ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशअग्निपथ बवाल: फर्रुखाबाद में पत्थरबाजी, पुलिस से भिड़े युवा, चार युवक गिरफ्तार

अग्निपथ बवाल: फर्रुखाबाद में पत्थरबाजी, पुलिस से भिड़े युवा, चार युवक गिरफ्तार

केन्द्र सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर शुरू हुआ विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को फर्रुखाबाद में सेना भर्ती में अग्निपथ योजना को लेकर युवा विरोध में उतर आए।

अग्निपथ बवाल: फर्रुखाबाद में पत्थरबाजी, पुलिस से भिड़े युवा, चार युवक गिरफ्तार
Dinesh Rathourसंवाददाता,फर्रुखाबादSun, 19 Jun 2022 04:57 PM
ऐप पर पढ़ें

केन्द्र सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर शुरू हुआ विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। रविवार को फर्रुखाबाद में सेना भर्ती में अग्निपथ योजना को लेकर युवा विरोध में उतर आए। रविवार को विरोध प्रदर्शन के लिए एकत्र हो रहे नौजवानों को जब पुलिस ने दौड़ाया तो नौजवानों ने रेलवे ट्रैक पर पत्थरबाजी कर दी। पुलिस ने घेराबंदी करके चार युवकों को गिरफ्तार कर लिया। युवाओं ने कानपुर जा रही ट्रेन पर भी पथराव करने का प्रयास किया।

युवाओं के विरोध को भांपकर जिले भर में पुलिस और प्रशासन के अफसर अलर्ट हो गये। स्टेशन के साथ साथ प्रमुख स्थानों पर सुरक्षा लगायी गयी। सड़कों पर पुलिस ने नौजवानों पर पूरी नजर रखी। सुबह पुलिस को जानकारी मिली कि लालगेट के फब्बारा के नजदीक भर्ती प्रक्रिया के विरोध में नौजवान एकत्र हो रहे हैं। इस पर पुलिस अलर्ट हो गयी। पुलिस की सक्रियता को देखते हुए नौजवान ठंडी सड़क पर डिग्गी ताल की ओर पहुंच गए।

दो दर्जन से अधिक युवा अपने अन्य साथियों के आने की राह देख रहे थे। इस बीच पुलिस को उनके ठिकाने का पता चला गया। सीओ सिटी पुलिस बल को साथ लेकर मौके पर पहुंच गये। पुलिस को आता देख कई युवा भाग खड़े हुये। सीओ ने युवाओं को रोककर समझाया। कहा कि अगर सड़कों पर उतरोगे तो कानूनी कार्रवाई होगी। आप लोग देश का भविष्य हो। भर्ती प्रक्रिया आपके भविष्य के लिए बेहतर है इस पर युवा मान गये और डीएम के नाम ज्ञापन देकर यहां से चले गये। हालंाकि युवाओं ने कहा कि वह चार साल से तैयारी कर रहे हैं। सरकार की नीति खिलाफ है। उनके साथ नाइंसाफी हुई है।

पुरानी भर्ती प्रक्रिया को ही लागू किया जाए। इसके बाद पुलिस को पता चला कि बड़ी संख्या में युवक बद्री विशाल डिग्री कालेज के पीछे अंडियाना इलाके में एकत्र हो रहे हैं। इस पर पुलिस की टीम उस ओर दौड़ पड़ी। पुलिस को आता देखय् युवा भागकर रेलवे क्रासिंग श्यामनगर की ओर दौड़ पड़े। पुलिस पीछे पीछे हो ली। इस बीच कुछ युवाओं ने भारत माता का झंडा लहराया और कुछ युवाओं ने भाग रहे पुलिस कर्मियों को रोकने के लिए ट्रैक से पत्थर उठाकर फेंकना शुरू कर दिया। पुलिस ने एक युवक को दौड़ाकर पकड़ लिया। जबकि तीन युवक एक मक्के के खेत में छिप गये। फोर्स ने खेत को घेर लिया।

