ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशफिरोजाबाद बवाल में 117 के खिलाफ मुकदमा दर्ज, दलित कैदी की मौत से नाराज ग्रामीणों ने जमकर किया था हंगामा

फिरोजाबाद बवाल में 117 के खिलाफ मुकदमा दर्ज, दलित कैदी की मौत से नाराज ग्रामीणों ने जमकर किया था हंगामा

फिरोजाबाद में जेल बंद दलित युवक की मौत के बाद शुक्रवार को पुलिस पर पथराव और आगजनी के साथ जमकर तोड़फोड़ हुई। अब इस मामले में पुलिस ने 117 के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

फिरोजाबाद बवाल में 117 के खिलाफ मुकदमा दर्ज, दलित कैदी की मौत से नाराज ग्रामीणों ने जमकर किया था हंगामा
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,फिरोजाबादSat, 22 Jun 2024 08:39 PM
ऐप पर पढ़ें

बाइक चोरी के आरोप में जेल में निरुद्ध बंदी आकाश (28) पुत्र वीरी की शुक्रवार को तबीयत बिगड़ने से जिला अस्पताल में मौत के बाद शहर मे भारी बवाल हुआ था। परिजन और समर्थकों ने सड़क पर उतरकर तोड़फोड़ व आगजनी की थी। इस मामले में शनिवार को पुलिस ने 117 लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर कई लोगों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। 

एसपी सिटी सर्वेश मिश्र ने बताया कि इलाके में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। सीसीटीवी से उपद्रवियों को चिह्नित किया जा रहा है। फुटेज के जरिये अब तक 32 आरोपी पहचाने गए हैं। उन पर नामजद मुकदमा हुआ है। वहीं, 25 अज्ञात पर केस दर्ज किया है। दूसरे मुकदमे में एंबुलेंस चालक ने तोड़फोड़ मारपीट के मामले में 10 नामजद और 50 अज्ञात पर केस दर्ज किया गया है। कुल 117 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। उपद्रवियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

इधर, बवाल के बाद शुक्रवार देर रात आईजी आगरा जोन दीपक कुमार, डीएम रमेश रंजन, एसएसपी सौरभ दीक्षित, एडीएम विशु राजा की मौजूदगी में मृतक आकाश की पत्नी प्रीति को मुख्यमंत्री राहत कोष से पांच लाख की आर्थिक मदद का चेक दिया गया। इसके बाद सुबह करीब सवा छह बजे कड़ी सुरक्षा के बीच शव का अंतिम संस्कार कराया गया। बता दें कि जिला कारागार में निरुद्ध बंदी आकाश की मौत के बाद भीम आर्मी और बसपा नेताओं ने शुक्रवार शाम हिमायूंपुर चौराहे पर शव रखकर जाम लगाया था। उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव किया। पुलिस की बाइक जला दी। तीन बाइकों को क्षतिग्रस्त कर एंबुलेंस में तोड़फोड़ की थी। पुलिस ने हवाई फायरिंग और लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को दौड़ाया था। इस बीच एक श्रमिक के हाथ में गोली लगी थी, जबकि कई पुलिसकर्मियों, सिटी मजिस्ट्रेट, थाना प्रभारी रामगढ़ पथराव में घायल हो गए।

सरकार दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई करे: मायावती

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने फिरोजाबाद की जेल में कैदी आकाश की मौत के मामले में प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने शनिवार को प्रदेश सरकार से दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। बसपा प्रमुख ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म 'एक्‍स' पर पोस्ट में कहा है कि फिरोजाबाद में दलित कैदी की जेल में जिस प्रकार से जान ली गई। यह बेहद दुःखद। सरकार दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे और पीड़ित परिवार की पूरी मदद भी करे। साथ ही घटना के खिलाफ आवाज उठाने वाले निर्दोष लोगों को पुलिस तुरंत रिहा करे। उन पर दायर मुकदमे भी वापिस ले। 

आकाश की मौत की पूरी जांच हो: रामजी लाल सुमन 

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद रामजी लाल सुमन ने शनिवार नगला पचिया स्थित आकाश के घर पहुंचे और उसकी मौत का कारण जाना। इसके बाद उन्होंने शासन से दोषियों पर कार्रवाई की मांग करते हुए पूरे मामले की गहनता से जांच के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि परिवार नर्धिन है, ऐसे में प्रदेश सरकार पूरी तरह से आर्थिक मदद करे। राज्यसभा सांसद रामजी लाल सुमन ने कहा कि वह आकाश की मौत के मामले में वास्तविकता जानने के लिए आए हैं। परिवार से बातचीत में पता चला कि 17 जून को आकाश को पुलिस ने पकड़ा था। 18 तक हिरासत में रखा और 19 जून को उसका बाइक चोरी में चालान कर दिया। 20 जून को परिवार को सूचना मिली कि तबियत खराब है और 21 जून को उसकी मौत हो गई।

Advertisement