DA Image
25 मार्च, 2020|3:15|IST

अगली स्टोरी

प्रयागराज के संतों की राय, मंदिर निर्माण शुरू करने की सर्वश्रेष्ठ तिथि रामनवमी

ayodhya ram temple

दिल्ली में राम मंदिर के लिए नवगठित श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की पहली बैठक पूरी होने के बाद सभी की नजर मंदिर निर्माण की तारीख घोषित होने पर लगी हुई है। प्रयागराज के संतों का मत है कि मंदिर निर्माण के लिए सर्वश्रेष्ठ तारीख रामनवमी होगी। संतों का मानना है कि महाशिवरात्रि के बाद होलाष्टक लग जाता है। होलाष्टक में शुभ काम नहीं कराया जाना चाहिए। ऐसे में नवरात्र की नवमी तिथि जिस दिन भगवान राम का जन्म हुआ था, वह मंदिर निर्माण के लिए सर्वश्रेष्ठ दिन होगा।

संतों ने इस बारे में श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्यों को राय दी है कि अगर इस तारीख को मंदिर निर्माण शुरू हो सके तो वह सर्वश्रेष्ठ होगा। हालांकि मंदिर निर्माण की तारीख अयोध्या में ट्रस्ट की निर्माण समिति की बैठक के बाद ही तय होगा। जूना अखाड़े के संरक्षक महंत हरिगिरि ने बताया कि वैसे तो भगवान राम का काम किसी भी दिन शुरू किया जा सकता है, लेकिन उनके अनुसार सर्वश्रेष्ठ दिन रामनवमी होगा। क्योंकि इसी दिन भगवान राम का जन्म हुआ था।

राम मंदिर निर्माण में किसी तरह की कड़वाहट पैदा नहीं होनी चाहिए, मोदी ने ट्रस्ट के सदस्यों से कहा

वैसे भी महाशिवरात्रि के बाद होलाष्टक लग जाता है। होलाष्टक में सनातन धर्मी शुभ काम शुरू नहीं करते हैं। नवरात्र लगने पर मंदिर निर्माण तो नवरात्र की प्रतिपदा से शुरू हो सकता है, लेकिन जब इतने दिन रुकना है तो नवमी सर्वश्रेष्ठ समय होगा। हालांकि वैशाख में भी कई दिन शुभ हैं।

महंत हरिगिरि ने नव निर्वाचित सदस्यों और पदाधिकारियों को बधाई दी है। उम्मीद जाहिर की है कि जल्द ही मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा। योगगुरु आनंद गिरि का कहना है कि नवमी बेहतरीन दिन है। उन्हें उम्मीद है कि इसी दिन से समिति निर्माण शुरू करने की तारीख का ऐलान करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि हालांकि बैठक में विचार के बाद ही वह तारीख सामने आएगी जिस पर मंदिर निर्माण शुरू होगा। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Prayagraj saint Ayodhya Ram Temple Construction Start from ram navami