DA Image
9 अगस्त, 2020|7:54|IST

अगली स्टोरी

गोंडा : मोबाइल सर्विलांस के जरिए पुलिस के हत्थे ऐसे चढ़ा फर्जी शिक्षक 

police teachers trick fake teachers through mobile surveillance

अलीगढ़ मे कार्यरत शिक्षक के नाम, शैक्षिक अभिलेख का अतिक्रमण कर गोंडा के नवाबगंज ब्लॉक मे नौकरी करने वाला फर्जी शिक्षक पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। इंस्पेक्टर असगर अली ने बताया कि शिक्षक को मोबाइल सर्विलांस के जरिए कवर कर लिया गया। मनकापूर बस स्टैंड के पास पुलिस ने उसे तब धर दबोचा कि जब वो भागने के फ़िराक़ मे था। 

अपराध संख्या 880 / 19 धारा 419 420 467 468 471 भारतीय दंड संहिता का से संबंधित अभियुक्त महेंद्र प्रताप चौधरी पुत्र रामसेवक निवासी ग्राम देवरी थाना कोतवाली खलीलाबाद संत कबीर नगर गिरफ्तार हुआ है जो प्राथमिक विद्यालय रहली विकासखंड नवाबगंज जनपद गोंडा में दिनेश शर्मा के नाम से प्रधानाध्यापक के पद पर नियुक्त था जो फर्जी अध्यापक है तथा दिनेश शर्मा के नाम पर नौकरी कर रहा था जब बेसिक शिक्षा विभाग ने मुकदमा पंजीकृत कराया विवेचक अफसर परवेज निरीक्षक राम आशीष मौर्य उप निरीक्षक तथा चंदन कुमार के द्वारा गिरफ्तारी की गई यह सारी कार्रवाई प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर के दिशा निर्देश के अनुक्रम में हुई है।

संबंधित आरोपी महेंद्र प्रताप चौधरी पुत्र रामसेवक निवासी ग्राम देवरी थाना कोतवाली खलीलाबाद संत कबीर नगर गिरफ्तार हुआ है जो प्राथमिक विद्यालय रहली विकासखंड नवाबगंज जनपद गोंडा में दिनेश शर्मा के नाम से प्रधानाध्यापक के पद पर नियुक्त था जो फर्जी अध्यापक है तथा दिनेश शर्मा के नाम पर नौकरी कर रहा था जब बेसिक शिक्षा विभाग ने मुकदमा पंजीकृत कराया विवेचक अफसर परवेज निरीक्षक राम आशीष मौर्य उप निरीक्षक तथा चंदन कुमार के द्वारा गिरफ्तारी की गई यह सारी कार्रवाई प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर के दिशा निर्देश के अनुक्रम में हुई है

ये था मामला

दिनेश शर्मा श्री हरिप्रसाद शर्मा निवासी चींटी थाना पिसावा जनपद अलीगढ़ मूल वाह सही अध्यापक है इसी के नाम पर आरोपी दिनेश शर्मा पुत्र हरिप्रसाद शर्मा निवासी चौक बाजार जनपद मुरादाबाद के नाम पर नौकरी कर रहा था महेंद्र प्रताप नाम का व्यक्ति को जरिए कॉल डिटेल प्रकाश में लाया गया है

राजस्व को चूना लगाने वाले की गिरफ्तारी का पहला केस 

वेतन के रूप में सरकारी राजस्व को चूना लगाकर फरार होने वाले पहले शिक्षक को गिरफतार किया गया है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ इंद्र जीत प्रजापति ने कहा कि सभी फर्जी 48 शिक्षकों के विरुद्ध केस दर्ज़ कराया जा रहा है ताकि पुलिस अपना काम कर सके।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:police teachers trick fake teachers through mobile surveillance