DA Image
3 जनवरी, 2021|3:10|IST

अगली स्टोरी

UP MLC Election 2020: 11 सीटों पर 199 प्रत्‍याशियों का भाग्‍य मतपेटियों में बंद, तीन दिसम्‍बर को आएगा परिणाम

उत्‍तर प्रदेश विधानपरिषद की 11 सीटों के लिए मंगलवार को सुबह आठ बजे से शाम पांच तक मतदान हुआ। इसके साथ ही भाजपा, सपा, कांग्रेस, विभिन्‍न शिक्षक संगठन और निर्दलीय मिलाकर कुल 199 प्रत्‍याशियों के भाग्‍य का फैसला मतपेटियों में बंद हो गया। इस चुनाव से बहुजन समाज पार्टी ने किनारा कर लिया था। परिणाम तीन दिसम्‍बर को आएंगे। 

मंगलवार को हुए मतदान में सुबह वोटिंग की रफ्तार जहां काफी धीमी थी वहीं शाम होते-होते यह काफी तेज हो गई। शाम पांच बजे तक गोरखपुर-फैजाबाद शिक्षक निर्वाचन सीट पर 73.94 प्रतिशत मतदान हुआ। भदोही में शिक्षक सीट पर 69.49 प्रतिशत, स्नातक सीट पर 39.08 प्रतिशत, वाराणसी में स्‍नातक सीट पर 32.44 प्रतिशत, शिक्षक निर्वाचन सीट पर 65.84 प्रतिशत, जौनपुर में खंड शिक्षक निर्वाचन सीट पर  71.99 प्रतिशत, स्नातक निर्वाचन सीट पर 37 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया था। चंदौली में शिक्षक एमएलसी सीट पर 75.03 प्रतिशत और स्‍नातक सीट पर 46.31 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

इस बीच, मतदान के बीच फर्रुखाबाद और मैनपुरी से मारपीट की खबर भी आई। फर्रुखाबाद के मोहम्मदाबाद के बूथ पर फर्जी वोटिंग को लेकर सपा और भाजपा के कार्यकर्ता भिड़ गए। उनके बीच जमकर मारपीट हुई। पुलिस ने एक युवक को हिरासत में ले लिया। वहीं मैनपुरी में भी मतदान करने गए भाजपा और सपा समर्थकों के बीच जमकर विवाद हुआ। दोनों के बीच फायरिंग भी हुई। मतदान स्थल पर फायरिंग की खबर से प्रशासन में हड़कंप मच गया। कस्बा करहल में शिक्षक एमएलसी चुनाव के लिए मंगलवार सुबह से मतदान चल रहा था। इसी दौरान भाजपा और सपा समर्थक भी मतदान करने पहुंचे। बताते हैं कि दोनों में किसी बात को लेकर विवाद हो गया। देखते ही देखते दोनों पार्टियों के समर्थकों ने फायरिंग शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि लोगों में दहशत फैलान के लिए करीब आधा दर्ज राउंड गोलियां चलाई गईं। मतदान स्थल पर फायरिंग की खबर से प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन-फानन डीएम और एसपी मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया।

शाम पांच बजे तक पीलीभीत में 74.63 फीसदी मतदान हो गया था। बरेली में 65.81 प्रतिशत, बदायूं में 72.33, शाहजहांपुर में 74.07 प्रतिशत, मुरादाबाद 73.07 प्रतिशत, रामपुर 72.72 प्रतिशत, अमरोहा 83.22 प्रतिशत, संभल 72.95 प्रतिशत, बिजनौर में 72.55 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस तरह बरेली-मुरादाबाद खंड शिक्षक निर्वाचन सीट पर 73.48 प्रतिशत मतदान हुआ था। वहीं लखीमपुर खीरी में चार बजे तक स्नातक के लिए 38.5 प्रतिशत और शिक्षक के लिए 69.4 प्रतिशत वोटिंग हुई है। मेरठ में शिक्षक के लिए 59.28 प्रतिशत और स्नातक के लिए 38.83 प्रतिशत, सहारनपुर में शिक्षक के लिए 63.80 प्रतिशत और स्नातक के लिए 33.57 प्रतिशत, शामली में शिक्षक के लिए 65.11 प्रतिशत और स्नातक के लिए 47.64 प्रतिशत, बुलंदशहर में शिक्षक के लिए 59.59 प्रतिशत और स्नातक के लिए 39.12 प्रतिशत, हापुड़ में शिक्षक के लिए 55 प्रतिशत और स्नातक के लिए 28 प्रतिशत, बागपत में शिक्षक के लिए 65.83 प्रतिशत और स्नातक के लिए 37.72 प्रतिशत, मेरठ मुजफ्फरनगर में शिक्षक के लिए 55.8 प्रतिशत और स्नातक के लिए 41.2 प्रतिशत वोटिंग हुई। गोरखपुर जिले में दोपहर 12 बजे तक 25.17 फीसद वोट पड़े। जबकि देवरिया में 31.83 प्रतिशत वोट पड़े थे।

चार बजे तक बरेली-मुरादाबाद खंड शिक्षक निर्वाचन सीट पर 69.72 प्रतिशत मतदान हुआ। शाम चार बजे तक सीतापुर में शिक्षक निर्वाचन की सीट पर 66.05 प्रतिशत और स्‍नातक निर्वाचन सीट पर 33.60 प्रतिशत मतदान हुआ। बहराइच में 71.19 प्रतिशत वोट पड़े। गोरखपुर-फैजाबाद सीट पर अमेठी में 67.85 प्रतिशत मतदान हुआ। अयोध्‍या में 64.25 प्रतिशत और रायबरेली में स्‍नातक एमएलसी सीट पर 35.32 प्रतिशत और शिक्षक एमएलसी सीट पर 63.86 प्रतिशत मतदान हुआ। 

वहीं इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक के लिए दो बजे तक 24 प्रतिशत मतदान हुआ।गोरखपुर में कई बूथों पर मतदाताओं की कतारें दिखने लगीं। उधर, फर्रुखाबाद में मोहम्मदाबाद के एक बूथ पर फर्जी वोटिंग को लेकर सपा और भाजपा के कार्यकर्ता भिड़ गए। उनके बीच मारपीट होने लगी। पुलिस ने एक युवक को हिरासत में ले लिया है। 

पीलीभीत में मतदान के शुरुआती दो घंटे में भी स्नातक शिक्षकों ने जमकर मताधिकार का प्रयोग किया। मतों का प्रयोग करने में देखी गई तेजी से जिले में मत प्रतिशत बढिया रहने की उम्मीद की जा रही है। माना जा रहा है कि शाम पांच बजे तक रिकार्ड प्रतिशतर्ग्ज किया जाएगा। इधर अमरिया क्षेत्र में डीएम और एसपी ने पहुंच कर मतदान प्रक्रिया का जायजा लिया।

जिले में 1967 कुलों के लिए बीसलपुर, पूरनपुर, अमरिया और सदर क्षेत्र में सात बूथ बनाए गए हैं। यहां मताधिकार का प्रयोग करने के दौरान कोविड नियमों का पालन कराने की भी जिम्मेदारी मतदान अधिकारियों को दी गई है। वहीं जिले में सुबह आठ बजे से दस बजे के बीच कुल 152 मत डाले गए। यह कुल 7.7 फीसद दर्ज किया गया है। डीएम पुलकित खरे और एसपी जय प्रकाश ने अमरिया में निरीक्षण से पूर्व कंट्रोल रूम में जाकर व्यवस्थाओं को देखा और जानकारी हासिल की।

