ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश'कांग्रेस को हिन्‍दुओं पर भरोसा नहीं', प्रियंका के वायनाड से लड़ने के फैसले पर प्रमोद कृष्‍णन ने साधा निशाना 

'कांग्रेस को हिन्‍दुओं पर भरोसा नहीं', प्रियंका के वायनाड से लड़ने के फैसले पर प्रमोद कृष्‍णन ने साधा निशाना 

Pramod Krishnan: प्रियंका गांधी वाड्रा वायनाड से उपचुनाव लड़ेंगी। अब कांग्रेस के इस फैसले को लेकर विपक्ष हमलावर हो गया है। आचार्य प्रमोद कृष्‍णन ने भी इसे लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा है।

'कांग्रेस को हिन्‍दुओं पर भरोसा नहीं', प्रियंका के वायनाड से लड़ने के फैसले पर प्रमोद कृष्‍णन ने साधा निशाना 
Ajay Singhलाइव हिन्‍दुस्‍तान,लखनऊTue, 18 Jun 2024 12:58 PM
ऐप पर पढ़ें

Pramod Krishnan: लोकसभा चुनाव में दो सीट से जीत दर्ज करने के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने रायबरेली सीट से सांसद रहने का फैसला किया है। सोमवार को पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के साथ बैठक के बाद उन्होंने वायनाड सीट छोड़ने का फैसला किया। उनकी जगह पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा वायनाड से उपचुनाव लड़ेंगी। अब कांग्रेस के इस फैसले को लेकर विपक्ष हमलावर हो गया है। लोकसभा चुनाव से कुछ समय पहले कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए आचार्य प्रमोद कृष्‍णन ने भी इसे लेकर निशाना साधा है। 

सोशल मीडिया प्‍लेटफार्म 'एक्‍स' पर एक पोस्‍ट में प्रमोद कृष्‍णन ने कहा कि प्रियंका गांधी को वायनाड से लड़वाकर कांग्रेस ने एक बात सिद्ध कर दिया है कि उन्हें हिन्दुओं पर भरोसा नहीं है। उपचुनाव में प्रियंका गांधी को टिकट देकर कांग्रेस में उनके कद को छोटा करने की कोशिश हो रही है। राहुल गांधी द्वारा ईवीएम पर दिए गए बयान को लेकर उन्‍होंने कहा कि वे EVM पर सवाल उठा रहे हैं। खराबी मशीन में नहीं, ख़राबी और वायरस इनके दिमाग में है।

बता दें कि वायनाड सीट छोड़ने से पहले सोमवार को राहुल गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी और कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी अध्यक्ष खड़गे से उनके आवास पर मुलाकात की। इस दौरान संगठन प्रभारी केसी वेणुगोपाल भी मौजूद थे। मुलाकात के बाद मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि राहुल गांधी रायबरेली से सांसद बने रहेंगे और प्रियंका गांधी वायनाड से उपचुनाव लड़ेंगी।

राहुल बोले, नाता नहीं खत्म हुआ 
इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि वो भले ही वायनाड सीट छोड़ रहे हैं लेकिन वहां से उनका नाता खत्म नहीं हुआ है। उनका वायनाड में आना-जाना लगा रहेगा। वहीं, प्रियंका गांधी ने पुराने स्लोगन लड़की हूं, लड़ सकती हूं का जिक्र करते हुए कहा कि वह वायनाड से उपचुनाव लड़ेंगी।

केरल में डेढ़ साल बाद होंगे विधानसभा चुनाव 
दरअसल, केरल में करीब डेढ़ साल बाद विधानसभा चुनाव हैं। ऐसे में राहुल गांधी के वायनाड छोड़कर रायबरेली सीट चुनने से प्रदेश में गलत संदेश जा सकता है। इसका नुकसान पार्टी को उपचुनाव और विधानसभा में हो सकता हैं। इसलिए पार्टी ने प्रियंका गांधी को वायनाड से उम्मीदवार बनाने का फैसला किया है। प्रियंका गांधी वाड्रा के लोकसभा चुनाव में उम्मीदवारी के बाद यह साफ हो गया है कि कांग्रेस अब बैकफुट पर खेलने के हक में नही हैं।