DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  यूपी के पहले आयुष विश्‍वविद्यालय का शिलान्‍यास करेंगे राष्‍ट्रपति कोविंद, तैयारियां तेज

उत्तर प्रदेशयूपी के पहले आयुष विश्‍वविद्यालय का शिलान्‍यास करेंगे राष्‍ट्रपति कोविंद, तैयारियां तेज

राजीव दत्‍त पांडेय ,गोरखपुर Published By: Ajay Singh
Fri, 11 Jun 2021 10:01 PM
यूपी के पहले आयुष विश्‍वविद्यालय का शिलान्‍यास करेंगे राष्‍ट्रपति कोविंद, तैयारियां तेज

गोरखपुर में स्थापित होने वाले उत्‍तर प्रदेश के पहले आयुष विश्वविद्यालय महायोगी गुरु गोरक्षनाथ आयुष विश्वविद्यालय का शिलान्यास राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद करेंगे। शुक्रवार को दिल्ली में मुलाकात कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विश्वविद्यालय के शिलान्यास के लिए राष्ट्रपति का समय लिया है। उधर इसी जिला प्रशासन ने भी इस सूचना के साथ शिलान्यास की तैयारियों में जुट गया है। संभावना वक्त किया जा रहा कि शिलान्यास का कार्यक्रम इस माह आयोजित होगा। 

शुक्रवार को जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पाण्डियन ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सदर कुलदीप मीणा और तहसीलदार डा. संजीव दीक्षित के साथ इस विवि के लिए चिन्हित जमीन का निरीक्षण कर जरूरी तैयारियों के निर्देश दिए। आयुष विश्वविद्यालय के लिए भटहट क्षेत्र के पिपरी और तरकुलहां में करीब 52 एकड़ जमीन चिन्हित की गई है। प्रशासन के मुताबिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शिलान्यास करने गोरखपुर आ सकते हैं या फिर वर्चुअल जुड़ सकते हैं। कार्यक्रम स्थल पर फिलहाल तीन हैलीपैड बनाए जाएंगे। फिलहाल आयुष विश्वविद्यालय के पहले मलमलिया, फिर बास स्थान अब भटहट में जमीन चिन्हित की गई है जिसकी जमीन स्वास्थ्य विभाग को स्थानांतरित हो गई है। 

मनरेगा के तहत तरकुलहा ड्रेनेज की सफाई के निर्देश
निरीक्षण के दौरान कुछ हिस्से में जलभराव देख डीएम के विजयेंद्र पांडियन ने नाराजगी व्यक्त किया। लेखपाल संदीप कुमार ने बताया कि यहां बारिश का पानी तरकुलहा गांव होते हुए ड्रेनेज के माध्यम से तुर्रा नाले में जाता है। लेकिन तरकुलहा निवासी लोगों ने ड्रेनेज में मिट्टी डाल कर उसे पाट दिया है। कुछ ने पक्का निर्माण कर बहाव बाधित कर दिया जिसके कारण जलभराव हो रहा है। डीएम ने भटहट की खंड विकास अधिकारी कृतिका अवस्थी को फाइल तैयार कर मनरेगा मद से ड्रेनेज साफ कराने का निर्देश दिया। सदर तहसीलदार को निर्देशित किया कि पुलिस लेकर अवैध कब्जा हटाए।

जल्द ही स्टाफ काम करना करेगा शुरू
सीएम के निर्देश पर जिला प्रशासन ने सीतापुर आंख का अस्पताल के परिसर में तीन हॉल में विवि के कुलपति समेत उनके 25 स्टाफ के बैठने का इंतजाम भी कर दिया है। जल्द ही यहां कुलपति और 20 से 25 स्टाफ काम करना शुरू कर देगा। कुलपति के रहने के लिए एक बंगला भी आवंटित है। 

2022-23 में शुरू हो जाएगी पढ़ाई
सीएम योगी ने आयुष विश्वविद्यालय में महाविद्यालयों की संबद्धता और अन्य प्रशासनिक कार्य सत्र 2021-22 से और विश्वविद्यालय में शिक्षण कार्य सत्र 2022-23 से प्रारंभ करने के पहले ही निर्देश दे चुके हैं। सीएम योगी ने आयुष विश्वविद्यालय खोलने का निर्णय लेते सीएम पिछले बजट में इसके लिए 10 करोड़ रुपये प्रावधान किया था। निर्माण पर तकरीबन 817 करोड़ की धनराशि खर्च होने का अनुमान है।

एक जगह यूनानी, आयुर्वेदिक, होम्योपैथी और योग चिकित्सा
आयुष विवि खुलने से एक ही छत के नीचे ही आयुर्वेदिक, यूनानी, सिद्धा, होम्योपैथी और योग चिकित्सा की पढ़ाई और उस पर शोध कार्य हो सकेगा। प्रदेश के यूनानी और होम्योपैथी कॉलेज भी इससे संबद्ध किए जाएंगे। यूपी में लखनऊ, वाराणसी, झांसी, प्रयागराज, बरेली, बांदा, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत में आयुष मेडिकल कॉलेज हैं। पढ़ाई के साथ ही इन पद्धतियों से यहां पर विभिन्न रोगों का इलाज भी संभव हो सकेगा।

संबंधित खबरें