वाराणसी में सुबह 10 बजे तक स्नातक एमएलसी के लिए तीन बूथों पर कुल 2103 वोट में 87 वोट पड़े। जबकि शिक्षक एमएलसी के लिए 317 वोटों में 35 वोट पड़े। मतदान केंद्र पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं। सुरक्षाकर्मी केंद्र पर मुस्तैद दिखे। बाराबंकी में भी मतदान काफी सुस्त रफ्तार से चल रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों की अपेक्षा शहर में इक्का दुक्का मतदाता ही नजर आ रहे हैं। जिले में बनाए गए 49 बूथों पर 2 घंटे बाद 10 बजे तक स्नातक एमएलसी पद के लिए 3.9 प्रतिशत तो शिक्षक एमएलसी पद के लिए कुल 5.5 प्रतिशत वोट पड़े।

शाहजहांपुर में अलग-अलग टीम बनाकर निकले अफसर 
शिक्षक एमएलसी चुनाव के लिए मंगलवार सुबह 8 बजे से शाहजहांपुर के 10 मतदान केंद्रों पर वोटिंग शुरू हुई। शुरुआती 2 घंटे में बेहद कम मतदान हुआ। केवल 9.62 प्रतिशत मतदान का आंकड़ा सुबह 8 से 10 के बीच आया है। शाहजहांपुर जिले में कुल 3896 वोट हैं, सुबह 8 से 10 बजे बीच 342 वोट डाले.गए। इस दौरान जिले के प्रशासनिक अधिकारी अलग-अलग मतदान केंद्रों का निरीक्षण करने के लिए निकले। डीएम इंद्रविक्रम सिंह नगर निगम, भावलखेड़ा, उप जिलाधिकारी प्रशासन रामसेवक द्विवेदी पुवायां पहुंचे, जहां उन्होंने मतदान केंद्र का निरीक्षण किया, यहां शुरुआत के 2 घंटे में केवल 19 वोट ही डाले गए थे। तिलहर में 371 मतदाताओं के सापेक्ष सुबह 11 बजे तक 60 मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग किया। खुटार में बरेली मुरादाबाद खंड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव के लिए मतदान जारी है। सुबह 10:50 बजे तक खुटार ब्लॉक मुख्यालय पर बने मतदान केंद्र में पड़े करीब 22 वोट पड़े। जलालाबाद में 124 मतदाताओं के सापेक्ष सुबह 11 बजे तक 35 मतदाताओं ने मत का प्रयोग किया।

वित्‍त मंत्री सुरेश खन्‍ना बोले-भाजपा की जीत पक्‍की
शाहजहांपुर में नगर निगम मतदान केंद्र पर शिक्षक एमएलसी चुनाव के लिए मतदान करने वालों की लंबी लाइन लग गई। यहां वैसे तो प्रशासन ने दावा किया था कि फेसकवर और सेनीटाइजर का इस्तेमाल किया जाएगा, लेकिन दिखा कुछ नहीं। वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, तिलहर विधायक रोशन लाल वर्मा भी अपने बूथ पर बैठे दिखाई पड़े। वित्त मंत्री ने कहा कि भाजपा प्रत्याशी हरि सिंह ढिल्लों की जीत पक्की है, वह भारी मतों से विजयी होंगे। वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि हरि सिंह ढिल्लों बिजनौर से लेकर शाहजहांपुर तक भारी मतों से जीत रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि 80% वोट हरि सिंह को मिलेंगे। 20 प्रतिशत में बाकी सभी लोग रहेंगे। दोनों ने आखिरी में एक नारा भी लगाया... कहां पड़े हो चक्कर में, कोई नहीं है टक्कर में।

जानिए कहां कितना हुआ मतदान

  • बरेली         - 65.81
  • बदायूं         - 72.33
  • शाहजहांपुर - 74.07
  • पीलीभीत    -  74.63
  • मुरादाबाद   -  73.07
  • रामपुर        -  72.72
  • अमरोहा      -  83.22
  • संभल         -  72.95
  • बिजनौर      -  72.55
  • कुल-   73.48 प्रतिशत

लखीमपुर खीरी की नंदिनी ने शादी से पहले निभाया मतदान का फर्ज 
चुनाव कोई भी हो, मतदान हमारा पहला फर्ज है। यह साबित किया है धौरहरा की नन्दिनी रस्तोगी ने। अपनी शादी में शरीक होने से पहले नन्दिनी ने वोट दिया। फिर मांगलिक कार्यक्रम में शामिल हुईं। धौरहरा कस्बे के बाजार वार्ड में रहने वाले रमेश रस्तोगी की बेटी नंदिनी रस्तोगी की मंगलवार को शादी है। मंगलवार को ही स्नातक एमएलसी के लिए मतदान हो रहा है। नंदिनी रस्तोगी ने सुबह नगर पंचायत बूथ पर पहुंचकर अपना मतदान किया। नंदिनी ने बताया कि हर चुनाव में सभी मतदाताओं को अपना वोट जरूर करना चाहिए। लोकतंत्र की मजबूती के लिए मतदान जरूरी है। मतदान के बाद वह शादी के लिए लखीमपुर परिवार के साथ रवाना हो गई।

बदायूं में धीमी गति से शुरू हुआ मतदान

बदायूं में शहर के अलावा 10 मतदेय स्थलों पर सुबह आठ बजे से मतदान प्रकिया जारी है। सभी बूथों पर सुरक्षा की लिहाज से नोडल अफसर के अलावा भारी संख्या में पुलिस और पीएसी मुस्तैद है। मतदान प्रकिया शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो रही है। मतदाता धीमी गति से सुबह 10 बजे तक मतदान के लिये निकले हैं। इसीके चलते 10 बजे तक मतदान प्रतिशत महज 6.75 प्रतिशत पहुंचा है। कुल मतदाताओं की बात की जाये तो 221 मतदाताओं ने ही अपने प्रत्याशी के लिये वोट किया है। 12 बजे जो रुझान आयेंगे, उसमें मतदान प्रतिशत बढ़कर 20 फीसदी तक पहुंचने का अनुमान हैं, इसकी वजह है मतदान अब घरों से निकलना शुरु हुये हैं। इधर जिला निर्वाचन अधिकारी कुमार प्रशांत, एडीएम वित्त नरेंद्र बहादुर सिंह सहित सभी अधिकारियों ने सभी मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया है, अभी तक कहीं पर कोई गड़बड़ी नहीं मिली है। शांतिपूर्ण ढंग से मतदान प्रकिया जारी है।

इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक चुनाव के लिए सुबह 10 बजे तक 3.9  फीसदी मतदान हुआ। सुबह ठंड के कारण मतदान के लिए लोग कम निकले। दोपहर तक मतदान के लिए भीड़ बढ़ने की संभावना है। मतदान शाम 5 बजे तक होगा। इसके बाद बैलट बॉक्स मेरी लूकस स्कूल में जमा होगा। एडीएम नजूल गंगाराम गुप्ता बैलट बॉक्स लेकर झांसी जाएंगे। झांसी में 3 दिसंबर को मतगणना होगी। एडीएम प्रशासन विजय शंकर दुबे ने बताया कि अब तक चुनाव शान्तिपूर्वक हुआ।

 

मतदान कानपुर नगर, कानपुर देहात और उन्नाव जिले को छोड़कर प्रदेश के सभी 72 जिलों में हो रहा है। राजनीतिक दलों ने इस चुनाव को भी राजनीति के रंग में पूरी तरह रंग दिया है। हर दल की कोशिश है कि वे इन 11 सीटों में ज्यादातर अपने पक्ष में कर ले जिससे विधान परिषद में भी उसकी ताकत बढ़ जाए। स्नातक कोटे की जिन पांच सीटों पर चुनाव हो रहे हैं उनमें दो वाराणसी और इलाहाबाद-झांसी सीट भाजपा के पास थीं।

 

आगरा सीट पर समाजवादी पार्टी, मेरठ तथा लखनऊ सीट पर शिक्षक दल का कब्जा था। शिक्षक वर्ग की छह-छह सीटों में तीन पर शिक्षक दल शर्मा गुट, एक पर सपा समर्थित और दो पर निर्दलीय काबिज थे। परिषद की इन सीटों पर कब्जा करने की कोशिश में राजनीतिक दलों ने अपनी विचारधारा को आगे कर रखा है।

कोरोना गाइडलाइन का किया जा रहा पालन

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर कोविड-19 के प्रोटोकाल का पूरी तरह पालन करवाया जा रहा है। इसके तहत मतदान कार्मिकों और वोटरों की सुरक्षा के लिए हर मतदान केन्द्र पर थर्मल स्कैनर, हैण्ड सैनेटाइजर, ग्लव्स, फेस मास्क, फेस शील्ड, पीपीई किट, साबुन, पानी आदि की समुचित व्यवस्था की गयी है। बूथ पर जाने वाले हर मतदाता की थर्मल स्कैनिंग की जा रही है।

लखीमपुर खीरी मेें डीएम-एसपी ने किया निरीक्षण

लखीमपुर खीरी में 34 हजार मतदाता हैं, जिनको स्नातक व शिक्षक एमएलसी पद के लिए वोट डालना है। इसके लिए लखीमपुर, गोला, मोहम्मदी, पलिया, बिजुआ, धौरहरा में मतदान केंद्र बनाए गए हैं। 19 मजिस्ट्रेटों की तैनाती भी की गई है। डीएम शैलेन्द्र सिंह, एसपी विजय ढुल ने मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया। साथ ही चेतावनी दी कि बिना मास्क के कोई वोटर बूथ में प्रवेश नहीं करेगा। बता दें कि कोरोना काल मे जिले में यह पहला चुनाव हो रहा है।

केन्द्रीय निर्वाचन आयोग ने कोविड-19 के प्रोटोकाल के तहत प्रत्येक मतदेय स्थल पर अधिकतम एक हजार वोटरों को ही वोट डालने की अनुमति प्रदान की है। निष्पक्ष और स्वतंत्र मतदान के लिए 11 प्रेक्षक तैनात किये गये हैं। इसके अलावा 952 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 413 जोनल मजिस्ट्रेट भी तैनात किये गये हैं। हर मतदेय स्थल पर माइक्रो आब्जर्वर की भी ड्यूटी लगायी गयी है। हर मतदेय स्थल की वीडियोग्राफी भी करवाई जाएगी।

खण्ड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र 
पांच सीटें: लखनऊ, आगरा, मेरठ, वाराणसी तथा इलाहाबाद-झांसी
कुल 12,69,817 वोटर और 1808 मतदेय स्थल, कुल 114 प्रत्याशी

खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र 
छह सीटें:लखनऊ, आगरा, मेरठ, वाराणसी, बरेली-मुरादाबाद, गोरखपुर-फैजाबाद
-कुल 2, 06, 335 वोटर और 813 मतदेय स्थल, कुल  84 प्रत्याशी

पूरे दम-खम से मैदान में उतरे सपा-भाजपा प्रत्याशी
विधान परिषद की स्नातक और शिक्षक निर्वाचन खंड की 11 सीटों पर पहली दिसंबर को होने वाले चुनाव में भी पूरी तरह राजनीतिक रंग चढ़ गया है। इस चुनाव में भी सत्तारूढ़ भाजपा और सपा के प्रत्याशी पूरे दम-खम से उतरे हैं। हालांकि शिक्षक संगठनों के प्रत्याशी भी चुनाव में अपनी सशक्त मौजूदगी बनाए हुए हैं। चुनाव में 11 सीटों पर कुल 199 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे हैं। सत्तारूढ़ भाजपा के लिए यह चुनाव इसलिए अहम है क्योंकि वह विधान परिषद में भी अपना संख्या बल बढ़ाना चाहती है। यही वजह है कि भाजपा ने स्नातक निर्वाचन खंड की सभी पांच सीटों से और शिक्षक निर्वाचन खंड की छह में से चार सीटों पर सीधे तौर पर अपना प्रत्याशी उतारा है।

शिक्षक निर्वाचन खंड की एक सीट पर भाजपा ने शिक्षक संघ के प्रत्याशी को समर्थन दिया है तो एक अन्य सीट को छोड़ दिया है। इस छोड़ी गई सीट पर निर्दलीय के रूप में भाजपा के तीन नेता चुनाव मैदान में हैं। सपा ने तो सभी 11 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे हैं। दोनों दलों की शिक्षक संगठनों के प्रत्याशियों से भिड़ंत होनी है। लखनऊ शिक्षक खंड के चुनाव में लखनऊ विश्वविद्यालय संबद्ध महाविद्यालय शिक्षक संघ (लुआक्टा) ने भी दावेदारी की है। उसके अध्यक्ष खुद प्रत्याशी हैं। पूर्व के चुनावों में ओम प्रकाश शर्मा की अगुवाई वाले उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ का दबदबा रहा है। ओम प्रकाश शर्मा खुद लंबे समय से विधान परिषद में शिक्षक विधायक दल के नेता रहे हैं। 

इनका कार्यकाल खत्म होने से खाली हुई हैं सीटें 
यह चुनाव लखनऊ शिक्षक निर्वाचन खंड से उमेश द्विवेदी, वाराणसी से चेत नारायण सिंह, आगरा से जगवीर किशोर जैन, मेरठ से ओम प्रकाश शर्मा, बरेली-मुरादाबाद से संजय कुमार मिश्रा और गोरखपुर-फैजाबाद खंड से ध्रुव कुमार त्रिपाठी का कार्यकाल छह मई 2020 को खत्म हो जाने के कारण कराया जा रहा है। 

बरेली में 23 बूथों पर हो रहा मतदान 
बरेली-मुरादाबाद खंड शिक्षक विधायक के लिए मंगलवार सुबह 8 बजे से मतदान की धीमी शुरुआत हुई। बरेली के ज्यादातर पोलिंग बूथों पर बहुत कम वोटर मताधिकार का प्रयोग करने पहुंचे। बरेली के 23 पोलिंग बूथों पर मतदान हो रहा है। मनोहर भूषण इंटर कॉलेज पर जरूर सुबह से ही वोटरों की लंबी कतार नजर आई। केडीईएम और जीआईसी बूथ खाली नजर आए। मतदान केंद्रों पर कोरोना प्रोटोकॉल का खास ध्यान रखा जा रहा है। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही बोतल को वोट डालने के लिए भेजा जा रहा है। हालांकि कई पोलिंग बूथों पर थर्मल स्क्रीनिंग करने वाली टीम के पास सैनिटाइजर नहीं था। पोलिंग बूथों पर  मजिस्ट्रेट  सुरक्षा इंतजामों को चेक करते नजर आए। बता दें कि बरेली में 36703 वोटर हैं।

गोरखपुर मेंं भी मतदान की धीमी रफ्तार

गोरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक चुनाव के लिए मंगलवार को 40164 वोटरों को मतदान करना है। मतदान की रफ्तार यहां भी काफी धीमी है। सुबह दस बजे तक करीब चार फीसदी ही वोट पड़े थे। वोटिंग के लिए 17 जिलों में 198 केंद्र बनाए गए हैं। चुनाव मैदान में 16 प्रत्याशी आमने-सामने हैं। 

 

 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:up mlc election voting on 1st december luck of 199 candidates in 11 seats for mlc elections decided bjp sp strength