अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाणसागर परियोजना से यूपी-बिहार और मध्य प्रदेश को मिलेगा लाभ

bansagar canal project

चार दशक पहले सोन नदी पर शुरू हुई महत्वाकांक्षी बाणसागर परियोजना का लाभ यूपी के साथ मध्य प्रदेश और  बिहार को मिलेगा। यह एशिया की सबसे बड़ी परियोजना है। इस परियोजना से खास तौर पर यूपी के पूर्वांचल क्षेत्र में सिंचाई की समस्या का समाधान होगा। 171. 84  किलोमीटर लंबी परियोजना 34 20 करोड़ की लागत से तैयार की गई है।

उत्तर प्रदेश के सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने बताया कि बाणसागर परियोजना 1997- 98 से प्रस्तावित थी। पूर्ववर्ती सरकारों ने इसके लिए बजट नहीं दिया। इस वजह से परियोजना अटकी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके लिए बजट स्वीकृत किया। 3420 करोड़ की लागत से बाणसागर परियोजना को तैयार किया गया है।

विंध्याचल पर्वत से तैमूर की पहाड़ियों से होते हुए सोन नदी से परियोजना को लाया गया है। मध्य प्रदेश में 71 किलोमीटर उत्तर प्रदेश में 100 किलोमीटर लंबी परियोजना से मिर्जापुर और इलाहाबाद के 1.70 लाख किसान सीधे लाभान्वित होंगे। सिंचाई मंत्री ने दावा किया है कि इस परियोजना के आने से 5.14 मीट्रिक टन का अतिरिक्त उत्पादन होगा। 

सुरंग बनाकर पहाड़ियों से लाई गई परियोजना 

सिंचाई मंत्री ने बताया की परियोजना पहाड़ियों के बीच सुरंग बना कर लाई गई है। इसमें विश्व का सर्वश्रेष्ठ एक्वाडक्ट पाइप इस्तेमाल किया गया है। सोन नदी से इस परियोजनाओं को इलाहाबाद और मिर्जापुर के किसानों के लिए लाया गया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PM Modi will inaugurate bansagar canal project in mirzapur