमीन भी मौजूद है। डोविना दो बहनें थीं। उनके पिता ने दोनों बहनों में सम्पत्ति बांट दी थी। डोविना अपने हिस्से की जमीन पर मकान बनवा रही थी। 

इसके अलावा जमीन के विवाद को लेकर पड़ोसी पुलिस हिरासत में है ही। डेविना के पति ने डोविना के पड़ोसी ज्ञानू तिवारी, उनकी पत्नी और भांजी के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया है। ज्ञानू से विवाद की बात तो लोग स्वीकार कर रहे हैं पर इसके साथ यह भी सवाल उठाया जा रहा है कि क्या ज्ञानू इस विवाद के लिए हत्या करा सकते हैं? फिलहाल पुलिस सभी पहलू की गहराई से जांच कर रही है। इन सब के बीच बेटी को लेकर भी यही कहा जा रहा है कि उसने भी लूट की आशंका क्यों जताई। हालांकि बेटी को अभी यह पता नहीं है कि उसकी मां अब जिंदा नहीं है। उसे यही पता है कि मां भी भर्ती है। उधर, बेटे से बातचीत के आधार पर पुलिस ने कुछ और लोगों को उठाया है। 

शिक्षिका का शव बशारतपुर कब्रिस्तान में दफन 
बदमाशों की गोली से मारी गई निवेदिता उर्फ डेविना मेजर का शव एचएन सिंह चौराहा स्थित कब्रिस्तान में सोमवार की शाम को दफन किया गया। शव यात्रा में भारी संख्या में बशारतपुर, धर्मपुर, इस्टर्नपुर के मसीही समाज के लोग उपस्थित रहे। पुलिस की मौजूदगी में एचएन सिंह चौराहा स्थित कब्रिस्तान में शाम 6:00 बजे के करीब शव दफन किया गया।

एक गोली सिर में फंसी है एक गोली निकल गई
सोमवार को निवेदिता उर्फ डेविना मेजर का पोस्टमार्टम किया गया। डेविना को बदमाशों ने दो गोली मारी थी। पेट की गोली पीठ के रास्ते बाहर निकल गई थी वहीं ठुड्ढी के पास लगी गोली सिर में फंसी थी। डॉक्टरों ने एक गोली बाहर निकाली है। ठुड्ढी के पास से लगी गोली से ही डेविना की मौका-ए वारदात पर मौत हो गई है।

बेटी की हालत गंभीर लखनऊ रेफर
डेविना की बेटी की हालत गंभीर बनी हुई है। रविवार की रात में खून का रिसाव बंद न होने पर डॉक्टरों ने उसे केजीएमयू के लिए रेफर कर दिया था। लखनऊ के एक प्राइवेट अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। हालत अभी गंभीर बनी हुई है।

दूसरे दिन भी चलती रही दबिश 
पुलिस की दबिश जारी है। शाहपुर पुलिस ने पूछताछ के आधार पर सोमवार को भी कुछ लोगों को उठाया है। पुलिस को उनसे कई अहम जानकारियां मिली हैं। उसी आधार पर पुलिस ने अन्य बदमाशों की भी तलाश शुरू कर दी है। हालांकि पुलिस अफसरों का कहना है कि तफ्तीश जारी है। पूछताछ के आधार पर दबिश चल रही है। अभी कुछ ज्यादा प्रगति नहीं है जल्द ही खुलासा किया जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:public said teacher devina murder was not for loot