आंसू गैस का गोला फेंका। मक्के के खेत में छिपे तीन नौजवानों को निकालने के लिए एक सिपाही घुसा तो युवक उससे भिड़ गये और उसे खेत में ही गिरा लिया। इस पर सिपाही की आवाज सुनकर फोर्स खेत में पहुंचा और तीनो युवकों को पकड़कर कोतवाली ले आयी। सीओ प्रदीप सिंह ने बताया कि भर्ती प्रक्रिया के विरोध में कुछ नौजवान ट्रेन पर पथराव करने का प्रयास कर रहे थे। इस पर चार युवकों को पकड़ लिया गया है। उन्होंने बताया कि कोई भी नौजवान  प्रमुख रोड पर प्रदर्शन के लिए नहीं आ सका। क्योंकि पूरे क्षेत्र में पुलिस की सक्रियता है। जो युवक पकड़े गये हैं उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। 

युवाओं के उत्पात को देखकर रेलवे ट्रैक की बढ़ाई सुरक्षा

कानपुर जा रही ट्रेन पर पथराव के प्रयास के बाद पुलिस ने युवाओं के उत्पात को देखते हुए रेलवे ट्रैक की चौकसी बढ़ा दी। स्टेशन पर खासी चौकसी रखी गयी। रेलगाड़ियां पुलिस की निगरानी में गुजारी गयीं। सुबह को जिस तरह से नौजवान शहर क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन के लिए एकत्र होने लगे थे उस पर पुलिस पूरी तरह अलर्ट हो गयी। सुबह को पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा भी सुरक्षा व्यवस्था परखने शहर में निकले। थानेदार भी अपने अपने इलाकों में अलर्ट थे। जिस तरह से युवा विरोध प्रदर्शन के लिए एकत्र हो रहे थे। उसको देखते हुए पुलिस ने जो सख्ती दिखायी उससे युवा सड़कों पर नहीं उतर पाये।

सूनसान इलाके से रेलवे ट्रैक की ओर ही दौड़ते रहे लेकिन उनका विरोध प्रदर्शन सफल नहीं हुआ। संख्या भी युवाओं की काफी कम रही। आरपीएफ के इंस्पेक्टर का कहना है कि फर्रुखाबाद से कानपुर जाने वाली किसी भी ट्रेन पर पथराव नहीं हुआ है। जिस समय युवा ट्रैक की ओर गये थे उस समय कोई ट्रेन ही नहीं थी। उन्होंने बताया कि फिर भी ट्रैक की चौकसी की जा रही है। सिविल पुलिस भी सहयोग में है। वहीं शमसाबाद के रेलवे स्टेशन पर पुलिस अलर्ट रही। नवाबगंज और शमसाबाद के थानाध्यक्ष ने पहुंचकर रेलगाड़ियों पर नजर रखी। पुलिस ने अपनी निगरानी में ही ट्रेनों को गुजरवाया। यहां पर भी नौजवानों के पहंुचने की खबर थी पर पुलिस सक्रियता से नौजवान नहीं पहुंचे। 

विरोध की पोस्ट डालने वाले को उठाया

रविवार की सुबह एक नौजवान के व्हाट्सएप पर संदेश डाला गया कि सुबह आठ बजे नौजवान लालगेट के पास एकत्र हों। सोशल मीडिया पर भी एक युवक का पत्र घूमने लगा। इसमें लिखा था कि फर्रुखाबाद-फतेहगढ़ में  आर्मी भर्ती को लेकर आंदोलन हो सकता है। आवाजाही कम करें। इस पर पुलिस एक्टिव हो गयी। जिसने पोस्ट डाली पुलिस ने उसको भी उठा लिया है। एसओजी की टीम उससे पूछताछ कर रही है कि आखिर उसने इस तरह की भड़काऊ पोस्ट क्यों डाली। इसके पीछे कौन है। पुलिस इस मामले पर पूरी तरह गंभीर है और सोशल मीडिया के सामने व्हाट्सएप पर भी नजर रखे हुये है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें