ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशपूर्व एमएलसी भाइयों के बेटों पर फिर पुलिस ने कसा शिकंजा, एक और मुकदमे में रिमांड

पूर्व एमएलसी भाइयों के बेटों पर फिर पुलिस ने कसा शिकंजा, एक और मुकदमे में रिमांड

पूर्व एमएलसी महमूद और हाजी इकबाल के बेटों पर पुलिस ने एक और मामले में शिकंजा कस दिया है। हाल ही में दर्ज किए मुकदमे में सभी का रिमांड जारी किया है।

पूर्व एमएलसी भाइयों के बेटों पर फिर पुलिस ने कसा शिकंजा, एक और मुकदमे में रिमांड
Dinesh Rathourसंवाददाता,सहारनपुरThu, 29 Sep 2022 10:03 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पूर्व एमएलसी महमूद और हाजी इकबाल के बेटों पर पुलिस ने एक और मामले में शिकंजा कस दिया है। हाल ही में दर्ज किए मुकदमे में सभी का रिमांड जारी किया है। छह अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में रखने के निर्देश दिए हैं। हाल ही में 50 हजार के इनामी बदमाश हाजी इकबाल, उनके भाई पूर्व एमएलसी महमूद अली और हाजी इकबाल के बेटों व सहयोगियों के खिलाफ मिर्जापुर थाने में डकैती, रंगदारी की धराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। उन पर मुकदमे की विवेचना कर रहे विवेचक ने विशेष न्यायधीश एमपी एमएलए कोर्ट में महमूद अली, अफजाल, आलीशान व जावेद के खिलाफ 14 दिन के रिमांड के लिए प्रार्थनापत्र दाखिल किया था। 

रिमांड का विरोध करते हुए बचाव पक्ष के अधिवक्ता ने कहा कि यह मुकदमा फर्जी है और पुलिस ने गलत तरीके से मुकदमा दर्ज किया है। जिस कारण रिमांड के आवेदन को खारिज किया जाए। लेकिन, अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता लोक अभियोजक गुलाब सिंह ने इसका विरोध किया। उन्होंने कहा कि अभियुक्तों के खिलाफ पहले भी कई मुकदमे है और इस मुकदमें में अभी विवेचना की जा रही है। जिस कारण 14 दिन का रिमांड मंजूर किया जाए। दोनों तरफ के अधिवक्ताओं की दलील सुनने के बाद अदालत ने छह अक्टूबर तक रिमांड को मंजूरी दे दी। अब इस मुकदमे में छह अक्टूबर को अगली सुनवाई होगी।

epaper