अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रपति का कानपुर दौराः सुरक्षा एेसी कि परिंदा भी पर न मार सकेगा

राष्ट्रपति के स्वागत के लिए सजाया गया वीएसएसडी कॉलेज का मुख्य द्वार।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के बुधवार को शहर आगमन पर सुरक्षा सख्त रहेगी। पांच किलोमीटर एरिया को नो फ्लाइंग जोन घोषित कर दिया गया है। उनके रहने तक किसी भी तरह का हेलीकॉप्टर और ड्रोन नहीं उड़ सकेगा। आतंकी हमलों को देखते हुए लावारिस वाहनों पर विशेष नजर रखी जाएगी। पास वालों का भी फिजिकल वेरीफिकेशन होगा। एडीजी सुरक्षा विजय ने मंगलवार को यह आदेश दिया।
कोविदं के कार्यक्रम को देखते हुए सीएसए के कैलाश भवन में एडीजी सुरक्षा, एडीजी जोन अविनाश चंद्र, आईजी आलोक सिंह, डीएम सुरेंद्र सिंह, एसएसपी अखिलेश कुमार मीणा ने पुलिस ब्रीफिंग की। पांचों कार्यक्रम को देखते हुए सीएसए विश्वविद्यालय के हेलीपैड पर लगाई गईं सभी झंडिया, गमले और झाड़ियों को हटाया जाएगा। रास्ते में पड़ने वाले सभी घरों को बंद रखा जाएगा। यहां तक कि खिड़की व दरवाजे तक नहीं खुल सकेंगे। सुबह सभी मकानों की चेकिंग होगी। संदिग्धों पर पूरी तरह से निगाह रहेगी। एडीजी सुरक्षा ने कहा कि पास होने के बावजूद अंदर आने वालों का फिजिकली वेरीफिकेशन जरूर किया जाएगा। बिना पास कोई प्रवेश नहीं कर पाएगा। आसपास के घरों और छतों पर पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे। जिन घरों में राष्ट्रपति को जाना है, वहां पर व्यूकटर लगाया जाएगा। डीएम ने कहा कि स्टेज पर मूवमेंट प्रतिबंधित रहेगा। लाइजन अधिकारी कोऑर्डिनेटर करेंगे। एडीएम सिटी सतीश पाल, एडीएम फाइनेंस संजय चौहान,  एडीएम भू/अध्याप्ति समीर वर्मा, एसपी वेस्ट गौरव ग्रोवर और एसपी सिटी अनुराग आर्या आदि मौजूद रहे। 
मोबाइल पर नहीं, ड्यूटी पर निगाह रखे पुलिस
एडीजी जोन ने कहा कि नोएडा में एक कार्यक्रम के दौरान फ्लीट गलत रोड पर चली गई थी। इसलिए फ्लीट को लीड करने वाले रोड का रिहर्सल बेहतर ढंग से करा लें। सभी पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी पर सुबह 7:30 पर आ जाएं। मफलर, जैकेट, बढ़ी हुई दाढ़ी व बाल में कोई पुलिसकर्मी न आए। पुलिसकर्मी ड्यूटी छोड़कर नहीं जाएंगे। वीआईपी को देखने की भी जरूरत नहीं है। सिर्फ ड्यूटी पर ध्यान रहें। मोबाइल पर नहीं ड्यूटी पर निगाह रखें। देर से पहुंचने पर कार्रवाई होगी। 
सभी रास्तों पर बैरियर व रस्सा लगाएं
 एसएसपी ने कहा कि राष्ट्रपति के रूट पर बैरियर लगा दें। जहां जरूरत हो, वहां पर रास्ते को रस्से से बंद किया जाएगा। रास्ते को इतनी दूर से बंद करके कि अगर कोई कुछ फेंके तो उनकी फ्लीट तक न पहुंचे। रास्ते में चल रहे सभी तरह के कामों को बंद करा दिया जाए। रोड पर पड़े मलबे को हटा दिया जाए। छतों पर भी सुरक्षा कर्मी तैनात किए जाएं। बड़े अफसर को छोड़कर बाकी गाड़ियां फ्लीट के पीछे ही चलेंगी। इसलिए उनको ओवरटेक न करें। 
900 सिपाही, 161 सब इंस्पेक्टर तैनात 
राष्ट्रपति की सुरक्षा व्यवस्था में भारी पुलिस बल को तैनात किया गया है। एडीजी ने बताया कि सुरक्षा में छह एसपी, 13 एएसपी,  30 डीएसपी, 56 थानेदार व इंस्पेक्टर, 161 सब इंस्पेक्टर, 22 महिला कांस्टेबल, 900 पुरुष कांस्टेबल, 75 ट्रैफिक सिपाही को तैनात किया गया है। पांच स्थलों पर पुलिस कर्मी चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेंगे। कई पुलिस कर्मी ब्रीफिंग में नहीं आए हैं। इसलिए उनको सूचना दे दी जाए। अगर कोई ड्यूटी से गाश्यब मिला तो उस पर कार्रवाई तय है। 
सीसीटीवी व माल्यार्पण पर अतिरिक्त फोर्स लगेगी
आईजी ने कहा कि पांचों रास्ते व परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए जाएं। वीएसएसडी कॉलेज में लगी बैरिस्टर नरेंद्रजीत सिंह की प्रतिमा और चंद्रशेखर आजाद की मृर्ति पर राष्ट्रपति को माल्यार्पण करना है। इसलिए वहां पर फोर्स मुस्तैद रहनी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Presidents visit to Kanpur Security will remain strict