DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › दिल्ली, यूपी, महाराष्ट्र समेत छह प्रदेशों में एक साथ 15 शहरों में सीरियल ब्लास्ट की थी तैयारी
एनसीआर

दिल्ली, यूपी, महाराष्ट्र समेत छह प्रदेशों में एक साथ 15 शहरों में सीरियल ब्लास्ट की थी तैयारी

रमेश त्रिपाठी,नई दिल्लीPublished By: Deep Pandey
Wed, 15 Sep 2021 07:18 AM
दिल्ली, यूपी, महाराष्ट्र समेत छह प्रदेशों में एक साथ 15 शहरों में सीरियल ब्लास्ट की थी तैयारी

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और यूपी एटीएस के ऑपरेशन में गिरफ्तार किए गए आतंकियों के निशाने पर त्योहारी सीजन में दिल्ली, यूपी, महाराष्ट्र सहित छह प्रदेशों के 15 शहर थे। इन शहरों की यह मॉड्यूल रेकी कर वहां बड़े पैमाने पर सीरियल ब्लास्ट करने की साजिश रच रहा था। इसके लिए मॉड्यूल के अलग-अलग संदिग्धों और उनके नेटवर्क से जुड़े लोगों के जिम्मे अलग-अलग काम सौंपा गया था। यह खुलासा मामले की जांच से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने किया। उन्होंने बताया कि अभी पूछताछ जारी है और कई और सनसनीखेज खुलासे हो सकते हैं। 

आईएसआई द्वारा ऐसे तैयार किया गया मॉड्यूल

आरोपी ओसामा 22 अप्रैल, 2021 को सलाम एयर की फ्लाइट से लखनऊ से मस्कट, ओमान के लिए रवाना हुआ वहां पहुंचा। वहां उनकी मुलाकात इलाहाबाद निवासी जीशान से हुई। जो पाकिस्तान में प्रशिक्षण में शामिल होने के लिए भारत से वहां पहुंचा था। 
उसके साथ 15-16  बांग्ला भाषी लोग भी शामिल हुए थे। उन्हें उप-समूहों में विभाजित किया गया और जीशान और ओसामा को एक समूह में रखा गया था। अगले कुछ दिनों में, कई छोटी समुद्री यात्राओं नाव के जरिये कराई गईं। फिर उन्हें ग्वादर बंदरगाह, पाकिस्तान के पास स्थित शहर जियोनी ले जाया गया। वहाँ उनका स्वागत एक पाकिस्तानी ने किया जो उन्हें पाकिस्तान के थट्टा में एक फार्म हाउस में ले गया।

फार्म हाउस में तीन पाकिस्तानी नागरिक थे। इनमें से दो जब्बारंद हमजा ने उन्हें प्रशिक्षण दिया। ये दोनों पाकिस्तानी सेना से थे। उन्होंने सैन्य वर्दी पहनी थी। उन्हें दैनिक उपयोग की वस्तुओं की मदद से बम और आईईडी बनाने और आगजनी करने का प्रशिक्षण दिया गया। उन्हें छोटे हथियारों और एके-47 को संभालने और उपयोग करने का भी प्रशिक्षण दिया गया था। इस तरह से प्रशिक्षण करीब 15 दिनों तक चला और उसके बाद, उन्हें उसी मार्ग से मस्कट वापस ले जाया गया। जहां से इन्होंने भारत के विभिन्न प्रदेशों में स्थित शहरों में पहुंच कर अपना काम गुप्त रूप से करना शुरू कर दिया था।  

ऐसे हुआ मॉड्यूल का खुलासा

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को केंद्रीय खुफिया एजेंसी से इनपुट मिला  कि  पाक खुफिया इकाई आईएसआई और अंडरवर्ल्ड के गठजोड़ से तैयार किया गया एक मॉड्यूल भारत में बड़े पैमाने पर सीरियल आईईडी ब्लास्ट की वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहा है। इसके लिए, सीमा पार के स्रोत अपने नेटवर्क से इन्हें आइईडी की व्यवस्था कर रहे हैं। इनपुट्स के आधार जांच आगे बढ़ी और पुलिस ने  दिल्ली के ओखला इलाके में और महाराष्ट्र में इस मॉड्यूल का एक महत्वपूर्ण हिस्से के रूप मे काम करने वाले संदिग्धों पर ध्यान केंद्रित किया गया। यूपी और महाराष्ट्र सहित देश के विभिन्न हिस्सों में उनके सहयोगियों पर नजर रखनी शुरू हुई। कई टीमों को मुंबई में महाराष्ट्र और लखनऊ, प्रयागराज, राय-बरेली, प्रतापगढ़, यूपी में एक साथ तैनात किया गया था। इस तरह से खुफिया इनपुट के आधार पर विभिन्न राज्यों में एक साथ छापेमारी की गई तो पहले अंडरवर्ल्ड ऑपरेटिव जान मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया को राजस्थान के कोटा को उस वक्त दबोचा गया जब वह दिल्ली जा रहा था। वहीं ओसामा को दिल्ली के ओखला से, मोहम्मद अबू बकर को दिल्ली के सराय काले खां से, जबकि जीशान को यूपी के इलाहाबाद से गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा मोहम्मद आमिर जावेद को यूपी के लखनऊ से और मूलचंद उर्फ साजू उर्फ लाला को यूपी के रायबरेली से पकड़ा गया था।

संबंधित खबरें